Home रतलाम पुलिस को चकमा देकर भागे एनडीपीएस सहित कई मामलों के आरोपी...

पुलिस को चकमा देकर भागे एनडीपीएस सहित कई मामलों के आरोपी बंटी लाला को रतलाम पुलिस ने जयपुर से पकड़ा

रतलाम,26अक्टूबर(खबरबाबा.काम)। पुलिस को चकमा देकर भागे एनडीपीएस सहित अन्य मामलों के आरोपी महिपाल सिंह उर्फ बंटीलाला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बंटी को जयपुर के  एक घर में दबिश देकर पकड़ा, जहां पर वह रूका हुआ था। पुलिस ने शुक्रवार को उसे न्यायालय में पेश किया, यहां से पांच दिन का पुलिस रिमांड मिला है।

बंटी की गिरफ्तारी का खुलासा एसपी गौरव तिवारी और एएसपी प्रदीप शर्मा ने शुक्रवार शाम पुलिस कंट्रोल रूम पर पत्रकार वार्ता में किया। असली ने बताया कि बंटी के जयपुर में होने की सूचना मिली थी, जिस पर टीम भेजी गई थी। टीम के सदस्य जयपुर में भेष बदलकर निर्माण नगर में उसे तलाशते रहे। एक दिन उसके नजर आने पर उसका पीछा किया। फिर रात को क्षेत्र की थाना पुलिस को सूचित करने के बाद महिपाल उर्फ बंटी को घर पर दबिश देकर पकड़ा गया।

मदद करने वालों को बनाया आरोपी

पुलिस ने बंटी के भागने में मदद करने के आरोप में करीब आधा दर्जन लोगों को भी आरोपी बनाया है ।उसकी पत्नी  व पुत्री  सहित बड़ोदिया निवासी अभिभाषक महेंद्रसिंह, लोकेंद्रसिंह, राजपाल सिंह व राजेश परमार को गिरफ्तार किया है। बंटी के इंदौर के फ्लैट में लग कैमरे की जांच में उसकी पत्नी व पुत्री के द्वारा लोकेंद्रसिंह को बैंग में बंटी की जरूरत का सामान रखकर देती नजर आ रही थी। लोकेंद्र ने यह बैग देवास में एक पेट्रोल पंप के मालिक राजेश को दिया था। राजेश ने बैग बंटी तक पहुंचाया और उसे उज्जैन जिले के पिपलौदा द्वारकाधीश में राजपालसिंह के घर छोड़ा। यहां दो दिन रूकने के बाद बंटी को बीसाखेड़ी छोड़ा गया था।

क्या है मामला

डोडाचूरा तस्करी मामले में फरार आरोपी महिपालसिंह डोडिया उर्फ बंटी लाला को उज्जैन एसटीएफ ने 17 जनवरी 2018 को गिरफ्तार किया था। तभी से वह जावरा जेल में बंद था। अवैध शराब तस्करी के मामले में पेशी पर जिला न्यायालय रतलाम लाने के लिए 29 सितंबर को  उसे जावरा जेल से रतलाम पेशी पर लेकर आए थे। जावरा जेल के बाहर बंटी लाला का एडवोकेट  कार लेकर खड़ा था।  रतलाम पहुंचते ही बंटी लाला ने तबीयत खराब होने का बहाना बनाया और वकील  से कार उसके रिश्तेदार के रत्नेश्वर रोड स्थित मैरिज गार्डन ले चलने को कहा।मैरिज गार्डन में बंटी लाला से मिलने चार-पांच लोग पहुंचे।  मैरिज गार्डन में अंदर गया बंटी लाला पीछे से भाग गया था।

पुलिस टीम को ईनाम

पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने बताया कि 18 प्रकरणों में विगत कई वर्षों से फरार व पकडे जाने के बाद न्यायालय से पेशी के दौरान फरार होने के वाले आरोपी को पकड़ने वाली टीम को दस हजार रूपये का नगद पुरस्कार दिया जाएगा। आरोपी को पकड़ने में जावरा नगर पुलिस अधीक्षक आशुतोष बागरी, निरीक्षक श्यामचंद्र शर्मा, उप निरीक्षक वीरेंद्र बंदेवार, हिमांशु भार्गव, सुरेश गोयल, प्रधान आरक्षक लक्ष्मीनारायण सूर्यवंशी, आरक्षक मनमोहन शर्मा, हिम्मत सिंह, विपुल भावसार, रवि कुमार, चंद्रकांत, नरेंद्र हाड़ा, विष्णु चंद्रावत, रितेश सिंह की भूमिका सराहनीय रही।