Home देश कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने रतलाम में चुनावी सभा को...

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने रतलाम में चुनावी सभा को किया संबोधित, जानिए क्या कहा

रतलाम,13मई(खबरबाबा.काम)। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने रतलाम में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इंदिरा जी को याद करके ऐसी सरकार चुनिए जो आपकी शक्ति दें। प्रियंका ने अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भी कई प्रहार किए। कांग्रेस महासचिव

प्रियंका गांधी स्थानीय पोलोग्राउंड पर आयोजित सभा में पंहुची थी। सभा के दौरान सैलाना विधायक हर्षविजय गेहलोत नाराजगी के चलते मंच पर मौजूद नहीं थे,जबकि सभी वक्ताओं द्वारा उनका नाम लिया जा रहा था।
श्रीमती गांधी ने करीब तेईस मिनट तक सभा को संबोधित किया। उन्होने कहा कि चुनावी मौसम में सभी दलों के नेता लुभावने वादे करते है,लेकिन मतदाताओं को जागरुक रहना चाहिए ताकि वे समझ सकें कि कौन वादा पूरा करता है और कौन सिर्फ जुमलेबाजी करता है? श्रीमती वाड्रा ने प्रधानमंत्री के तपस्या वाले कथन पर तंज करते हुए कहा कि तपस्या सबसे पहले अहंकार को नष्ट करती है,लेकिन मोदी जी का अहंकार तो बढता ही जा रहा है। वे वाराणसी के सांसद है,लेकिन आज तक वाराणसी के किसी गरीब या किसान से उन्हे मिलने का वक्त नहीं मिला। उनके पास दुनियाभर के राष्ट्राध्यक्षों से मिलने का समय है,लेकिन गरीबों और किसानों की बात सुनने का समय नहीं है। वो कभी ये नहीं बताते कि किसानों की,नौजवानों की महिलाओं की,व्यापारियों की समस्या दूर करने के लिए उन्होने कौनसी तपस्या की है?
श्रीमती प्रियंका ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने जो अच्छे काम आदिवासियों और गरीबों के लिए किए थे,मोदी जी ने उन्हे नष्ट करने का काम किया है। कांग्रेस ने वन अधिकार कानून बनाया था,लेकिन मोदी जी ने उसे समाप्त कर दिया। मोदी जी ने मनरेगा को कमजोर कर दिया। नोटबंदी और जीएसटी से शहरों में रोजगार समाप्त हुए। जब गांव के लोग रोजगार की तलाश में शहर छोडकर गांवों में गए तो मोदी जी ने मनरेगा को कमजोर कर दिया। मोदी जी की सरकार में किसानो,नौजवानों,महिलाओं को अपनी बात कहने का अधिकार नहीं है। मोदी जी की सरकार में पांच करोड रोजगार घटे है।
प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए प्रियंका ने कहा कि वो कहते है कि सुरक्षा करेंगे,लेकिन अगर वे राष्ट्रवादी और तपस्वी है तो देश के किसानो,नौजवानों और बहनों को सुरक्षित क्यों नहीं करते। मोदी जी की उज्जवला योजना पर कहा कि जिन्हे गैस का कनेक्शन और एक टंकी मिली,उन्हे दूसरी टंकी महंगे दामों में खरीदना पडती है। मोदी जी के राज में पुराने सपने तो टूट गए,अब ये नए सपनेें दिखा रहे हैं। प्रिंयका ने भाजपा की किसान सम्मान योजना को किसान अपमान योजना बताया और कहा कि एक व्यक्ति को प्रतिदिन केवल दो रुपए देना उसका अपमान नहीं तो और क्या है?
कांग्रेस के घोषनापत्र का जिक्र करते हुए प्रिंयका ने कहा कि कांग्रेस ठोस बातें करती है। अगर कांग्रेस की सरकार आई,तो हरएक गरीब परिवार को साल के बहत्तर हजार रु. दिए जाएंगे,जो कि महिलाओं के खाते में डाले जाएंगे। सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज और बारहवी तक की शिक्षा मुफ्त दी जाएगी। चौबीस लाख सरकारी नौकरियां एक साल के भीतर दी जाएगी। मनरेगा को सौ से बढाकर डेढ सौ दिनों का किया जाएगा। कृषि का बजट अलग से बनाया जाएगा। जीएसटी को सरल बनाया जाएगा।
प्रिंयका ने उपस्थित लोगों को अपनी दादी श्रीमती इन्दिरा गांधी की याद दिलाते हुए वोटों की अपील की। उन्होने कहा कि ये चुनाव बेहद महत्वपूर्ण है। अगर आप कांग्रेस को मजबूत बनाएंगे,तो आप खुद को मजबूत बनाएंगे,आप अपने भविष्य को मजबूत बनाएंगे। भाषण समाप्त करने के बाद प्रियंका सुरक्षा के लिए बनाई गई डी को लांघ कर जनता के बीच पंहुची और महिलाओं से मिलने के बाद वापस लौटी।