Home खेल क्रिकेट बुकियों पर भारी पड़ रहा इस बार आईपीएल, अप्रत्याशित जीत-हार के...

क्रिकेट बुकियों पर भारी पड़ रहा इस बार आईपीएल, अप्रत्याशित जीत-हार के कारण कई बुकी आए आर्थिक संकट में, प्रॉपर्टी निकालने तक की चर्चाएं।

रतलाम,7मई,(खबरबाबा.काम)। इस बार का आईपीएल टूर्नामेंट क्रिकेट बुकी पर भारी पड़ता नजर आ रहा है ।रतलाम सट्टा बाजार में चल रही चर्चाओं की माने तो आईपीएल के इतिहास में यह पहला मौका है, जब क्रिकेट बुकी अब तक के मैचों में बुरी तरह पैसा हार गए हैं। कुछ बुकी के हालत तो इतने अधिक खराब हो चुके हैं कि उन्होंने ब्याज से पैसे लेकर ग्राहकों का हिसाब निपटाना शुरू कर दिया है, जबकि कुछ की तो प्रॉपर्टी निकालने तक की चर्चाएं चल रही है।

आईपीएल टूर्नामेंट को क्रिकेट सटोरियों की दिवाली माना जाता है ,लेकिन इस बार IPL में सटोरियों का दिवाला निकलने की स्थिति आ रही है । क्रिकेट में जो लोग सट्टा लगाते हैं उन्हें सट्टे की भाषा में लगईवाल और जो लोग सट्टा खिलाते हैं उन्हें बुकी कहते हैं। लगईवाल द्वारा मैच के दौरान किसी टीम की जीत-हार के साथी किसी खिलाड़ी के व्यक्तिगत प्रदर्शन पर भी दांव लगाया जाता है ,इसके लिए वह निर्धारित राशि बुकी को देते हैं । मैच बुक करने वाला बुकी मैच पर लगाई गई रकम और मैच में लगाए गए दांव अपने से बड़े बुकी को देता है।यदि दांव लगाने वाला जितना है तो उसे बुकी सीरीज खत्म होने के बाद नगद भुगतान करते हैं ।यदि दांव लगाने वाला हार जाता है तो उसके पैसे बुकी रख लेता है ।अब तक खेले गए आईपीएल टूर्नामेंट में हमेशा बुकी फायदे में रहते थे, लेकिन इस बार उल्टा हो गया है। IPL में अधिकांश मैचों के परिणाम अप्रत्याशित आ रहे हैं , ऐसे में कई क्रिकेट बुकी के लंबे घाटे में आने की चर्चाएं है। क्रिकेट सट्टा बाजार से जुड़े सूत्रों के अनुसार यदि अगले 5-6 दिन भी यही स्थिति बनी रही तो कुछ बुकी को लंबा नुकसान हो सकता हैं ।क्रिकेट सट्टे के जानकार बताते हैं कि आईपीएल 2018 मे कई मैच अप्रत्याशित रूप से पलट रहे हैं जिसमें बुकी नुकसान में आ रहे हैं और लगईवाल (सट्टा लगाने वाले) कि बल्ले बल्ले हो रही है।
सूत्र बताते हैं कि इस वर्ष के IPL में शुरू से ही कई मैच बेहद कलरफुल हो रहे हैं तीन पैसों से लेकर 20 -22 पैसे वाले कई मैच पलक झपकते ही पलट गए और बुकी को लंबा घाटा उठाना पड़ा है। पिछले 10 दिनों में IPL में कई उलटफेर वाले मैच हुए जिनके कारण रतलाम के भी कई क्रिकेट बुकी के लंबा घाटा उठाने की चर्चाएं बाजारों में चल रही है।

देनदारी का आया संकट

क्रिकेट सट्टा से जुड़े सूत्रों की माने तो क्रिकेट सट्टे के धंधे में बुकी जुबान के बड़े पक्के होते हैं ग्राहकी खराब ना हो इसके लिए वे किसी भी स्थिति में ग्राहक का पैसा उसे जरूर देते हैं ,इस बार मैच में उलट फेर होने की वजह से क्रिकेट बुकी आर्थिक संकट में आ गए हैं और उनके सामने देनदारी का संकट खड़ा हो गया है। चर्चा है कि कुछ बुकी उधार लेकर देनदारी निपटा रहे हैं ,वहीं कुछ की स्थिति प्रापर्टी निकालने तक की आ गई है ।क्रिकेट सट्टा बाजार से जुड़े सूत्रों के अनुसार इस बार की स्थिति अभूतपूर्व है बुकी पर ऐसा संकट इसके पहले कभी नहीं आया था ,दो -तीन मैच में हारते थे तो अगले कुछ मैचों में ‘कवर’ भी कर लेते थे लेकिन इस बार ‘कवर’ करने का मौका ही नहीं मिल रहा है ,जिसके चलते क्रिकेट बुकी परेशानी में आ गए हैं।

क्यो आए संकट में

क्रिकेट सट्टे के बारे में कहा जाता है कि बेईमानी के खेल में ईमानदारी जरूरी है । सट्टा बाजार के सूत्रों की माने तो अभी तक लगईवालों से पैसा इकट्ठा कर क्रिकेट बुकी बड़े बुकी को सौदा उतरा देते थे ,यह काफी समय से चल रहा था ।इस पर बुकी को 10 प्रतिशत कमीशन मिलता था, लेकिन पिछले IPL से कुछ बुकी के मन में लालच आ गया ,उन्होंने देखा कि भुगतान से ज्यादा बुकिंग आ जाती है ,ऐसे में इस बार कई लोगों ने सौदा आगे बडे बुकी को नहीं दिए ,उन्होंने लगईवालों से आया पैसा और सौदा अपने पास ही रख लिए, ऐसे में उन्हें लंबा घाटा उठाना पड़ गया।