Home रतलाम ज्वेलर्स की दुकान पर नकली सोने की चुड़ी बेचने आया और रुपए...

ज्वेलर्स की दुकान पर नकली सोने की चुड़ी बेचने आया और रुपए लेकर हो गया चंपत, माणकचौक थाना पुलिस ने किया 420 का प्रकरण दर्ज।

रतलाम,3 मार्च(खबरबाबा.काम)। माणकचौक थाना अंतर्गत एक प्रतिष्ठीत ज्वेलर्स की दुकान पर एक व्यक्ति ने नकली सोने की चुड़ी थमाकर धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम दिया। मामले की शिकायत पुलिस को की गई, जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में धारा 420 के तहत धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया है।

जानकारी के अनुसार धोखाधड़ी की यह वारदात चांदनीचौक स्थित डी.पी.ज्वेलर्स पर हुई। फरियादी कुदंन पिता चंदुलाल पटीदार 29 वर्ष निवासी ग्राम आलनिया थाना स्टेशन रोड ने माणकचौक पुलिस को की गई शिकायत में बताया कि वह डीपी ज्वेलर्स चांदनी चोक पर नोकरी करता हैं। 28 फरवरी को दोपहर में करीब साढे तीन बजे वह डीपी ज्वेलर्स के ओल्ड गोल्ड काउण्टर पर अपने साथी लक्ष्मीनारायण सोडानी के साथ बैठा था। इसी दौरान एक व्यक्ति आया और बोला कि उसे अपनी सोने की चूड़ी बेचना है। फरियादी ने जब चुडिय़ा दिखाने को कहा तो उक्त व्यक्ति ने अपने साथ लाई काले कलर की कपड़े की थेली में से एक सोने की चुड़ी निकालकर दिखाई और बोला कि यह सोने की चुड़ी 80 प्रतिशत की है और अपनी थेली काउण्टर के पास रख दी। फरियादी के अनुसार उस व्यक्ति ने उससे कहा कि मुझे एक अर्जेंट पेमेंट देना है तो आप 2000 रुपये दे दिजीए, हिसाब अपन कर लेंगे। फरियादी दुकान कर्मचारी ने विश्वास में आकर उस व्यक्ति को रुपये दे दिये और वह बाहर चला गया। इस दौरान फरियादी ने उक्त चुड़ी अच्छे से देखी तो तो उसे उसकी सोने पर होने पर शंका हुई। कुंदन ने उस चुडी को लेजर मशीन से चेक किया तो वह चुडी पुर्ण रुप से नकली पाई गयी। इसी दौरान वह व्यक्ति वापस आया और हिसाब की बात करने लगा तो कुंदन ने उसको बताया कि यह चुडी नकली है, इस पर वह व्यक्ति घबराकर वहाँ से भाग गया और काउण्टर के पास रखी अपनी काली कपड़े की थेली भी छोड़ गया। बाद में थैली को चेक किया तो उसके अंदर एक वोटर आईडी व ड्रायविंग लायसेंस संजय पिता बाबुलाल निवासी प्रतापगढ़ राजस्थान के नाम का और 320 रुपये नगदी व अन्य कागजात थे। बाद में कुंदन ने उक्त घटना ज्वेलर्स संचालक अनिल कटारिया को बताई। फरियादी ने आईडी के पते पर जानकारी निकाली लेकिन कुछ पता नहीं चला। इसके बाद कुंदन माणकचौक थाने पहुंचा और मामले की शिकायत की। पुलिस ने शिकायत पर धारा 420 के तहत प्रकरण दर्ज किया है।