Home रतलाम किसान आंदोलन: ड्रोन कैमरों से गांवो में रखी जाएगी नजर, रिटायर्ड पुलिसकर्मी...

किसान आंदोलन: ड्रोन कैमरों से गांवो में रखी जाएगी नजर, रिटायर्ड पुलिसकर्मी भी ड्यूटी के लिए आए आगें, सोशल मीडिया पर उकसाने वाली पोस्ट डालने पर दो के खिलाफ प्रकरण दर्ज। डीआईजी और एसपी ने ली अधिकारियो की बैठक। जानिए पुलिस और प्रशासन ने आंदोलन को लेकर किस तरह की कर रखी है तैयारी-

रतलाम, 31 मई(खबरबाबा.काम)। शुक्रवार से शुरु हो रहे किसान आंदोलन को लेकर पुलिस और प्रशासन ने अपनी पुरी तैयारी कर ली है। किसान आंदोलन में कानुन व्यवस्था की स्थिति से निपटने के लिए जहां बाहर से पुलिस बल बुलाया गया है, वहीं रिटायर्ड पुलिस कर्मचारी और अधिकारी भी ड्यूटी के लिए आगे आए है। गांवो में ड्रोन कैमरों से भी निगरानी रखी जा रही है। सोशल मीडिया पर भी पुलिस की पुरी निगाह है। आंदोलन को लेकर उकसाने वाली पोस्ट  डालने पर दो लोगों के  खिलाफ पुलिस ने प्रकरण भी दर्ज किए है।  गुरुवार दोपहर को डीआईजी जितेन्द्र कुशवाह और एसपी अमित सिंह ने किसान आंदोलन को लेकर पुलिस अधिकारियों की बैठक भी ली। इधर दुध की आपूर्ती के लिए प्रशासन ने भी व्यवस्था करना शुरु कर दी है।  सांची दुग्ध संयत्र में दुध और दुध पावडर का स्टाक किया जा रहा है। इधर आंदोलन को देखते हुए लोगों ने भी सब्जी और अन्य वस्तुओं का स्टाक करना शुरु कर दिया है।
                                1 से 10 जून तक संभावित किसान आंदोलन को लेकर पुलिस और प्रशासन पुरी तरह अलर्ट है। खासकर पुलिस विशेष सतर्कता बरत रही है। आंदोलन को लेकर जिले में ढाई सौ से अधिक का बल बाहर से मंगाया गया है। 80 के लगभग पेट्रोलिंग पार्टीयां जिले में लगातार भ्रमण करेगी, इसके लिए वाहनों की भी व्यवस्था की गई है। जिले में 60 के लगभग अस्थाई पुलिस कैंप बनाए गए है। पुलिस बैरियर भी बनाए गए है, जिससे यदि कोई व्यक्ति दूध और सब्जी लेकर शहर आना चाहता है तो उसे पुलिस सुरक्षा भी दी जा सकें।  सुबह साढे पांच बजे पुलिस गांवों में जाकर किसानों से प्रभात संवाद भी करेगी। वहीं आंदोलन के दौरन वाहनों के साथ ही चलित दस्ता भी रहेगा। गुरुवार दोपहर को डीआईजी जितेन्द्र कुशवाह और एसपी अमित सिंह ने कंट्रोल रुम पर पुलिस अधिकारियों की बैठक लेकर आंदोलन को लेकर आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान एएसपी डां. राजेश सहाय, प्रदीप शर्मा, जावरा सीएसपी आशुतोष बागरी, सीएसपी विवेकसिंह चौहान सहित अन्य अधिकारी मौजुद थे।
रिटायर्ड पुलिसकर्मी ड्यूटी के लिए आगे आए
एएसपी प्रदीप शर्मा ने बताया कि आंदोलन के दौरान हर पुलिस थाने में 20 से 30 विशेष पुलिस अधिकारी बनाए गए है, जिसमें रिटायर्ड पुलिसकर्मी और अधिकारी के साथ ही वे लोग शामिल है, जो पुलिस का सहयोग करना चाहते है। रिटायर्ड पुलिसकर्मी आंदोलन के दौरान सादी वर्दी में ही सूचना संकलन का कार्य करेंगे।
ड्रोन से रखी जाएगी निगाह
आंदोलन पर पुरी निगाह रखने के लिए पुलिस ने सभी को बाडी वार्न कैमरे भी दे दिए गए है जो सभी पुलिसकर्मियों और अधिकारियों की वर्दी पर लगे रहेगें, इसके अलावा विडियोग्राफी के लिए विडियों कैमरे भी दिए गए है। गांव के अंदर की गतिविधियों के लिए ड्रोन से पुलिस गांवो में भी निगाह रखेगी।
भड़काने वाली पोस्ट डालने पर दो लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज
पुलिस सोशल मीडिया पर भी पुरी तरह नजर रख रही है। पुलिस ने किसान आंदोलन को लेकर सोशल मीडिया पर भड़़काने वाली पोस्ट डालने पर दो लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार किसान आंदोलन को  लेकर डाली गई पोस्ट के आधार पर स्टेशन रोड पुलिस ने एक व्यक्ति  के खिलाफ धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया है। आरोपी ने वाट्सएप पर किसानों को किसान आंदोलन के लिए उकसाने जैसी पोस्ट डाली थी।  इसी तरह नामली थाना क्षेत्र  अन्तर्गत भी ग्राम बांगरौद निवासी एक व्यक्ति  ने अपने मोबाईल फोन से किसान आंदोलन संबंधित भड़काऊ झूठा विडियो मैसेज किया था। पुलिस ने इस मामले में भी धारा 188 के तहत प्रकरण  दर्ज किया है।
