Home रतलाम जनप्रतिनिधियों की तोहीन क्यों……?

जनप्रतिनिधियों की तोहीन क्यों……?

रतलाम(खबरबाबा. कॉम)।अक्सर देखा गया है कि हमारे प्रशासन के नुमाइंदे जनप्रतिनिधीयो की तौहीन करते आ रहे हैं । हाला की यह दर्द जन प्रतिनिधियों का भी है जो हाल ही में जिला प्रभारी मंत्री के सामने व्यक्त भी किया गया था । जिले में कैबिनेट स्तर के तीन , तथा राज्य स्तर के भी तीन नेता है , जो सरकार के हिस्से माने जाते हैं । स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजा रोहण मंत्री दर्जा प्राप्त नेताओ से नही करवा कर फजिहते की थी । लेकिन शनिवार को जब सरकार ने  ” मिल बाँचे ” कार्यक्रम में जन प्रतिनिधियों को भी सरकारी स्कूल में बच्चों के बीच पढ़ाने भेजा । मंत्री स्तर के नेता राज्य वित्त आयोग अध्यक्ष हिम्मत कोठारी , महापौर डॉ सुनीता यार्दे सहित अन्य नेताओं ने भी क्लास ली । लेकिन शाम को जब मीडिया के पास जन संपर्क विभाग ने प्रेस नोट क्रमांक 904 जारी कर भेजा तो सिर्फ कलेक्टर के ही गुणगान किये । ऐसा लगा की  इस कार्यक्रम में सिर्फ कलेक्टर ने ही रूचि ली । इस तरह मंत्री दर्जा प्राप्त नेताओ की एक बार फिर हमारे स्थानीय प्रशासन ने तौहीन कर साबित कर दिया की जो कुछ भी होगा वह सिर्फ प्रशासन की मर्जी से ही होगा ………?