Home देश तीनों सेनाओं की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस,जानिए वार्ता के प्रमुख बिंदु

तीनों सेनाओं की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस,जानिए वार्ता के प्रमुख बिंदु

नई दिल्ली, 28फरवरी।भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे विवाद के बीच पाकिस्तान ने आज भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को कल भारत वापस भेजने का एलान किया। पाकिस्तान ने इस कदम को शांति की पहल करार दिया था। इससे पहले पाकिस्तान ने बुधवार की सुबह भारतीय वायुसीमा का उल्लंघन कर एफ-16 विमानों से भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी। हालांकि पाक ने इस बात से इंकार कर दिया था।

इस पूरे मामले को लेकर तीनों सेनाओं ने एक संयुक्त प्रेसवार्ता की जिसमें सेनाओं ने पाकिस्तान को बेनकाब करते हुए पाकिस्तान द्वारा एफ-16 विमान के प्रयोग के सबूत भी दिखाए। कांफ्रेंस में वायुसेना ने एफ-16 विमान में प्रयुक्त मिसाइल के टुकड़े दिखाए। ये टुकड़े राजौरी से मिले थे। वायुसेना ने बताया कि ये मिसाइल केवल एफ-16 विमान में ही प्रयोग की जा सकती है। पढ़िए इस प्रेस कांफ्रेंस की प्रमुख बातें।

एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर ने कहा…

पाकिस्तान वायुसेना के बमों से हमारे किसी भी रक्षा प्रतिष्ठान को कोई नुकसान नहीं पहुंचा

पाकिस्तान के विमान ने सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने का प्रयास किया

पाकिस्तान ने झूठ बोला कि एफ-16 का इस्तेमाल नहीं किया गया जबकि इस बात के पर्याप्त प्रमाण है

भारतीय वायुसेना इसको लेकर खुश है कि विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा किया जाएगा और हम कल उनके वापस आने का इंतजार कर रहे हैं

पाकिस्तान के बम सैन्य प्रतिष्ठान के परिसर में गिरे लेकिन वे लक्ष्यों को निशाना बनाने में विफल रहे

एयर स्ट्राइक मे कितने आतंकियों की मौत हुई यह बताना मुश्किल लेकिन जो हम चाहते थे उसमें हम सफल हुए

 

सेना के मेजर जनरल एसएस महाल ने कहा…

तनाव पाकिस्तान की ओर से बढ़ाया गया है, दुश्मन यदि उकसाता है तो भारत किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार

यंत्रीकृत बल को तैयार रखा गया है, सैनिक किसी भी सुरक्षा चुनौती से निपटने के लिए तैयार

हमारी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ है और हम आतंकी कैंपों को निशाना बनाते रहेंगे

पाकिस्तान की ओर से लगातार सीजफायर का उल्लंघन जारी है, हमने हर इलाके से मुंहतोड़ जवाब दिया है

हमने पूरे इलाके को हाई अलर्ट पर रखा है, हर स्थिति का जवाब देने के लिए सेना पूरी तरह से तैयार है

रियर एडमिरल डीएस गुजराल ने कहा कि समुद्र में पाकिस्तान के किसी भी दुस्साहस से निपटने के लिए तैयारियां पूरी हैं। तीनों सेनाएं किसी भी परिस्थिति का मुकाबले करने के लिए तैयार हैं।