Home रतलाम एमसीएच में अव्यवस्थाओं पर नाराज हुए एनआरएचएम के एमडी,टीम के साथ गुरुवार...

एमसीएच में अव्यवस्थाओं पर नाराज हुए एनआरएचएम के एमडी,टीम के साथ गुरुवार को किया निरीक्षण, सुधार के दिए निर्देश

रतलाम,3मई(खबरबाबा.काम)। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ मिशन (एनआरएचएम)के संचालक एस. विश्वनाथन  टीम के साथ गुरुवार को रतलाम पंहुचे जहां उन्होंने शहर में संचालित हो रहे नवीन एमसीएच भवन (मातृ एवं शिशु उपचार केन्द्र) का निरीक्षण किया। इस दौरान यहां कई खामियां मिली, जिस पर उन्होंने  नाराजगी जताते हुए व्यवस्थाओं में सुधार के निर्देश दिए।

एनआरएचएम के एमडी एस.विश्वनाथ गुरुवार सुबह टीम के साथ रतलाम पंहुचे। उन्होंने एमसीएच केंद्र पहुंचकर वहां का निरीक्षण किया। इस दौरान एमसीएच भवन में पर्याप्त बेड पर नहीं होने पर नाराजगी जताई और वहीं मौजूद सिविल सर्जन डॉ. आनंद चंदेलकर से पर्याप्त बिस्तर एमसीएच में लगाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही अस्पताल में सफाई व्यवस्था को लेकर भी उन्होने निर्देश दिए। श्री विश्वनाथ ने इस बात को लेकर भी सवाल किया कि एमसीएच की मूल भावना माता और नवजात बच्चों को एक स्थान पर रखकर उपचार देना है, जबकि अभी तक एसएनसीयू (शिशु गहन चिकित्सा ईकाई ) यहां शिफ्ट नहीं की गई है। ऐसे में गर्भवती माताएं एमसीएच में भर्ती हो रही है, जबकि नवजात बच्चों को बीमारी होने पर जिला अस्पताल परिसर स्थित एसएनसीयू में भर्ती किया जाता है। इन्हें दूध पिलाने, देखरेख के लिए हर बार परिजनों को बीमार स्थिति में भी माता या बच्चों को एक दूसरे के पास ले जाना पड़ रहा है जिससे उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। श्री विश्वनाथ ने तत्काल एसएनसीयू भी एमसीएच भवन में शिफ्ट करने के निर्देश दिए। इस पर डॉ चंदेलकर ने उन्हें बताया कि फिलहाल एमसीएच भवन में सेंट्रलाईज ऑक्सीजन सिस्टम सहित कुछ अन्य काम बाकी हैं जिनके कारण बच्चों को यहां भर्ती नहीं कर पा रहे हैं। बहुत जल्द ही शिफ्ट करने के लिए तमाम तकनीकी परेशानियों को खत्म करके भर्ती करने का काम शुरु किया जाएगा। सैन्ट्रल आक्सीजन सिस्टम नहीं लगने पर भी श्री विश्वनाथन ने नाराजगी जताई, उन्हे बताया गया कि इसके लिए डेढ माह पूर्व ही टेंडर हो चुके है और 15 दिन में यह कार्य होना था, लेकिन अभी तक काम ही शुरु नहीं हो पाया है। एमडी श्री विश्वनाथन ने यहां मरीजों से भी चर्चा कर उनकी परेशानिया जानी। इस दौरान साथ मौजूद टीम ने भी कई तकनीकी पहलुओं पर चिकित्सकों और स्टाफ से जानकारी लेकर नोट किया। मीडिया से चर्चा के दौरान श्री विश्वनाथ ने कहा कि अक्टूबर तक एमसीएच भवन को सर्व सुविधा युक्त कर लिया जाएगा। फिलहाल कुछ खामियां मिली थी जिन्हें दूर करने के लिए निर्देश दिए गए हैं।