Home रतलाम नागरिकों से सुझाव लेकर आगामी 5 साल के विकास का रोड़मेप तैयार किया जाएगा,इसी...

नागरिकों से सुझाव लेकर आगामी 5 साल के विकास का रोड़मेप तैयार किया जाएगा,इसी सत्र से शुरु होगा मेडिकल कालेज, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रतलाम में प्रबुद्ध नागरिकों से चर्चा में कहा

रतलाम,16 जुलाई 2018(खबरबाबा.काम)।मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के आगामी 5 सालों के विकास का रोड़मेप नागरिकों के सुझाव पर आधारित होगा। रोड़मेप तैयार करने के लिए प्रदेशभर के नागरिकों से सुझाव लिए जाएगे। इसके लिए विक्रम वर्मा की अध्यक्षता में संकल्प पत्र कमेटी गठित की गई है। कमेटी राज्य में भ्रमण कर नागरिकों से सुझाव प्राप्त करेगी।

मुख्यमंत्री ने यह बात आज16 जुलाई को रतलाम सर्किट हाउस में स्थानीय प्रबुद्ध नागरिकों से मुलाकात में कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सबसे अच्छी सरकार वह होती है जो हम सब मिलकर संचालित करें। आने वाले 5 सालों के लिए प्रदेश का विकास का जो रोड़मेप तैयार होगा, उसका संकल्प पत्र जल्दी ही जनता के सामने रखा जाएगा। प्रदेश के विकास के लिए हम सब मिलकर काम करेंगे, विकास को जन आन्दोलन बनाएंगे। मुख्यमंत्री ने प्रबुद्धजनों से कहा कि प्रदेश में कृषि के साथ-साथ उद्योग तथा व्यापार संवर्धन के भी पुरजोर प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि समृद्ध मध्यप्रदेश के लिए प्रबुद्ध नागरिकों के सुझाव बहुत महत्वपूर्ण है।

रतलाम जिले के संदर्भ में मुख्यमंत्री ने चर्चा करते हुए कहा कि साड़ी, सोना तथा सेव के लिए प्रसिद्ध रतलाम अपनी एक अलग पहचान रखता हैं। जिले की इस पहचान को दृष्टिगत रखते हुए इस पर आधारित औद्योगिक इकाइयों का जाल बिछाया जाएगा। रतलाम में शासकीय मेडिकल कालेज इसी वर्ष से प्रारंभ हो जाएगा। मेडिकल कालेज शुरू करने के लिए हमने उच्च स्तरीय प्रयास किए हैं। सर्वोच्च न्यायालय में भी गए हैं इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी चर्चा की है। मेडिकल काउन्सिल आफ इण्डिया की टीम ने रतलाम आकर कॉलेज का निरीक्षण भी किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि रतलाम जिले के बेहतर विकास के लिए जो भी जरूरी होगा, वह किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सोयाबीन निर्यात को बढ़ावा देने के प्रयासों की जानकारी में कहा कि हाल ही में अमेरिका से चीन को निर्यात होने वाले सोयाबीन पर 25 प्रतिशत इम्पोर्ट ड्यूटी लगने से सोयाबीन चीन के लिए महंगा हो गया है। हमारे लिए यह एक अवसर है कि हम प्रदेश का सोयाबीन चीन को निर्यात कर सके। प्रदेश का एक प्रतिनिधिमण्डल चीन जाएगा। चीन जाकर प्रतिनिधिमण्डल मध्यप्रदेश के सोयाबीन का चीन को बड़े पैमाने पर निर्यात की संभावना का अध्ययन करेगा। इसका लाभ प्रदेश के किसानों तथा सोया निर्यातकों को मिलेगा। इस सम्बन्ध में हमने प्रधानमंत्रीजी से भी चर्चा की है, उन्होंने भी आश्वस्त किया है। हम एक समृद्ध मध्यप्रदेश बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने नागरिकों से आग्रह किया कि हम सब मिलकर प्रदेश के विकास के लिए काम करे। आमजन की सहभागिता महत्वपूर्ण है। जिस प्रकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आम जनता को स्वच्छता से जोड़ दिया है, उसी प्रकार हम विकास के हर एक क्षेत्र में जनता को जोड़कर समृद्धि के नये आयामां को स्पर्श करेंगे। मुख्यमंत्री ने बताया कि हम जल्दी ही भोपाल व्यापारी पंचायत भी बुलाने जा रहे हैं। व्यापारियों की समस्याओं पर विस्तार से चर्चा की जाएगी,उनका हल पंचायत में आपसी-विमर्श से निकाला जाएगा। व्यापार प्रदेश की समृद्धि का आधार है।

मुख्यमंत्री ने इस चर्चा के दौरान समाज में अच्छे संस्कारों पर भी जोर देते हुए कहा कि कुछ तत्व पूरे समाज को कलंकित करते हैं, कुकर्मियों के लिए हमने फांसी की सजा का भी प्रावधान किया है लेकिन समाज का संस्कारवान होना बहुत जरूरी है। इस दौरान राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष एवं विधायक चेतन्य काश्यप,राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष हिम्मत कोठारी, रतलाम ग्रामीण विधायक मथुरालाल डामर, जावरा विधायक डा. राजेंद्र पाण्डेय, सैलाना श्रीमती संगीता चारेल, भाजपा जिला अध्यक्ष कान्हसिंह चौहान, महापौर डा. सुनीता यार्दे, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक अध्यक्ष अशोक जैन चौटाला, निगम सभापति अशोक पोरवाल, संभागायुक्त एम.बी. ओझा,आई.जी. राकेश गुप्ता, कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान, पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी, सीईओ जिला पंचायत सोमेश मिश्रा,अपर कलेक्टर डा. कैलाश बुन्देला, आदि उपस्थित थे।