Home रतलाम जावरा में कट्टा अड़ाकर ट्रासंपोटर्र को लूटने के मामले का पर्दाफाश,सात आरोपी...

जावरा में कट्टा अड़ाकर ट्रासंपोटर्र को लूटने के मामले का पर्दाफाश,सात आरोपी गिरफ्तार, गैंग के सरगना की तलाश जारी। पुलिस के अनुसार वेन में लूट के इरादे से निकले थे आरोपी, ट्रांसपोर्टर को अकेला बैठा देख की वारदात। पुलिस ने कहा शातिर गैंग से पुछताछ में हो सकते है और भी खुलासे।

रतलाम,23 मार्च(खबरबाबा.काम)। जिले के जावरा में 17 मार्च को ट्रांसपोर्ट कारोबारी बालेखां पिता कुर्बान हुसैन के कार्यालय में घुसकर कट्टा अड़ाकर तीन हजार रुपए लूटने के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबिक गैंग का सरगना फिलहाल फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। पुलिस के अनुसार गैंग मारुती में सवार होकर लूट की वारदात के लिए निकली थी और रास्ते में ट्रांसपोर्ट कारोबारी को अकेला बैठा देख उसके साथ वारदात कर दी। पुलिस के अनुसार गैंग ने अन्य शहरों में भी वारदात करने की आशंका है, जिसके बारे में पुछताछ की जा रही है। गैंग से वारदात में प्रयुक्त हथियार और वाहन बरामद कर लिए गए है।

शुक्रवार को एसपी अमित सिंह ने जावरा में पत्रकार वार्ता कर इस सफलता की जानकारी दी। लूट की इस वारदात को गंभीरता से लेते हुए एसपी श्री सिंह ने एएसपी डां. राजेश सहाय और जावरा सीएसपी आशुतोष बागरी के निर्देशन में एक टीम का गठन किया था और एसआईटी टीम को भी सक्रीय किया था। एएसपी डां. सहाय और जावरा सीएसपी श्री बागरी लगातार टीम को सक्रीय कर वारदात के सबंध में साक्ष्य जुटा रहे थे, वहीं पुलिस ने अपने मुखबिर भी सक्रीय किए थे। इसी दौरान पुलिस ने मुखबरि की सूचना पर वारदात में प्रयुक्त मारुती वैन को रोका। पुलिस को देख वेन में बैठे कमल पिता श्रवण मोगिया 19 वर्ष निवासी कसारी थाना ताल, रविराज पिता विक्रम 19 निवासी ताल, श्रवण पिता नानुराम 38 वर्ष निवासी कसारी थाना ताल, दिलीप पिता मानसिंह 19 वर्ष निवासी ताल भागने लगे। पुलिस ने इन्हे पकड़कर पुछताछ की तो उन्होने लूट की वारदात कबूल करते हुए घटना में शाहरुख पिता सफिक, राजा उर्फ समिर, सलमान पिता युसुफ और लखन पिता मोहनलाल निवासी ताल के नामों का भी खुलासा किया। पुलिस ने शेष आरोपियों की धरपकड के लिए दबिशे दी, जिसमें से एक आरोपी लखन को छोड़ शेष सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों से चाकू और पिस्टल भी बरामद की गई।

 योजना बनाकर लूट करने निकले थे

एसपी अमित सिंह ने बताया कि घटना के दिन आरोपी मारुती वेन में सवार होकर रास्ते में जो मिले उसे लूटने की योजना बनाकर निकले थे। आरोपी खाचरोद नाका की कलाली और हुसैन टैकरी क्षैत्र में एक वृध्दा को लूटने वाले थे। रास्ते में उन्हे फरियादी ट्रासंपोर्ट कारोबारी अपने कार्यालय में अकेले बैठे दिखाई दिए, जिस पर आरोपियों ने तत्काल उन्हे लूटने की योजना बनाई और वारदात को अंजाम दिया। पुलिस के अनुसार गैंग पहले भी अन्य शहरों में लूट की वारदात कर चुकी है, जिसके संबध में गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ की जा रही है, वहीं सरगना लखन के गिरफ्तार होने के बाद भी और वारदातों का खुलासा होने की उम्मीद है। गिरफ्तार आरोपियों में कुछ का पुराना आपराधिक रेकार्ड है।

इनकी रही भूमिका

एसपी अमित सिंह ने बताया कि वारदात के खुलासे में जावरा सीएसपी आशुतोष बागरी(आईपीएस), जावरा शहर थाना प्रभारी एस.सी.शर्मा, एसआई कन्हैयालाल अवास्या, विजय रावत, एम.एल.डाबर, सीमा मिमरोट, प्रियंका चौहान, एएसआई गोपाल बोराना, एसआईटी टीम के दिनेश भदौरिया, विष्णु चंद्रावत, हर्षवर्धन, जंयतिलाल पाटीदारस ओमप्रकाश, अनिल पाटीदार, राहुल राठौर, रवि कुमार, बालकृष्ण, मंयक जोशी, शिवराम मोर्य, कैलाश मालवीय, रितेश, हिम्मत, मनमोहन सिंह की भूमिका रही।