Home Uncategorized झूठा निकला साढे सात लाख रुपए से भरा बैग चोरी का मामला,...

झूठा निकला साढे सात लाख रुपए से भरा बैग चोरी का मामला, उधारी के रुपए चुका नहीं पाने कारण रची झूठी कहानी

रतलाम(खबरबाबा.काम)।स्टेशन रोड थाना क्षेत्र अंतर्गत शनिवार सुबह करीब 11:45 बजे उकाला रोड पुलिया पर मोटरसाइकिल सवार दो अज्ञात बदमाशों दुवारा एक किसान की मोटरसाइकिल पर टंगा साढे़ सात लाख रुपए से भरा बैग चोरी करने का मामला झूठा निकला ।रविवार को पुलिस नियंत्रण कक्ष पर एएसपी राजेश सहाय, एएसपी प्रदीप शर्मा मैं घटना का खुलासा किया। पुलिस के अनुसार फरियादी ने रुपयों की उधारी के कारण चोरी की झूठी कहानी रची।पुलिस अब झुठी रिपोर्ट लिखने के मामले में फरियादी पर कार्रवाई करेगी।
रविवार को पुलिस नियंत्रण कक्ष पर पत्रकार वार्ता में एएसपी डॉ.सहाय और एएसपी प्रदीप शर्मा ,सीएसपी विवेकसिंह चौहान ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि शनिवार को बाजना निवासी सुरेंद्र देवड़ा ने स्टेशन थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि उकाला रोड स्थित पुलिया पर मोटरसाइकिल सवार दो अज्ञात बदमाश उसकी बाइक के हैंडल पर टंगा करीब 7.45 लाख रुपए से भरा बैग चोरी कर ले गए ।इस मामले में पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण कर फरियादी से भी पूछताछ शुरू की। पूछताछ में फरियादी बार बार अपने कथन बदल रहा था जिस पर पुलिस को कुछ शंका हुई ।पुलिस के अनुसार सख्ती से पूछताछ करने पर फरियादी ने झूठी कहानी रचने की बात बताई। सुरेन्द्र ने पुलिस को बताया कि उसने एक रिश्तेदार से कुछ रुपए उधार ले रखे थे इसी कारण से वह परेशान था और उसने चोरी की झूठी कहानी बनाई। घटना के पूर्व सुरेंद्र ने सोयाबीन बेच कर आए 4 लाख 75 हजार रूपय खेत पर बने अपने कमरे में छिपा दिए थे। पुलिस ने सुरेंद्र की निशानदेही पर रुपए जप्त कर लिए हैं।
इनकी रही भूमिका
इस पूरे मामले पर्दाफाश में स्टेशन रोड टीआई अजय सारवान ,SI राजमल दायमा ,एएसआई विनोद कटारा, प्रधान आरक्षक सुशील त्यागी ,यूसुफ मंसूरी ,संदीप सिंह ,आरक्षक दिनेश जाट ,धर्मेंद्र जाट, हिमांशु यादव ,मानसिंह, राहुल जाट, हिम्मत सिंह की विशेष भूमिका रही
यह है मामला
बाजना निवासी सुरेंद्र पिता दिलीप सिंह देवड़ा ने शनिवार दोपहर को साढे सात लाख रुपयों से भरा बैग चोरी करने की शिकायत स्टेशन रोड थाना में दर्ज कराई थी ।सुरेन्द्र ने बताया था कि शनिवार सुबह करीब 9 बजे वह ससुराल प्रीतमनगर जाने के लिए मोटरसाइकिल पर थैली में सोयाबीन बेचकर आए 7.45 लाख रुपये लेकर निकले थे। श्री देवड़ा ने बताया था कि उन्हें प्लाट खरीदने के लिए यह रुपये काका ससुर को प्रीतमनगर में देना थे। इसके लिए वह सुबह बाजना से रावटी बायपास होते हुए रतलाम पहुंचे। रतलाम में वह उकाळा रोड से सालाखेडी की और जा रहे थे।इस दौरान वे उंकाला रोड पुलिया पर लघुशंका के लिए रुके। इसी बीच पीछे से बाइक पर आए दो बदमाश किसान की बाइक पर टंगी रुपयों से भरी थैली लेकर सालाखेड़ी की ओर भाग निकले।
किसान से शोर मचाकर रोकने की कोशिश भी की लेकिन तेज़ रफ़्तार में बदमाश कुछ सेकण्ड्स में रफूचक्कर हो गए। इसके बाद किसान दो बत्ती थाने पंहुचा जहां पुलिस को आपबीती बताई। पुलिस जांच मैं यह पूरी कहानी झूठी निकली।