Home रतलाम अपनी जान पर खेलकर लूटेरों से भीड़ गए रतलाम के दो...

अपनी जान पर खेलकर लूटेरों से भीड़ गए रतलाम के दो नौजवान, लूट की वारदात को किया विफल, पुलिस ने दोनों बहादुर नौजवानों का किया सम्मान

रतलाम (खबरबाबा.काम)। आज के समय में जहा पड़ोस में हो रहे लड़ाई-झगड़े में भी व्यक्ति बीच में पडऩे से बचता हो, ऐसे में किसी और की मदद के लिए सूनसान हाइवे पर लूटेरों से भीड़ जाना वाकई बहादुरी के साथ-साथ हर नागरिक के लिए एक मिसाल है। बहादुरी की एसी ही मिसाल कायम की है रतलाम के दो नौजवान निलेश पंचोली और रिजवान खान ने, जिन्होने सोमवार शाम को अपनी जान की परवाह किए बगैर लूटेरों से भीड़कर नामली क्षैत्र में हुई लूट की वारदात को विफल कर दिया। मंगलवार को एसपी अमित सिंह, एएसपी प्रदीप शर्मा और राजेश सहाय ने दोनों नौजवानों को प्रशस्ती पत्र भेंटकर सम्मानित किया।
ज्ञातव्य है कि सोमवार को एक फाइनेंस कंपनी में काम करने वाले हेमेन्द्रसिंह पिता प्रदीपसिंह निवासी हाकीमवाड़ा और स्वदेश पंवार जावरा क्षैत्र में कलेक्शन के लिए गए थे। शाम को करीब साढे पांच बजे जावरा से कुल 4 लाख 18 हजार रुपए कलेक्शन करने के बाद दोनों युवक मोटर साइकल पर जावरा से रतलाम लौट रहे थे। नामली की बडौदा पुलिस चौकी के ग्राम मेवासा के पास एक मोटर साइकल पर सवार दो युवक आए और बाइक चला रहे स्वदेश को रोकने को कहा। स्वदेश ने जब बाइक नहीं रोकी तो बदमाशों ने बाइक को लात मारी, जिससे बाइक का संतुलन बिगड़ा और संतुलन बनाने के लिए स्वदेश ने बाइक की गति धिमी की। इसी दौरान एक और बाइक पर दो और बदमाश आए और बाइक के आगे वाहन खड़ा कर दिया। बदमाशों ने बाइक के पीछे बैठे व्यक्ति से रुपयों से भरा बैग छिनने का प्रयास किया, बैग नहीं देने पर बदमाशों ने गोली मारने की धमकी दी और रुपयों का बैग छिन लिया। इस दौरान हेमेन्द्र और स्वदेश ने मदद के लिए शोर भी मचाया।
पलट कर आए और बदमाशों से भीड़ गए
इसी दौरान रतलाम के रहने वाले दो नौजवान दोस्त रिजवान पिता अब्दुल रजाक 32 वर्ष और निलेश पिता अशोक पंचोली बाइक पर उधर से निकल रहे थे। दोनों युवक जो थोड़ा आगे बड़ गए थे, मदद की आवाज सुनकर पलटे और लूट का शिकार युवकों की मदद के लिए पहुंचे। रिजवान ने बताया कि उन्हे देखकर बदमाशों ने कट्टा निकालने की बात कहीं, तभी रिजवान ने बदमाशों को डराने के लिए कहा कि वह पुलिस में है और बदमाशों को पकडऩे की कोशीश की। लूटेरे नौजवानों की हिम्मत देखकर भागने लगे। बदमाश अपनी एक मोटर साइकल और लूटा गया बैग भी वहीं छोड़कर भाग गए। बाद में दोनों नौजवानों ने आरोपियों की मोटर साइकल पुलिस को सौंपी। इधर सूचना मिलने पर एएसपी राजेश सहाय और नामली पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी और आरोपियों की सर्चिंग शुरु की।
दोनों नौजवानों का पुलिस ने किया सम्मान
नामली में लूट की वारदात को विफल करने वाले दोनों नौजवान रिजवान और निलेश का मंगलवार दोपहर को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में सम्मान किया गया। एसपी अमित सिंह,एएसपी प्रदीप शर्मा, डा. राजेश सहाय ने प्रशस्ति पत्र देकर दोनों नौजवानों का सम्मान किया। एसपी अमित सिंह ने इस मौके पर दोनों नौजवानों को 26 जनवरी के मौके भी सम्मानित करने की बात कही और आम नागरिक से इसी तरह पुलिस का सहयोग करने की अपील भी की।
बाक्स
पुलिस को मिले सुराग, जल्द होगा पर्दाफाश

नामली में हुई लूट और पूर्व में फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियों के साथ हुई लूट के मामले में एसपी अमित सिंह ने कहा कि पुलिस को इस मामले में अहम सुराग हाथ लगे है और जल्द ही पुलिस लूट के मामले का पर्दाफाश कर देगी।