लोगों ने भी स्टाक करना शुरु किया     
किसान आंदोलन को देखते हुए आम जनता में भी उहापोह की स्थिति है। गुरुवार को सब्जी मंडियों में आम दिनों की अपेक्षा ज्यादा भीड़ देखी गई। लोग सब्जी, फल और अन्य वस्तुओं का स्टाक कर रहे है, ताकि आंदोलन के दौरान परेशानी न उठानी पड़े। दुध डेयरियों से भी लोगों ने अतिरिक्त दुध लिया। हालांकि किसान आंदोलन के दौरान वस्तुओं की आपर्ती को लेकर  सिर्फ अंदाजा लगाया जा रहा है। वास्तविकता में शुक्रवार को ही स्थिति का पता चलगी।
दुग्ध उपलब्धता के लिए कंट्रोल रूम स्थापित
प्रस्तावित किसान आंदोलन के दृष्टिगत संपूर्ण स्थिति पर सतत निगरानी एवं दूध एवं दूध पदार्थ की सतत उपलब्धता के लिए दुग्ध संघ मु्यस्रयालय पर कन्ट्रोल रूम स्थापित कर अधिकारियों, कर्मचारियों की तैनाती की गई है। रतलाम डेयरी डाक कन्ट्रोल रूम नम्बर 07412235088 है। यहां वायके वर्मा मोबाइल नम्बर 9425918514 एवं डेयरी डाक सहायक शुभम रावत मोबाईल 7225945086 को प्रात: 8 बजे से सायं 4 बज तक, वर्षा सिंगारे 9993716664 एवं डेयरी डाक सहायक करणसिंह चौहान 9907569051 को सायं 4 बजे से रात 12 बजे तक एवं पीके भट्ट 8989992876 एवं डेयरी डाक सहायक मयंक जैन 9981612016 को रात 12 बजे से सुबह 8 बजे तक का दायित्व सौपा गया है।
आज रतलाम आएगी किसान कलश यात्रा –
किसान आंदोलन को लेकर किसान कांग्रेस द्वारा किसान कलश यात्रा निकाली जा रही है। पूरे प्रदेश में निकलने वाली यात्रा 1 जून को रतलाम आएगी। खास बात यह है कि करीब एक पखवाड़े से प्रदेश के विभिन्न भागों में भ्रमण के बाद किसान आंदोलन के पहले ही दिन रतलाम में आएगी। यात्रा ग्राम धराड़ से सुबह 10 बजे प्रवेश करेगी और वहां से वाहन रैली के रूप में दोपहर 12 बजे शहर पहुंचेगी। महू रोड से वापस मंदसौर के लिए रवाना हो जाएगी।
                            क्या है तैयारी
बाहर से आया बल                          250
अस्थाई पुलिस कैंप                         60
हर थाने में विशेष पुलिस अधिकारी         20-30
पेट्रोलिंग पार्टी                                80
अपर कलेक्टर ने ग्राम तीतरी में जनसंवाद किया
रतलाम । किसान आंदोलन के दृष्टिगत अपर डॉ. कैलाश बुन्देला ने आज जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम तीतरी में जनसंवाद किया। अपर कलेक्टर ने तीतरी में किसानों तथा ग्रामीणजनों से रूबरू चर्चा की। उन्होंने खास तौर पर युवाओं से संवाद करते हुए समझाईश दी कि किसी भी स्थिति में उद्वेलित नहीं हो। किसी के बहकावे में न आए अफवाहों पर ध्यान नहीं देवे।
अपर कलेक्टर डॉ. बुन्देला ने उपस्थित ग्रामीणों से कहा कि कानून हाथ में नहीं लिया जाए। किसान को कोई भी दु:ख या पीड़ा हो तो संवैधानिक तरीके से अपनी बात रखे। सब्जी, दूध विक्रेताओं को प्रशासन द्वारा पूर्ण सुरक्षा दी जाएगी। ग्रामीण आपस में विवाद ही न करे। कोई भी दूध, फल या सब्जी आदि के विक्रेताओं के कार्य बाधा नहीं डाली जाए अन्यथा सख्त कार्यवाही की जाएगी। किसान अपनी समस्या कलेक्टर, एसपी, अपर कलेक्टर, एसडीएम आदि प्रशासनिक अधिकारी को सीधे बता सकते हैं, समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। सोश्यल मीडिया पर चलने वाली अफवाहों पर बिल्कुल ध्यान नहीं दे। कोई भी गलत पोस्ट को लाइक अथवा समर्थन करने पर कार्यवाही की जाएगी। इस प्रकार की पोस्ट को शेयर नहीं करे।