Home रतलाम जिला स्तरीय कंट्रोल रूम सतत सक्रिय रहे, तैनात कर्मचारी सभी विकास खंडों...

जिला स्तरीय कंट्रोल रूम सतत सक्रिय रहे, तैनात कर्मचारी सभी विकास खंडों की जानकारी से अपडेट रहे कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने बाढ़ आपदा प्रबंधन की बैठक में दिए निर्देश

रतलाम 2 अगस्त 2019। जारी वर्षा के मौसम के दृष्टिगत जिला स्तरीय कंट्रोल रूम सतत सक्रिय रहे तैनात कर्मचारी सभी विकासखंडों की जानकारी से अपडेट रहे । जिले में किसी भी स्थान पर ज्यादा वर्षा हो तो वहां की जानकारी लें कि कोई नुकसान तो नहीं हुआ है ।यह निर्देश कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने शुक्रवार सुबह कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में दिए । इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, जिला कमांडेंट होमगार्ड श्री एल.एन. बागरी, लोक निर्माण विभाग ग्रामीण यांत्रिकी सेवा तथा जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री अधीक्षक भू-अभिलेख श्री एम.एस. बारस्कर आदि उपस्थित थे ।

वर्षा के मौसम में सचेत रहने के दृष्टिगत आयोजित इस बैठक में कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने जिला कंट्रोल रूम प्रभारी को निर्देशित किया कि 24 घंटे अलर्ट रखते हुए जिले में किसी भी घटना-दुर्घटना पर नजर रखी जाए, समय सीमा में जानकारी हासिल की जाए । होमगार्ड कमांडेंट को सभी रेस्क्यू संसाधनों को दुरुस्त रखने के निर्देश दिए। विभिन्न लाइन डिपार्टमेंट्स के अधिकारियों को निर्देशित किया कि सड़कों व तालाबों की मरम्मत आवश्यकता अनुसार करते हुए सुनिश्चित किया जाए कि सड़कों के गड्ढों तथा तालाबों के फूटने से कोई घटना-दुर्घटना नहीं हो । जिन तालाबों की पाल कमजोर हो गई हो अथवा टूट-फूट गई हो, उनका तुरंत सुधार किया जाए । लोक निर्माण विभाग एवं प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना इकाई अपनी सड़कों के किनारों के गड्ढों को तत्काल भरवाकर दुरुस्ती करें । जिले के तंबोलिया तालाब की दुरुस्ती के लिए ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग को स्टीमेट तैयार करने के निर्देश दिए ।

बैठक में कलेक्टर ने होमगार्ड कमांडेंट को निर्देशित किया कि विभाग द्वारा पूर्व से आपदा प्रबंधन के दृष्टिगत आयोजित किए जा रहे ग्रामीण शिविरों को सतत जारी रखा जाए ।इसके साथ ही कलेक्टर द्वारा बैठक में मौजूद रतलाम ग्रामीण तथा शहर एसडीएम व वीसी द्वारा कनेक्ट सभी अन्य एसडीएम को निर्देशित किया कि आने वाली नाग पंचमी त्योहार के अवसर पर विभिन्न मंदिरों तथा सावन सोमवार के अवसर पर मंदिरों में आने वाले श्रद्धालुओं के दृष्टिगत भीड़ प्रबंधन पर विशेष ध्यान रखा जाए। सैलाना एसडीएम को उनके क्षेत्र अंतर्गत दोनों केदारेश्वर मंदिरों में भीड़ प्रबंधन पर निर्देशित किया ।