Home रतलाम अधिकारी पहुंचे स्कूलों में,जॉय फुल लर्निंग के तहत सीईओ जिला पंचायत ने...

अधिकारी पहुंचे स्कूलों में,जॉय फुल लर्निंग के तहत सीईओ जिला पंचायत ने बच्चों को गणित तथा अंग्रेजी का अभ्यास कराया।

रतलाम 05 अप्रैल(खबरबाबा.काम)। नवीन शैक्षणिक सत्र में जिले की शासकीय संस्थाओं में प्रभावी शिक्षण व्यवस्था स्थापित करने की दृष्टि से कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान द्वारा जिला अधिकारियों को स्कूल आवंटित कर शैक्षणिक गतिविधियों का जायजा लेने के निर्देश दिए गए। इसके परिपालन में 05 अप्रैल को विभिन्न जिलाधिकारी अपने आवंटित स्कूलों में पहुंचे,बच्चों से रूबरू हुए, शैक्षणिक गतिविधियों का जायजा लिया, शिक्षा का पाठ पढ़ाया। इस क्रम में सीईओ जिला पंचायत सोमेश मिश्रा 05 अप्रैल को सैलाना तथा भीलो की खेड़ी ग्राम के मिडिल स्कूलों में पहुंचे। श्री मिश्रा ने बच्चों को गणित तथा अंग्रेजी का अभ्यास कराया। शिक्षण उपयोगी सामग्री बच्चों को वितरित की साथ ही सामान्य ज्ञान की जानकारी भी दी। श्री मिश्रा के साथ जनपद पंचायत सैलाना के मुख्य कार्यपालन अधिकारी विजय गुप्ता भी थे।

सीईओ श्री मिश्रा ने बच्चों को गणित समझाते हुए आयत, त्रिभुज, वर्ग इत्यादि बनाना सिखाया। गणित के सरल फार्मूले का ज्ञान कराया। उन्होंने बच्चों को पेंसिल, रबर, कलर बॉक्स, स्केल इत्यादि प्रदान किए तथा अच्छे से पढ़ाई की समझाइश दी।

अलकापूरा चेक पोस्ट का निरीक्षण किया

अपने भ्रमण में सीईओ श्री मिश्रा ने राजस्थान के बांसवाड़ा जिले की सीमा से लगे रतलाम जिले के सैलाना विकासखंड के अलकापूरा चेक पोस्ट का निरीक्षण भी किया। इस दौरान उन्होंने वहां मौजूद पुलिस अधिकारी श्री सचिन डावर से चर्चा करते हुए चेक पोस्ट की गतिविधियों की जानकारी प्राप्ति की। श्री मिश्रा ने लोकसभा निर्वाचन के दृष्टिगत चेक पोस्ट पर असामाजिक तत्वों, बदमाशों की आवाजाही पर नजर रखने, शराब के आवागमन पर नजर रखने तथा अन्य आपराधिक गतिविधियों पर निगाह रखने के सख्ती से निर्देश दिए।

बगैर रॉयल्टी का ट्रक पकड़ा

सैलाना विकासखंड के बेड़दा क्षेत्र में भ्रमण के दौरान सीईओ श्री सोमेश मिश्रा ने मुरम लेकर आ रहे दो डंपर रुकवाने के पश्चात उनके कागजात चेक किए। चेकिंग में पाया कि डंपर क्रमांक एमपी 14 एचसी 0261 में हैंडब्रेक काम नहीं कर रहे थे। दुसरे डंपर क्रमांक एमपी 14सीबी 0380 में बगैर रॉयल्टी चुकाए मुरम लाई गई थी। सीईओ मिश्रा द्वारा बेड़दा चौकी से पुलिसकर्मी को बुलाया जाकर आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए गए। बगैर रॉयल्टी के डंपर पर जुर्माना लगाने तथा बगैर हैंडब्रेक के डंपर को जप्त करने के निर्देश दिए।