Home रतलाम जानिए जिले में कहां पुलिस ने दिए बच्चों को कैरियर के टिप्स,...

जानिए जिले में कहां पुलिस ने दिए बच्चों को कैरियर के टिप्स, कैरियर चयन को लेकर जिज्ञासाओं का किया समाधान, यूपीएससी और एमपीपीएससी की तैयारी के लिए दी महत्वपूर्ण जानकारी।

रतलाम,27 मई(खबरबाबा.काम)। सामुदायिक पुलिसिंग के तहत रविवार को जावरा पुलिस ने बच्चों को कैरियर गाइडेन्स के लिए कार्यशाला का आयोजन किया। जावरा  सीएसपी (आईपीएस) आशुतोष बागरी ने स्कूली और कालेज के विद्यार्थियों को कोर्स के चयन के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के साथ ही कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी और विद्यार्थियों के सवालों के जवाब भी दिए।
जावरा सीएसपी श्री बागरी ने बताया कि पिछले दिनों जावरा में आयोजित जनसवांद कार्यक्रम के दौरान जिला पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने  स्थानीय बच्चो को पुलिस की तरफ से कैरियर गाइडेन्स और अध्ययन तकनीकी की बारे में जानकारी देने के लिए कार्यशाला का आयोजन करने के निर्देश दिए थे, जिसके परिपालन में रविवार को शासकीय भगतसिंह कालेज में कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें जावरा सीएसपी श्री बागरी ने बिभिन्न सरकारी सेवाओ एवं यूपीएससी द्वारा आयोजित की जाने वाली सिविल सेवा परीक्षा के सबंध में विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान किया।
मुख्य रुप से यह बातें बताई
1. कार्यशाला में सीएसपी आशुतोष बागरी ने  सभी बच्चों को बताया कि किसी भी परीक्षा में सफलता के लिए सबसे पहले जरूरी शर्त होती है की आप अपने दिल और दिमाग मे क्लियर रखे की आप लाइफ में किस फील्ड में जाना चाहते है , आपका इंटरेस्ट एरिया क्या है । किसी की देखा देखी कोई भी विकल्प चयन करने से पहले अपनी स्ट्रेंथ , वीकनेस , और इंटरेस्ट एरिया को पहचाने और उसके अनुरूप अपने लक्ष्य का चुनाव करे ।
2. सीएसपी श्री बााहरी ने   कहा कि यदि एक बार लक्ष्य का चुनाव कर लिया फिर उसके बारे में पूरी जानकारी एकत्रित करे , उसके बारे में सतत चिंतन करे , और ज्यादा से ज्यादा विज्वलाइज करे । उदाहरण के तौर पर यदि आप पुलिस में आना चाहते है तो अपने आप को पुलिस यूनिफार्म में विज्वलाइज करे , इससे आपके लक्ष्य के प्रति आपकी तड़प बढती जाएगी और कठिन स्थिति होने पर आपको हौसला देगी ।
3. ये प्रकृति का नियम है हर वस्तु अपने स्थान परिवर्तन का विरोध करती है और जब आपके बल की तीब्रता विरोध की तीब्रता से ज्यादा होती है तो परिवर्तन  होकर रहता है । इसी तरह से जब आप बड़ा लक्ष्य बनायेगे प्रारंभिक तौर पर कठिनाई आएगी ,प्रकृति आपको कठिनाई पैदा करके टेस्ट करेगी की आपकी लगन पक्की है या नही और यदि आप अपने लक्ष्य के प्रति दृढ रहते है तो यही प्रकृति आपका सहयोग करना आरंभ कर देती है ।
4. सभी बच्चों को सिखाया गया की लगभग सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में सामान्य अध्ययन और गणित , तर्कशक्ति , कॉम्प्रीहेंशन के सवाल पूंछे जाते है , बस इनके कठिनाई का स्तर अलग अलग हो सकता है । इसलिए एक बड़ा ध्येय बनाइये और यदि उसकी अच्छी तैयारी करेंगे तो बीच मे आने वाले छोटे मोटे एग्जाम की तैयारी खुद ब खुद हो जाएगी ।
5. बच्चों को यूपीएससी और एमपीपीएससी की तैयारी और ट्रेंड के बारे में बताया गया । इन्हें सिखाया गया की यदि आप यूपीएससी के लिए सामान्य अध्ययन और लेखन कला सीख लेते है तो संभव है की सूपीएससी में सेलेक्शन ना हो पर एमपीपीएससी में पक्का हो जाएगा । इस तरह आपकी मेहनत बेकार नही जाएगी ।
6. सभी बच्चों को यूपीएससी एवं एमपीपीएससी  सिविल सेवा परीक्षा की एग्जाम प्रणाली के बारे में बताया गया ।
7. इसके बाद यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के सिलेबस और कुछ बुक्स के बारे में जानकारी दी गई।
8.   अगली कार्यशाला 10 जून के बाद आने वाले रविवार को राखी जाएगी ।