Home रतलाम कस्तुरबा नगर मेन रोड पर बिजली लाइन से टकराया ट्रक, फाल्ट से...

कस्तुरबा नगर मेन रोड पर बिजली लाइन से टकराया ट्रक, फाल्ट से इलेक्ट्रीक उपकरणों में हुआ नुकसान, व्यापारियों ने जताया आक्रोश-प्रतिबंध के बावजूद क्षैत्र में बेखौफ भारी वाहनों का हो रहा आवागमन

रतलाम, 16 अप्रैल(खबरबाबा.काम)। कस्तुरबा नगर मेन रोड पर मंगलवार सुबह एक ट्रक बिजली तारों से टकरा गया, जिससे फाल्ट होने से बिजली बंद हो गई और चालु इलेक्ट्रीक उपकरणों से धुआं निकलने लगा। सूचना मिलने पर बिजली विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और फाल्ट को सुधारने का काम शुरु किया। इधर व्यापारियों ने क्षैत्र में भारी वाहनों के आवागमन को लेकर आक्रोश भी जताया।

जानकारी के अनुसार मंगलवार सुबह करीब सवा 11 बजे  80 फीट रोड से कस्तुरबा नगर मेन रोड पर आने के दौरान उपर तक सामान से भरा एक ट्रक बिजली के तारों को छु गया, जिससे बिजली के तारों का आपस में संपर्क हो गया और फाल्ट होने से बिजली चली गई। बिजली के तारों के आपस में संपर्क से हुए फाल्ट के कारण क्षैत्र की कई दुकानों में चल रहे बिजली के उपकरणों से धुआं निकलने लगा। इसके बाद व्यापारियों ने ट्रक को खड़ा करवा दिया और बिजली विभाग को सूचना दी।   यातायात डीएसपी  ने  दिया यह जवाब घटना के बाद ओव्हर लोडेड ट्रक के कारण हुई दुर्घटना को देखते हुए  क्षैत्र के व्यापारी ब्रजेश उपाध्याय ने डीएसपी यातायात को भी फोन किया, लेकिन उन्होने  जवाब दिया कि वे छुट्टी पर है। इसके बाद व्यापारी पुलिस को बुलाने के लिए फोन करते रहे। बाद में एक जवान मौके पर पहुंचा और घटना की जानकारी ली।

प्रतिबंध के बावजूद भारी वाहनों का आवागमन

क्षैत्रिय व्यापारियों का कहना है कि समाचार माध्यमों से उन्हे पता चला था कि क्षैत्र में सुबह 10 बजे से भारी वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित कर दिया गया है, लेकिन इसका कहीं पान होता नहीं नजर आ रहा है। दिनभर मेन रोड से भारी वाहनों का आवागमन होता है। पूर्व में भी क्षैत्र में भारी वाहनों से दुर्घटनाएं हो चुकी है।

किसका क्या हुआ नुकसान

-आयुशी कलेक्शन पर फोटो काफी मशीन से धुंआ उठा और वह बंद हो गई।

-महावीर फोटो कापी पर भी मशीन से धुआं उठा और फालट हुआ।

-राजेश भाटी की दुकान में लगे एलईडी टीवी से धुआं निकला और वह बंद हो गई।

-किशन केमिस्ट के संचालक किशन सोनी का बिजली से चार्ज हो रहा लेपटाप खराब हो गया।

-अन्य कुछ दुकानों पर भी फाल्ट के कारण बिजली उपकरण में नुकसान की सूचना है।