Home रतलाम जिला शांति समिति की बैठक संपन्न,दिए गए निर्देश

जिला शांति समिति की बैठक संपन्न,दिए गए निर्देश

रतलाम 6 नवम्बर 2019/ जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान की अध्यक्षता में बुधवार को संपन्न हुई। बैठक में आगामी ईद मिलादुन्नबी त्यौहार के अवसर पर की जाने वाली व्यवस्थाओं के संबंध में कलेक्टर द्वारा अधिकारियों को निर्देशित किया गया। बैठक में महापौर डॉ. सुनीता यार्दे, निगम नेता प्रतिपक्ष श्रीमती यास्मीन शेरानी, पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी, शहर काजी श्री अहमद अली, वरिष्ठ पत्रकार श्री शरद जोशी, श्री अशोक चौटाला, श्री शैलेंद्र डागा, श्री बजरंग पुरोहित, श्री मनोहर पोरवाल, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सुनील पाटीदार, एसडीएम सुश्री लक्ष्मी गामड़, सीएसपी श्री हेमंत चौहान, तहसीलदार श्री गोपाल सोनी आदि उपस्थित थे।

          बैठक में आगामी ईद मिलादुन्नबी के अवसर पर निकलने वाले जुलूस के मार्गो की जानकारी दी गई। कलेक्टर ने कहा कि जुलूस में शामिल होने वाले वाहनों को एसडीएम शहर से अनुमति लेना होगी। उन्हीं वाहनों का अनुमति दी जाएगी जो वैध दस्तावेजों के साथ होंगे। जुलूस मार्ग पर केबल, बिजली के तारों को सुव्यवस्थित करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिए गए। जहां केबल के तार नीचे आते हैं उन तारों को ऊपर करने के लिए नगर निगम कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए गए। जुलूस के दौरान धारदार हथियार, आग्नेय शस्त्र, ट्यूबलाइट फोड़ने के करतब, पाइप गन एवं घोड़े-घोड़ी के करतब प्रतिबंधित रहेंगे। पुलिस अधीक्षक ने जुलूस के मार्ग में जुलूस के दौरान स्वागत हेतु लगाए जाने वाले मंचों का पूर्व स्थल निरीक्षण करने के निर्देश सीएसपी तथा संबंधित थाना प्रभारियों को दिए। बताया गया कि जुलूस के स्वागत में लगने वाले स्वागत मंचों से आपत्तिजनक नारे, गाने, बैनर, फ्लेक्स पूर्णता प्रतिबंधित रहेंगे। साफ-सफाई के लिए प्रत्येक मंच के पास अनिवार्य रूप से कार्डलेस या स्टैंड माइक, 5 डस्टबिनों की व्यवस्था व स्वागत मंच समिति के पांच वॉलिंटियर की ड्यूटी लगाई जाकर कचरा डस्टबिन में डलवाने हेतु पाबंद किया जाएगा। ईद मिलादुन्नबी त्यौहार के अवसर पर लगाई जाने वाली स्टाल की पृथक से एसडीएम शहर से अनुमति प्राप्त करना होगी। अनुमति के अभाव में स्टाल संचालक पर नियमानुसार स्पॉट फाइन किया जाएगा।

आयुक्त नगर निगम को निर्देशित किया गया कि जुलूस के साथ एक फायर फाइटर जुलूस के अगले भाग पर तथा एक फायर फाइटर जुलूस के पिछले भाग पर तथा एक फायर फाइटर पुलिस कंट्रोल रूम पर भिजवाया जाना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही पुलिस कंट्रोल रूम पर आपात चिकित्सा व्यवस्था में डॉक्टर, नर्स, वार्ड ब्वाय, आवश्यक दवाइयां, एंबुलेंस तैनात करने के निर्देश सीएमएचओ को दिए गए। ईद मिलादुन्नबी त्यौहार के पूर्व मस्जिदों, ईदगाह के आसपास आवश्यक साफ-सफाई, पेयजल, विद्युत व्यवस्था तथा मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की जाने के निर्देश आयुक्त नगर निगम, सीएसपी तथा विद्युत वितरण कंपनी को दिए गए। इसी प्रकार के निर्देश बोहरा समाज की मस्जिद एवं आसपास के क्षेत्र के लिए भी दिए गए।

