Home रतलाम आचार संहिता के दौरान 50 हजार से अधिक की नगदी लेकर...

आचार संहिता के दौरान 50 हजार से अधिक की नगदी लेकर निकले तो रखें इन बातों का ध्यान, आचार संहिता लगते जिले की सीमाएं सील, मैदान में प्रशासनिक अमला, निकाला फ्लैग मार्च , रतलाम कलेक्टर और एसपी ने ली प्रेस वार्ता,आचार संहिता के दौरान की जाने वाली कार्यवाही और निर्वाचन संबंधी जानकारी से कराया अवगत

रतलाम,10मार्च(खबरबाबा.काम)।लोकसभा चुनाव का  बिगुल बजते ही प्रशासनिक तंत्र  एक्टिव हो गया है। जिले की सीमा सील हो गई है। प्रशासनिक अमला भी निष्पक्ष और निर्भीक चुनाव कराने के लिए मैदान में आ गया है। रतलाम की पांच विधानसभा तीन संसदीय क्षेत्रों में है। आचार संहिता लगते ही सुरक्षा की दृष्टि से राजस्थान सीमा से सटे तीन जिले की सीमा पर 14 चेक पोस्ट शुरू करने के साथ ही मध्य प्रदेश के रतलाम से सटे पास के जिले की सीमा पर 26 चेक पोस्ट शुरू किए है। बिना दस्तावेज 50 हजार रुपए से अधिक नकदी ले जाने पर परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

रविवार शाम को चुनाव आयोग द्वारा लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान के बाद आचार संहिता प्रभावशील होते ही चुनाव के संबंध में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती रुचिका चौहान एवं एसपी गौरव तिवारी ने रविवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में पत्रकारों से चर्चा की। इसमें चुनाव से जुड़ी समस्त जानकारी दी। प्रेस से चर्चा के बाद अधिकारियों की बैठक हुई और उसके बाद शहर में पुलिस ने फ्लैग मार्च निकाला, जो नवीन कलेक्ट्रेट से शुरू होकर पूरे शहर में घूमा। इस दौरान पुलिस की गाडि़यों को देख हर कोई चौक गया।

नाम जोड़ने की चलेगी प्रक्रिया

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने बताया कि हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव की तरह इस बार भी छूटे हुए मतदाताओं के नाम जोडऩे की प्रक्रिया लगातार जारी रहेगी। वहीं स्वीप की गतिविधियां आयोजित कर मतदान के प्रति लोगों को जागरूक किया जाएगा। सेल्फी बूथ, पिंक बूथ के साथ ही दिव्यांगो के लिए विशेष सुविधा रहेगी।

आचार संहिता लगते ही  हटाए बैनर पोस्टर

सड़क किनारे लगे राजनीतिक पार्टी से जुड़े लोगों के झंडे, बैनर, पोस्टर हटाने का काम भी शुरू कर दिया है। 48 घंटे के भीतर हर जगह से इन्हे हटा दिया जाएगा। यदि कोई व्यक्ति अपने निजी भवन पर किसी पार्टी को बैनर, पोस्टर लगाता है, तो संबंधित को अनुमति लेना होगी।

सीसीटीवी से रहेगी नजर

एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि संवेदनशील केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे से नजर रखी जाएगी। इसके अतिरिक्त यहां पर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स भी तैनात रहेगा। जिले में पांच हजार पुलिसकर्मियों के बल की जरुरत है। इसमें सीआरपीएफ, एसएफ, पैरा मिलिट्री की 11 कंपनियां आएगी। जिला पुलिस व होमगार्ड के 1200 जवान तैनात रहेंगे।

वारंटियों की धरपकड़ शुरू

जिले में अपराध कर फरार चल रहे बदमाशों की धरकपड़ की जा रही है। करीब 1500 स्थाई वारंट भी तामिल कराए जा चुके है। जमानत पर छूटकर फरारी काट रहे बदमाशों की तलाश में टीम लगातार दबिश दे रही है। लाइसेंसी शस्त्र जमा कराने की प्रक्रिया पूर्व से चल रही है, जिनके हथियार जमा नहीं हुए है, उनके तीन दिन में हथियार जमा करा लिए जाएंगे।

पचास  हजार से ज्यादा की नगदी रखने पर यह रखनी होगी सावधानी

कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने बताया कि आचार संहिता के दौरान फ्लाइंग स्क्वाड,एफएसटी,एसएसटी का भी गठन कर दिया गया है। कोई भी व्यक्ति पचास हजार से अधिक की नकदी लेकर घूमता पाया जाएगा तो जांच में पकड़े जाने पर उसे हिसाब देना होगा। हिसाब नहीं देने पर राशि  जप्त कर विधि अनुसार आगे कार्रवाई की जाएगी। परेशानी से बचने के लिए रुपए लेकर चलने वाले लोगों को रिकॉर्ड साथ रखना होगा, नहीं तो परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

ध्वनि विस्तारक यंत्र पर बैन

रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउड स्पीकर नहीं बजाए जा सकेंगे। राजनीतिक दलों से जुड़े लोगों के साथ सामान्य जन को भी इनके उपयोग के लिए अनुमति लेना होगी। धार्मिक स्थल पर किसी भी पार्टी या प्रत्याशी के बैनर-पोस्टर व उनके माध्यम से उनका प्रचार-प्रसार या चुनाव संबंधी बाते भी नहीं की जा सकेगी।

संवेदनशील मतदान केंद्र बढे

एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि जिले में 1292 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिनमें से 293 संवेदनशील माने गए हैं। संवेदनशील केंद्रों पर सीसीटीवी, माइक्रो ओब्सरवर सहित पैरमिमिट्री बल भी तैनात किया जाएगा। इसके साथ ही 3 दिनों के अंदर सभी लोगों को अपने लायसेंसी हथियार जमा करवाने होंगे। उन्होंने बताया कि जिले में करीब 5 हजार बल की जरूरत है जिसमें से कुछ उपलब्ध हैं, लेकिन अन्य कंपनियां मांगी गई हैं।  उन्होंने बताया कि 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान जिले में 117 संवेदनशील केंद्र थे, लेकिन अब 293 हैं। 11 ऐसे इलाके चिन्हित किए गए जहां चुनाव को गलत तरीकों से प्रभावित किया जा सकता है, ऐसे इलाकों में पुलिस और प्रशासन विशेष सतर्कता रखेगा। कलेक्टर ने इस दौरान बताया कि कोई भी व्यक्ति जिले के लिए कंट्रोल रूम पर 07412-270487 या मोबाइल नंबर 8989254487 पर किसी भी समय सूचना दे सकता है।