Home देश कोरोना: स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया- पिछले 24 घंटे में 328 नए मामले...

कोरोना: स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया- पिछले 24 घंटे में 328 नए मामले सामने आए हैं, 12 लोगों की मौत

नई दिल्ली, 2 अप्रैल2020/कोरोना वायरस की भारत में स्थिति को लेकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन करते हुए बताया कि देश में बुधवार से लेकर आज तक में देश में कोरोना वायरस के 328 नए मामले सामने आए है और 12 लोगों की इस जानलेवा वायरस से मौत हुई है।

मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि लगभग 400 कोरोना पॉजिटिव केस पाए गए, जिनके महामारी संबंधी जुड़ाव का पता तब्लीगी जमात क्लस्टर से लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने राज्यों से आग्रह किया है कि वे कोरोना संकट का समाधान जिला स्तर पर करें।

धारावी में भवन को सील कर दिया गया है
धारावी में कोरोना वायरस का मामला मिलने पर सचिव ने बताया कि उस कॉलोनी में भवन को सील कर दिया गया है और भवन के सभी निवासियों के नमूनों को इकट्ठा करने का कार्य चल रहा है। प्रोटोकॉल के अनुसार, संपर्क ट्रेसिंग चल रही है।

डेढ़ करोड़ सुरक्षा किटों का ऑर्डर दिया गया
दिल्ली के हिंदू राव अस्पताल में सुरक्षा उपकरणों के चलते डॉक्टरों द्वारा दिए जा रहे इस्तीफे पर बोलते हुए स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि हमें डेढ़ करोड़ पीपीई (सुरक्षा किट) के लिए ऑर्डर दिया है और उसकी आपूर्ति शुरू हो गई है। उन्होंने कहा कि घरेलू स्तर पर एन95 मास्क बनाने का काम भी शुरू हो गया है। पीपीई को राज्यों को भी भेजा गया है। साथ ही एक करोड़ एन95 मास्क का भी ऑर्डर दिया गया है।

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि कोरोना का इलाज कर रहे डॉक्टरों के संक्रमित होने के बहुत कम मामले सामने आए है, लेकिन फिर भी यह जरूरी है कि अस्पतालों में भी संक्रामक रोगों से बचने के लिए सुरक्षा उपायों को अपनाया जाएं।

9000 तब्लीगी जमात के लोगों की पहचान की गई
संवाददता सम्मेलन में गृह मंत्रालय की संयुक्त सचित पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने बताया कि गृह मंत्रालय ने 9000 तब्लीगी जमात के लोगों और उनके जानने वालों की पहचान कर उन्हें पृथकता केंद्रों में भेजा है। इन 9000 लोगों में से 1306 लोग विदेशी है और बाकी भारतीय। उन्होंने कहा कि 2000 तब्लीगी जमात सदस्य दिल्ली के है, जिनमें से 1804 को पृथकता केंद्र में भेज दिया गया है और 334 को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

(साभार-अमर उजाला)