Home रतलाम कमिश्नर ने आरबीसी 6-4 के प्रकरणों में प्राथमिकता से हितग्राहियों को राहत...

कमिश्नर ने आरबीसी 6-4 के प्रकरणों में प्राथमिकता से हितग्राहियों को राहत राशि मुहैया कराने के दिये निर्देश

रतलाम,5 सितम्बर 2019/ उज्जैन संभाग कमिश्नर श्री अजीत कुमार ने आज संभागीय वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर्स को निर्देश दिये कि वे गत वर्ष एवं दूषित खाद्य पदार्थों के विरूद्ध हुई कार्यवाही के प्रकरणों की जांच में तेजी लायें एवं अमानक पाये गये प्रकरणों में प्राथमिकता से पैनाल्टी लगाने की कार्यवाही करें। जिन प्रकरणों में सजा का प्रावधान है, उन प्रकरणों में सम्बन्धित के विरूद्ध कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।

कमिश्नर ने कहा कि स्वयं मुख्य सचिव इसकी निरन्तर मॉनीटरिंग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सभी कलेक्टर्स समय-सीमा की बैठक में पुराने एवं नये प्रकरणों में अब तक हुई कार्यवाही की समीक्षा करें। कमिश्नर ने सभी कलेक्टर्स को निर्देश दिये कि वे अपने-अपने जिले में सोयाबीन में हुए नुकसानी का आंकलन करके उन्हें वर्तमान स्थिति से अवगत करायें। कमिश्नर ने आरसीएमएस के प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होंने लम्बित दो वर्ष से पांच वर्ष तक के राजस्व प्रकरणों में तेजी से कार्य करने एवं प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश दिये। कमिश्नर ने निर्देश दिये कि धारा 178 के प्रकरणों को छोड़कर प्रत्येक धारा के प्रकरण में जिला स्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित की जा सकती है।

कमिश्नर श्री अजीत कुमार ने सभी कलेक्टर्स को निर्देश दिये कि वे अपने अधीनस्थ एसडीएम, तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार को निर्देशित करें कि वे नियमित रूप से अपनी कोर्ट में बैठकर राजस्व प्रकरणों का निराकरण करें। उन्होंने कहा कि हर राजस्व अधिकारी का दो वर्ष पुराना राजस्व प्रकरण निकलवाकर उसकी समीक्षा कलेक्टर करें। कलेक्टर आरसीएमएस के पुराने प्रकरण, धारा-110, 248, 250, 131 के प्रकरणों की प्राथमिकता से समीक्षा कर उसका निराकरण सुनिश्चित करें।

          कमिश्नर ने सभी कलेक्टर्स को निर्देशित किया कि आरबीसी 6-4 के प्रकरण प्राथमिकता से निराकृत करें। आरबीसी 6-4 में पशुधन हानि एवं आकस्मिक मृत्यु के प्रकरणों को प्राथमिकता से देखते हुए नुकसान का आंकलन कर हितग्राहियों को राहत राशि देना सुनिश्चित करें। कलेक्टर्स अपनी समय-सीमा की बैठक में भी आरबीसी 6-4 के प्रकरणों की नियमित समीक्षा करें। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान रतलाम एनआईसी कक्ष में कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान, सीईओ जिप. श्री संदीप केरकट्टा, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े सहित सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद थे।