आगामी दिवस में आने वाले त्योहार को दृष्टिगत रखते हुए माणकचौक थाना प्रभारी अपने क्षेत्र में नो व्हीकल जोन की व्यवस्था करेंगे। इसके साथ ही नगर में साफ-सफाई तथा आवागमन के मुख्य मार्गों  का सुधार, यातायात व्यवस्था, सड़कों के पेच वर्क कार्य समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश निगमायुक्त, यातायात डीएसपी तथा पीडब्ल्यूडी को दिए गए। बैठक में सिख समाज के आगामी प्रकाश पर्व त्यौहार के अवसर पर की जाने वाली व्यवस्थाओं के संबंध में भी कलेक्टर तथा पुलिस अधीक्षक ने आवश्यक दिशा-निर्देश अधिकारियों को दिए। नगर में आवारा पशुओं पर नियंत्रण के लिए कलेक्टर श्रीमती चौहान ने एसडीएम शहर तथा निगमायुक्त को निर्देशित किया कि वे गुरुवार को पशुपालकों को नोटिस दे तथा शुक्रवार से कार्रवाई शुरू की जाए। शहर के काजी हाउस क्षेत्र एवं माणकचौक मस्जिद के आसपास कचरा संग्रहण हटाने निर्देश कलेक्टर द्वारा निगमायुक्त को दिए गए, उनको तत्काल मौके पर निरीक्षण के लिए कहा गया।

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने एसडीएम शहर को निर्देशित किया कि जिला शांति समिति की पिछली 6 बैठकों में उपस्थित सदस्यों के नामों का अवलोकन करते हुए उन नामों को चिन्हित किया जाए जो बैठकों में नहीं आ रहे हैं, उनके स्थान पर नवीन सदस्य जोड़े जाएंगे। जिले में सौहार्द एवं आपसी भाईचारे पर जोर देते हुए कलेक्टर ने कानून व्यवस्था पर चर्चा करते हुए कहा कि सौहार्द को बिगाड़ने वाले तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई के लिए जिला प्रशासन द्वारा तैयारी की गई है, विभिन्न प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की जा रही हैं। उन तत्वों को चिन्हित किया जा रहा है जो संदेहास्पद हैं।

पुलिस अधीक्षक ने भी इस संबंध में कहा कि सोशल मीडिया पर खासतौर पर निगरानी रखी जा रही है। फेसबुक, व्हाट्सएप इत्यादि पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने वालों के विरुद्ध प्रकरण कायम किए जा रहे हैं। इस संबंध में जिले में प्रतिदिन दो या तीन प्रकरण कायम किए जा रहे हैं। साइबर सेल द्वारा सोशल मीडिया की कड़ाई से निगरानी की जा रही है, लगातार नजर रखी जा रही है। आपत्तिजनक पोस्ट के संबंध में कोई भी व्यक्ति इस संबंध में साइबर सेल के मोबाइल नंबर 70491 27796 पर सूचना दे सकता है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि आपत्तिजनक पोस्ट के संबंध में जानकारी देने वाले उस व्यक्ति का मोबाइल पुलिस थाने में नहीं रखा जाएगा जो पोस्ट डिलीट नहीं होकर पब्लिक डोमेन पर उपलब्ध है। यदि पब्लिक डोमेन पर उपलब्ध नहीं है तो पुलिस थाने द्वारा कार्यवाही पश्चात शीघ्र अतिशीघ्र व्यक्ति को मोबाइल वापस कर दिया जाएगा। बैठक में शांति समिति सदस्यों द्वारा भी अपने सुझाव प्रस्तुत किए गए।