Home Uncategorized जावरा में एक वर्ष में एटीएम मशीनों से 17 लाख गायब!पुलिस जांच...

जावरा में एक वर्ष में एटीएम मशीनों से 17 लाख गायब!पुलिस जांच में जुटी

रतलाम(खबरबाबा.काम)। जिले के जावरा में पिछले एक वर्ष की अवधी में अलग-अलग एटीमों से 17 लाख के लगभग रुपयों की चोरी का मामला सामने आया है। पुलिस के अनुसार इस वारदात में भी वे ही लोग शामिल है जिन्होंने कलेक्टर कार्यालय के एटीएम में चोरी की थी। बैंक अधिकारियों की आडीट जांच में एटीएम मशीनों से चोरी की जानकारी मिली। इस मामले में रूपए लोड करने वाली कंपनी का ऑडिटर भी शंका के घेरे में है, क्योंकि एटीएम से रूपए कम होते रहे और ऑडिटर हिसाब में गड़बड़ी पर पर्दा डालता रहा। पुलिस के अनुसार आडीटर रतलाम के एटीएम से रुपए चोरी करने वाले एक आरोपी का रिश्तेदार भी है। बैंक की शिकायत के बाद पुलिस अब इस मामले की जांच करेगी।
ज्ञातव्य है कि इसी महीने 2 सितम्बर को कलेक्टर कार्यालय स्थित एटीएम से 21 लाख रूपए चोरी की जानकारी मिली थी। एसपी अमित सिंह के मागदर्शन में पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 72 घंटे में ही प्रकरण का खुलासा कर दिया था। रूपए चोरी करने वाले चार लोगों में मुख्य रुप से एटीएम में रूपए लोड करने वाली एजेंसी के ही दो कर्मचारी शामिल थे। एटीएम से 21 लाख चोरी के मामले में पुलिस ने कमलेश पिता शंकरलाल , हरीओम पिता रमेश , हरीओम पिता कालूराम और अनिल पिता भेरूलाल निवासी ग्राम धामेड़ी को गिरफ्तार किया था और उनसे चोरी की रकम बरामद की थी। पुलिस के अनुसार कमलेश इस वारदात का मास्टरमाइंड था। वह जावरा क्षैत्र में एटीएम में रूपए लोड करने का काम करता था। इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद बैंक ने अपने स्तर पर भी जांच शुरू की थी। बैंक अधिकारियों को पता चला है कि कमलेश ने जावरा क्षैत्र स्थित एटीएम मशीनों से भी अलग-अलग समय में चोटी-छोटी रकम करके कुल 17 लाख के लगभग रूपए चुराए है। यह गलती इसलिए तत्काल नहीं पकड़ी जा सकी क्योंकि ऑडिटर हिसाब में गड़बड़ी कर पर्दा डाल देता था। यह ऑडिटर भी कमलेश का रिश्तेदार ही है और इसी ने कमलेश को कंपनी में नौकरी पर रखवाया था। गुरूवार को बैंक के अधिकारियों ने एसपी अमित सिंह से मुलाकात कर जावरा स्थित एटीएम मशीनों से भी रूपए चोरी होने की जानकारी दी। एसपी अमित सिंह के अनुसार इस मामले में भी जांच के उपरांत जावरा थाने में आरोपियों के खिलाफ एक ओर प्रकरण दर्ज किया जाएगा।
इनका कहना है
बैंक की और से शिकायत मिली है, जिसमें आरोपियों द्वारा पिछले एक वर्ष की अवधी में अलग-अलग समय में क्षैत्र में लगे अलग-अलग एटीएम मशीनों से 17 लाख रुपए चोरी होने की जानकारी दी गई है। इसमें रुपए लोड करने वाली कंपनी के आडीटर की भूमिका भी शंका के घेरे में है। पुलिस मामले की जांच कर रही है, जिसके बाद जावरा में भी प्रकरण दर्ज किया जाएगा।
-अमित सिंह, एसपी, रतलाम