Home रतलाम त्यौहार पर प्रशासन को सहयोग नहीं करने वाले आयोजक होंगे ब्लैक लिस्टेड,...

त्यौहार पर प्रशासन को सहयोग नहीं करने वाले आयोजक होंगे ब्लैक लिस्टेड, आगामी दो वर्षों तक नहीं मिलेगी अनुमति ,आचार संहिता के कारण हनुमान ताल पर होने वाले रावण दहन कार्यक्रम में नगर निगम नहीं कर सकेगा सहयोग, आयोजकों को ही करनी होगी व्यवस्था , चुनाव आयोग की अनुमति लेकर होगा मेला स्थल पहुंच मार्ग का पैच वर्क, जानिए शांति समिति की बैठक में और क्या-क्या हुआ निर्णय-

रतलाम,7अक्टूबर(खबरबाबा.काम)। आगामी नवरात्रि और दशहरा त्यौहार को लेकर कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान और एसपी गौरव तिवारी की उपस्थिति में रविवार दोपहर को शांति समिति की बैठक का आयोजन किया गया । बैठक में त्योहार के दौरान भी आचार संहिता का पूर्ण तरह पालन करने एवं कानून व्यवस्था की दृष्टि से आवश्यक निर्णय लिए गए।

बैठक के दौरान एसडीएम राहुल धोटे ने गत दिवस हुए त्यौहारों से लागू नई व्यवस्था के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि जिन आयोजकों ने कार्यक्रमों को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न किया है और प्रशासन को पूर्ण सहयोग दिया है ।उन्हें व्हाइट लिस्ट में शामिल किया गया है । जिन आयोजकों ने प्रशासन को पूरी तरह सहयोग नहीं किया है, उन्हें ग्रे लिस्ट में शामिल किया गया है ।जो आयोजक लगातार दो साल तक ग्रे लिस्ट में शामिल रहेंगे ,उन्हें पुलिस और प्रशासन की रिपोर्ट के आधार पर ब्लैक लिस्ट में शामिल कर दिया जाएगा। एसे आयोजकों की अनुमति 2 वर्ष के लिए स्वतः निरस्त हो जाएगी ।कार्रवाई के पूर्व आयोजकों को सुनवाई का अवसर जरूर दिया जाएगा। एसडीएम ने बताया कि सहयोग नहीं करने वाला आयोजकों को सीधे भी ब्लैक लिस्ट करने की कार्रवाई की जा सकती है। हाल ही में संपन्न हुए त्योहारों के दौरान मिली रिपोर्ट के आधार पर अभी तक दो आयोजकों को ग्रे लिस्ट में शामिल किया गया है। नवरात्रि के दौरान होने वाले आयोजनों पर भी यह व्यवस्था लागू रहेगी ।

हनुमान ताल का रावण नगर निगम नहीं बनाएगा

शांति समिति की बैठक के दौरान पोलो ग्राउंड और हनुमान ताल पर होने वाले रावण दहन कार्यक्रम को लेकर भी चर्चा हुई। बैठक में निगम आयुक्त एस.के सिंह द्वारा हनुमान ताल का रावण नगर निगम द्वारा बनाए जाने के लिए निगम परिषद की स्वीकृति की जानकारी दी गई ।जिस पर कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने आचार संहिता का कारण बताते हुए आयोजकों द्वारा ही संपूर्ण व्यय वहन करने के लिए कहा गया ।याने रावण नगर निगम की ओर से नहीं बनाया जा सकेगा।

चुनाव आयोग की अनुमति लेकर हो सकेगा पेच वर्क का कार्य

शांति समिति की बैठक में नवरात्रि के दौरान श्री कालिका माता मंदिर पहुंचने वाले मार्ग पर हो रहे गड्ढे और छतरी पुल पर डामरीकरण नहीं होने का मुद्दा भी उठा ।जिस पर कलेक्टर ने पूर्व में वर्क आर्डर जारी होने की जानकारी लेते हुए निगमायुक्त को चुनाव आयोग से अनुमति लेकर पैच वर्क कार्य करने के निर्देश दिए।

शांति समिति की बैठक में यह भी हुए निर्णय

1. बैठक में नवरात्रि के दौरान होने वाले गरबों के समय को लेकर भी चर्चा हुई ,इस पर कलेक्टर द्वारा रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा समय बढ़ाने को लेकर निर्णय लेने की बात कही गई।

2. आयोजन स्थल पर सीसीटीवी कैमरा लगाने और सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए।

3. एसपी गौरव तिवारी ने त्योहारों के दौरान शहर में आवश्यक स्थानों पर अस्थाई पुलिस चौकी खोलने की जानकारी दी।

4. कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान एवं एसपी गौरव तिवारी ने आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के लिए भी कहा।

5. कलेक्टर ने आचार संहिता के दौरान सभी शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने की जानकारी देते हुए शस्त्र धारकों को तीन दिवस की अवधि में शस्त्र थाने पर जमा कराने के निर्देश दिए। वहीं एसपी गौरव तिवारी ने कहा कि कुछ लोगों द्वारा नागालैंड एवं अन्य स्थानों से शस्त्र लाइसेंस लेने की जानकारी सामने आई है। ऐसे शस्त्र धारकों को भी अपने शस्त्र जमा कराने होंगे और रिटर्निंग ऑफिसर को जानकारी देनी होगी ,अन्यथा उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

6. बैठक के दौरान महापौर श्रीमती सुनीता यार्दे, एडीएम जितेन्द्र सिंह चौहान, एसडीएम राहुल धोटे, सीएसपी विवेक सिंह चौहान, निगम आयुक्त एसके सिंह , शहर के सभी थाना प्रभारी और शांति समिति के सदस्यगण मौजूद थे।