Home देश कल ग्रामीण बैंक के कर्मचारी देशव्यापी हड़ताल पर , मांगो के लिए...

कल ग्रामीण बैंक के कर्मचारी देशव्यापी हड़ताल पर , मांगो के लिए देगें ज्ञापन,21 हजार शाखाओ में रहेगा काम बंद

रतलाम,26सितम्बर2021। आल इंडिया रीजनल रूरल बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन के आह्वान पर विभिन्न मांगों को लेकर आगामी 27 सितंबर को ग्रामीण बैंक अधिकारी व कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे।

 

देश भर में कार्यरत सभी 43 ग्रामीण बैंको की 21000 से अधिक शाखाओं के नब्बे हजार से अधिक कर्मचारी व अधिकारी दिनॉक 27 सितम्बर 2021 को एक दिवसीय सांकेतिक हडताल करेगें। यह हडताल मुख्य रूप से भारत सरकार द्वारा ग्रामीण बैंकों के अपने हिस्से केयर प्रायोजक बैंकों को हस्तान्तरित करने के इरादो के विरोध में तथा ग्रामीण बैंकों में का आपस में विलय कर भारतीय राष्ट्रीय ग्रामीण बैंक बनाने सहित अन्य मॉगों के लिये की जावेगी। देश भर में सभी हडताली कर्मचारी ग्रामीण बैंकों के प्रधान कार्यालय एवं क्षेत्रीय कार्यालय पर एकत्रित होकर आपनी माँगो के सम्बन्ध में वित्तमंत्री भारत सरकार को सम्बोधित ज्ञापन ग्रामीण बैंकों के अध्यक्ष एवं क्षेत्रीय प्रबंधकों को सौंपेगे।

आल इण्डिया रीजनल रूरल बैंक एम्पलाईज एसोशिएशन” के प्रान्तीय सचिव के के गौर एवं अजय तिवारी ने बताया कि हमारे द्वारा माँगो के निराकरण हेतु लम्बे अन्तराल से पत्राचार कर निवेदन किया जाता रहा है। धरना आन्दोलन भी किया गया, लेकिन भारत सरकार ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। इस कारण मॉॉगों के निराकरण हेतु हड़ताल करना अपरिहार्य हो गया है

ये है बैंक कर्मियों की प्रमुख मांगें
-11वें बैंकिंग वेतन समझौते के समस्त लाभों के आदेश को समानता के तय सिद्धांत के तहत शीघ्र जारी किया जाए।

-बैंकिंग पेंशन अधिनियम को ग्रामीण बैंकों में भी वर्ष 1993 से प्रभावी किया जाएं और 31 मार्च 2018 तक ग्रामीण बैंक में सेवा में जाइन कर चुके स्टाफ को भी योजना में कवर किया जाए।

-भारत सरकार द्वारा ग्रामीण बैंक से अपनी 50 फीसदी हिस्सेदारी को बेचने की नीतियां रद्द की जाए।

-मानव शक्ति योजना का पुनर्निधारण करते हुए समुचित नयी भर्ती की जाए।
-अस्थाई रूप से कार्यालय सहायक पद पर सेवारत समस्त संदेश वाहकों का नियमितीकरण किया जाए।