Home रतलाम जिला दंडाधिकारी द्वारा रतलाम शहर में कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित, जानिए किस क्षेत्र...

जिला दंडाधिकारी द्वारा रतलाम शहर में कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित, जानिए किस क्षेत्र में कहां से कहां तक का एरिया हुआ कंटेनमेंट और वहां किस तरह की रहेगी व्यवस्थाएं

रतलाम 11 अप्रैल 2020/ जिला दंडाधिकारी श्रीमती रुचिका चौहान द्वारा संक्रमण की संभावना को देखते हुए कोरोना संक्रमित व्यक्ति वेलकम शू दुकान निवास स्थान मोचीपुरा रतलाम को एपि सेंटर घोषित किया गया है। एपि सेंटर को ध्यान में रखते हुए कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है जिसकी सीमा निम्नानुसार रहेगी – पश्चिम भाग – स्टाईल फूट वेयर से दक्षिण की ओर चलते हुए सकलेचा कचोरी वाले से झालाबाई के घर तक, झालाबाई के घर से पस्चिम की ओर लेते हुए पप्पु जोशी के घर तक, यहां से दक्षिण की ओर चलते हुए हरमाला रोड (रत्नेश्वर चौराहे तक) टंच ब्यूटी पार्लर तक। दक्षिण भाग – टंच ब्यूटी पार्लर से पूर्व की ओर चलते हुए हाकिमवाडा चौराहे तक, यहां से पूर्व की ओर चलते हुए शेरानीपुरा जमातखाने तक, यहां से उत्तर की ओर शेरानीपुरा खातीपुरा को सम्मिलित करते हुए कालिका माता मंदिर के पीछे तक। उत्तरी भाग- कालिका माता मंदिर के पीछे से पश्चिम की ओर चलते हुए गुलाब चक्कर को लेते हुए मच्छी दरवाजे की पुलिया तक, मच्छी दरवाजे की पुलिया से नगर निगम तिराहे से महलवाडा होते हुए स्टाइल फूट वेयर तक।

कोरोना महामारी की रोकथाम एवं समुचित प्रबंधन के लिए एपिडेमिक डिसीज कोविड-19 रेगुलेशन 2020 अंतर्गत कंटेनमेंट एरिया के सर्विलेंस हेतु जिला सर्विलेंस टीम कांटेक्ट ट्रेसिंग टीम कंटेनमेंट एनफोर्समेंट टीम एक्टिव सर्विलेंस टीम सुपरवाइजर री-मेडिकल टीम अतिआवश्यक सामग्री आपूर्ति टीम काउंसलिंग टीम तथा आईईसी टीम का गठन किया गया है। कंटेनमेंट क्षेत्र में आवागमन पूर्णता प्रतिबंधित रहेगा। आपातकालीन एवं अत्यावश्यक वस्तुएं एवं सेवाएं केवल नगर निगम द्वारा और कार्यरत शासकीय सेवकों को समुचित सुरक्षा के साथ आवागमन की अनुमति रहेगी। प्रतिबंध के पूर्ण पालन कंटेनमेंट एनफोर्समेंट टीम द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा। सिर्फ एक ही एंट्री प्वाइंट और एक एग्जिट प्वाइंट सुनिश्चित करने का कार्य कंटेनमेंट एनफोर्समेंट टीम द्वारा ही किया जाएगा। बेरीकेटिंग का कार्य नगर निगम द्वारा किया जाएगा।

कंटेंटमेंट क्षेत्र के समस्त रहवासियों को 14 दिनों के लिए होम क्वॉरेंटाइन रहने के लिए आदेशित किया गया है। कंटेनमेंट एनफोर्समेंट टीम आदेश का पूर्णता पालन सुनिश्चित करेगी। इसी के साथ 28 दिन का फॉलोअप भी किया जाना है। कांटेक्ट ट्रेसिंग टीम संक्रमित व्यक्ति से संपर्क में आए समस्त व्यक्तियों की जानकारी निर्धारित प्रारूप में एकत्रित करेगी। एक कार्य एक दिवस में पूर्ण किया जाना है। अनुविभागीय दंडाधिकारी रतलाम शहर को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। एक्टिव सर्विलेंस टीम अपने निर्धारित क्षेत्र में सुबह 8:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक घर में जाकर निर्धारित प्रारूप अनुसार सर्विलेंस कर जानकारी प्राप्त करेगी। यह कार्य एक दिवस में पूर्ण किया जाना है। एक्टिव सर्विलेंस टीम द्वारा समस्त जानकारी निर्धारित मेडिकल सुपरवाइजर टीम को शाम 6:00 बजे तक उपलब्ध कराई जाएगी। समस्त सुपरवाइजर जानकारी शाम 8:00 बजे तक कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराएंगे। सुपरवाइजर को दी गई जानकारी में यदि कोई संदिग्ध संक्रमित व्यक्ति पाया जाता है तो सुपरवाइजर तत्काल इसका संज्ञान लेकर संदिग्ध व्यक्ति को एंबुलेंस के द्वारा निर्धारित आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया जाएगा एवं उपचार की प्रक्रिया की जाएगी। ऐसे व्यक्तियों की जानकारी तत्काल कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराई जाएगी। अन्य सभी व्यक्ति जो संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में पाए गए हैं उनका मेडिकल चेकअप कराया जाएगा। सभी कार्य जिला सर्विलेंस टीम के मार्गदर्शन एवं पर्यवेक्षण में किए जाएंगे। इसके लिए अनुविभागीय अधिकारी रतलाम शहर को इंसीडेंट कमांडर बनाया गया है।

प्रतिदिन जो व्यक्ति होम क्वॉरेंटाइन में है उनके फोन, वीडियो कॉल आवश्यकतानुसार काउंसलिंग करेंगे एवं यह सुनिश्चित किया जाएगा कि व्यक्ति पैनिक ना हो एवं होम क्वॉरेंटाइन का सख्ती से पालन हो। इस प्रकार की हर 2 दिन में एक व्यक्ति की काउंसलिंग की जाएं। इसका रजिस्टर मेंटेन कर प्रतिदिन जानकारी कंट्रोल रूम पहुंचाई जाएगी। यह कार्य काउंसलिंग टीम द्वारा किया जाएगा। आगे से संक्रमण फैलने से रोकने के लिए त्वरित कार्रवाई के अंतर्गत संदिग्ध संक्रमित की कॉन्ट्रैक्ट ट्रैकिंग करते हुए समस्त संबंधितो से अनिवार्यता संपर्क किया जाकर उन्हें भी होम क्वॉरेंटाइन करवाने की कार्रवाई तथा उनकी भी प्रतिदिन संपर्क करते हुए संपर्क एवं ट्रैकिंग की रिपोर्ट की जाएगी। नगरीय निकाय के जोनल अधिकारी द्वारा क्षेत्र का सैनिटाइजेशन किया जाना सुनिश्चित किया गया है। कंटेनमेंट क्षेत्र में अति आवश्यक सामग्री के होम डिलीवरी का दायित्व नगर निगम को सौंपा गया है। आईसी टीम जनजागरूकता लक्षण एवं सावधानियों के बारे में अवगत कराएगी।