Home मध्यप्रदेश कलेक्टर को लेकर प्रदेश सरकार उठाने जा रही है यह कदम, इस...

कलेक्टर को लेकर प्रदेश सरकार उठाने जा रही है यह कदम, इस बदलाव के बाद नहीं रहेंगे ‘कलेक्टर’

भोपाल,10फरवरी2020। कमलनाथ सरकार ने कलेक्टर का पदनाम बदलने की तैयारी कर दी है। इसके तहत कलेक्टर का नाम बदलकर जिला प्रशासक रखा जा सकता है। हालांकि इस पर अभी सरकार और भी सुझाव लेगी, उसमें जो नाम सही लगेगा उसे रखा जा सकता है।

सीएम कमलनाथ का मानना है कि कलेक्टर नाम अंग्रेजों का दिया हुआ है। उस समय अंग्रेजों के लिए जो राजस्व कलेक्ट करने का काम करते थे, उन्हें कलेक्टर कहा जाता था।

बाद में यह नाम चलन में आ गया। अब इस पदधारक का काम अलग है। इसलिए यह नाम सही नहीं है। इसलिए इसे बदला जाएगा। सरकार सभी की सहमति लेकर कलेक्टर का नया नाम तय करेगी।

दिसंबर 2018 में किया था एलान-

प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिसंबर 2018 में सबसे पहले कलेक्टर का नाम बदलने का एलान किया था। उस समय सीएम कमलनाथ ने कहा था कि अंग्रेजों के समय के इस नाम को बदलकर जिला प्रशासक यानी डिस्टिक एडमिनिस्टर किया जा सकता है। इसलिए संभावना है कि सरकार नया नाम जिला प्रशासक कर सकती है, क्योंकि व्यवहारिक रूप से कलेक्टर जिले के प्रशासन का मुखिया होता है।

समिति की बैठक आज

नाम बदलने के लिए प्रदेश सरकार ने अपर मुख्य सचिव आईपीसी केसरी की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय कमेटी भी बनाई है। जिसकी पहली बैठक आज सोमवार को होगी। नया नाम क्या हो, कमेटी आपस में राय मशवरा करने के साथ ही अन्य लोगों की राय भी इस संबंध में लेगी ।