Home मध्यप्रदेश कोरोना: मध्यप्रदेश में अब तक कुल 64 पॉजिटिव मामले, इंदौर को मुख्यमंत्री...

कोरोना: मध्यप्रदेश में अब तक कुल 64 पॉजिटिव मामले, इंदौर को मुख्यमंत्री ने किया टोटल लॉकडाउन, दिया यह संदेश

इंदौर,31मार्च2020/ देश में कोरोना वायरस की वजह से मौंतों का आंकड़ा बढ़ रहा है। मध्यप्रदेश के इंदौर में सोमवार को 49 वर्षीय महिला की मौत भी इसी संक्रमण की वजह से हो गई। इसी के साथ राज्य में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की मौत की संख्या बढ़कर पांच हो गई है।

मध्यप्रदेश का इंदौर शहर राज्य में कोरोना का केंद्र बनता जा रहा है। जिले में मंगलवार को कोरोना से संक्रमित 17 नए मामलों का पता चला है। इसी के साथ सिर्फ इंदौर शहर में कोरोना संक्रमित मामलों की संख्या बढ़कर 44 हो गई है। शहर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर प्रवीण जाडिया ने बताया कि इनके सैंपल दो दिन पहले परीक्षण के लिए भोपाल भेजे गए थे।

इंदौर वासियों के नाम मुख्यमंत्री शिवराज का संदेश
इंदौर में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को इंदौरवासियों को संबोधित किया। अपने संबोधन ने शिवराज ने कहा कि इंदौर दुनिया का अद्भुत शहर है। आपके और मेरे सपनो का शहर, आपकी जागरुकता के कारण इंदौर तीन बार स्वच्छता में देश में पहले नंबर पर आया है।

आज हमारा प्यारा शहर कोरोना संक्रमण से लड़ रहा है। मैं आप सबसे अपील करना चाहता हूं कि कोरोना को हमें हर हालत में हराना है और इसका एकमात्र उपाय है टोटल लॉकडाउन। अपने घरों में रहिए संपर्क की चैन को तोड़ दीजिए, प्रधानमंत्री द्वारा बताए गए लक्ष्मण रेखा का पालन कीजिए। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति प्रशासन घरों में करने का प्रयास कर रहा है।

मैं जानता हूं आप उत्सव प्रेमी है, लेकिन यह समय का तकाजा है। घरों में रहें, डरे बिल्कुल नहीं। कोरोना पॉजिटिव के मामले आए हैं, इसका मतलब यह नहीं कि लोग ठीक नहीं हो रहे हैं। इसलिए डरने की जरूरत नहीं हैं। हम सभी मिलकर इस वायरस से लड़ रहे हैं।

शिवराज ने सख्ती के लिए मांगी माफी
उन्होंने कहा कि हम सख्ती करेंगे, टोटल लॉकडाउन। लड़ाई जीतेंगे, कोरोना हारेगा, इंदौर जीतेगा। बस आप घरों में रहें, प्रशासन का सहयोग करें। समस्या बड़ी है, लेकिन हौसला उससे भी बड़ा है। मैं माफी मांग रहा हूं, सख्ती के लिए। इए कोरोना को मिलकर हराएं, इंदौर जरूर जीतेगा।

इंदौर बना कोरोना का एपीसेंटर
अब तक मिली जानकारी के मुताबिक राज्य में कुल 64 लोग कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आए हैं। इंदौर के सर्वाधिक 44 मरीज शामिल हैं। इनके अलावा, जबलपुर के आठ, उज्जैन के पांच, भोपाल के तीन और शिवपुरी एवं ग्वालियर के दो-दो मरीजों में भी इस संक्रमण की पुष्टि हुई जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज जारी है।

शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि चंदन नगर क्षेत्र में रहने वाली 49 वर्षीय महिला ने मनोरमा राजे टीबी (एमआरटीबी) चिकित्सालय में आखिरी सांस ली। अधिकारी ने बताया कि 23 मार्च को कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई महिला उच्च रक्तचाप और मधुमेह से पहले ही पीड़ित थी।

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के बाद अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ने वाली महिला ने पिछले दिनों कोई यात्रा नहीं की थी। इस महामारी से मरने वालों में तीन मरीज इंदौर के निवासी थे, जबकि दो अन्य लोग पड़ोस के उज्जैन शहर के रहने वाले थे। इंदौर, राज्य में कोरोना वायरस के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित शहर है। कोरोना वायरस संक्रमण के मरीज सामने आने के बाद प्रशासन ने 25 मार्च से शहरी सीमा में लॉकडाउन की जगह कर्फ्यू लागू कर दिया था।

(साभार-अमर उजाला)