Home रतलाम एडीएम ने बस मालिकों की बैठक में दी यात्रियों से व्यवहार...

एडीएम ने बस मालिकों की बैठक में दी यात्रियों से व्यवहार सुधारने की हिदायत, चेतावनी देते हुए कहा ,एक से अधिक बार शिकायत आई तो अपना परमिट निरस्त समझना

रतलाम 4 सितम्बर(खबरबाबा.काम)। आगामी विधानसभा निर्वाचन के मद्देनजर अपर कलेक्टर जितेन्द्रसिंह चौहान ने आज जिले के बस मालिकों की बैठक लेकर आवश्यक निर्देश दिए। अपर कलेक्टर ने बसों की फिटनेस, ड्राईवरों,कंडक्टरों के नाम, मोबाईल नंबर उपलब्ध कराने,वोटर आईडी उपलब्ध कराने तथा फिजिकल फिटनेस के संबंध में निर्देशित किया। बैठक में एडीएम ने बस मालिकों को यात्रियों से व्यवहार सुधारने की हिदायत देते हुए कार्रवाई की चेतावनी भी दी ।

बैठक में उपजिला निर्वाचन अधिकारी प्रवीण फुलपगारे तथा जिला परिवहन अधिकारी सुश्री रंजना कुशवाहा भी उपस्थित थे।

अपर कलेक्टर श्री चौहान ने बस मालिकों को स्पष्ट निर्देशित किया कि बस ड्राईवरों,कंडक्टरों की सूची समय-सीमा में उपलब्ध करवाए। सूची में उनके मोबाईल सम्पर्क अनिवार्य रूप से बताए जाएं। वोटर आईडी होना चाहिए ताकि पोस्टल बेलेट जारी किए जा सके। ड्राईवरों की आंखों की जांच करवाकर रिपोर्ट जानकारी के साथ देवे। उन पर कोई अपराधिक प्रकरण नहीं हो।

बस मालिकों ने व्यवहार नहीं सुधारा तो होगी कार्यवाही

बैठक में जिला परिवहन अधिकारी ने बताया कि जिले में चलने वाली कई बसों के बारे में शिकायत आ रही है कि वे लंबी  दूरी के यात्रियों को ही बस में बैठने के लिए सीट देते है। कम दूरी वालों को खड़ा रखकर ले जाते है। उस स्थिति में जबकि वह यात्री पहले से बैठा होता है तब भी उसे रास्ते में खड़ा कर देते हैं। खासतौर पर रतलाम से नीमच-मंदसौर की ओर जाने वाली बसों के बारे में शिकायत मिली है कि जावरा जाने वाले यात्री को सीट नहीं दी जाती है। अपर कलेक्टर श्री चौहान ने बस मालिकों को चेतावनी दी कि उनका व्यवहार नहीं सुधरा तो प्रशासन से भी सहयोग की अपेक्षा नहीं करे, यात्रियों के साथ कोई भी दुर्व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ऐसी स्थिति में बसों के परमिट निरस्त कर दिए जाएंगे। आरटीओ ने बताया कि दिव्यांगों द्वारा भी ऐसी ही शिकायत दी गई है कि उन्हें सीट नहीं दी जाती है। यदि एक से अधिक बार शिकायत मिली तो बस मालिक अपना परमिट निरस्त समझे।