Home रतलाम जावरा के बहुचर्चित कुंदन कुटीर बालिका गृह मामले में पुलिस द्वारा अंतिम...

जावरा के बहुचर्चित कुंदन कुटीर बालिका गृह मामले में पुलिस द्वारा अंतिम प्रतिवेदन न्यायालय में प्रस्तुत

रतलाम,15मार्च(खबरबाबा.काम)।  जावरा के बहुचर्चित कुंदन कुटीर बालिका गृह के मामले में शुक्रवार को जावरा पुलिस ने न्यायालय में अंतिम प्रतिवेदन (चालान) पेश कर दिया है।

जावरा सीएसपी (आईपीएस)अगम जैन ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 24 जनवरी 2019 को दिन के करीब 11.00 बजे 05 बालिकायें कुंदन कुटीर बालिका गृह, पिपलौदा रोड़ जावरा से खिड़की तोड़कर भाग गई थी, जिन्हे पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही कर मात्र 04 घंटे में मंदसौर से दस्तयाब किया था । किन्तु दस्तयाब बालिकीओं द्वारा दिये गये बयानों के आधार पर  कलेक्टर  श्रीमती रुचिका चौहान द्वारा एसडीएम जावरा के नेतृत्व में एक जांच दल का गठन  बालिका गृह की जांच हेतु किया गया था  ।  31 जनवरी 2019 को उक्त जांच दल द्वारा जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया  जिसमें बालिका गृह में रहने वाली बालिकाओं के साथ योन शोषण, छेड़- छाड़, दुर्व्यवहार आदि अपराध की पुष्टी होने का उल्लेख किया गया । उक्त प्रतिवेदन के आधारा पर आरोपीगण रचना भारतीय, ओमप्रकाश भारतीय, दिलीप बरैया, संदेश जैन के विरुद्ध  धारा 376(2)(डी), 354, 323,120 बी,34 भादवि ,5(डी)/6 ,7/8 पास्को एक्ट ,75 जे जे एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया था  ।

पुलिस टीम ने 307 बालकाओं के बयान लिए 

पुलिस के अनुसार उक्त अपराध की संवेदनशील व गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी व अति पुलिस अधीक्षक इन्द्रजीत वाकलवार द्वारा विवेचना हेतु नगर पुलिस अधीक्षक जावरा अगम जैन के नेतृत्व में एस. आई.टी. ( स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम ) का गठन किया जाकर अपराध विवेचना हेतु सभी पक्षों का सूक्ष्मता से परिक्षण करने हेतु निर्देशित किया गया । जिनके निर्देशन पर एसआईटी द्वारा कुंदन कुटीर बालिका गृह मे रही 307 बालिकाओ की तलाश हेतु करीब 25 टीमें गठित कर मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों व महाराष्ट्र, बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, उड़िसा व  प.बंगाल आदि राज्यों में भेजी गई । उक्त टीमों द्वारा सभी 307 बालिकाओं की तलाश की गई व बालिकाओ के कथन लिए गए एंव कथनों की वीडियो ग्राफी करवाई गई । जिन बालिकाओं के द्वारा अपराध की पुष्टी की गई उनका मेडीकल परिक्षण व धारा 164 दं.प्र.सं. के कथन न्यायालय में करवाये गये ।  फर्म एंव सस्था सोसायटी उज्जैन एंव महिला बाल विकास कार्यालय से कुदंन वेलफेयर आर्गेनाईजेशन एंव कुदंन कुटीर बालिका गृह के पंजीयन संबंधी दस्तावेज एंव अध्यक्ष , सचिव, सदस्यो के संबंध मे जानकारी प्राप्त की गई एंव विवेचना दौरान आरोपीयान के विरुद्ध अहम महत्तवपुर्ण साक्ष्य का संकलन किया गया । आरोपीगण द्वारा मिलकर लगातार बालिकाओ का शोषण किया गया एंव उक्त आरोपीयान के विरुद्ध पुख्ता साक्ष्य एकत्रित कर उक्त आरोपीगण के विरुद्ध प्रकरण मे करीबन 400 पृष्ठ का अंतिम प्रतिवेदन रिपोर्ट तैयार कर शुक्रवार  को  न्यायालय के समक्ष पेश किया गया ।

जांच में   नगर पुलिस अधीक्षक जावरा अगम जैन, एस.डी.ओ.पी. जावरा डी0आर0 माले , निरीक्षक बी एल सोंलकी , निरीक्षक श्यामचन्द्र शर्मा , उनि मधु राठौर , उनि विजय सनस , सउनि के एस चौहान , सउनि मो. युनुस खान, आर0 राहुल उपाध्याय, आर. चैनराम, आर0 अजय दुबे, आर0 मनोहर बाघेला की  महत्वपूर्ण भूमिका रही।