Home रतलाम पुलिस ने पकड़ी अवैध शराब की फैक्ट्री, दो आरोपी गिरफ्तार, भारी मात्रा...

पुलिस ने पकड़ी अवैध शराब की फैक्ट्री, दो आरोपी गिरफ्तार, भारी मात्रा में अवैध शराब और शराब बनाने के उपकरण बरामद,जानिए जिले में कहां चल रहा था अवैध शराब कारखाना-

रतलाम, 6जुलाई(खबरबाबा.काम)। रतलाम पुलिस ने अवैध शराब कारखाने का पर्दाफाश करने में सफलता हासिल की है। मामला बड़ावदा थाने का है ,जहां पुलिस ने अवैध नकली शराब और शराब बनाने के उपकरण बरामद किए हैं ।मौके से पुलिस ने 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

एएसपी डा. राजेश सहाय ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार को मुखबिर से सूचना मिलने पर जावरा एसडीओपी और बड़ावदा थाना प्रभारी को कार्रवाई के निर्देश दिए। पुलिस टीम ने मुखबिर की सूचना पर ग्राम खेड़ा में मलेनी नदी के कच्चे रास्ते पर जसवंत सिंह के खेत के पास से अवैध नकली शराब और नकली शराब बनाने के उपकरण बरामद किए ।पुलिस ने मौके से जसवंत सिंह पिता नरेंद्र सिंह 20 वर्ष और गजेंद्र सिंह पिता राजेंद्र सिंह 32 वर्ष निवासी ग्राम मंडली को गिरफ्तार किया।

यह सामान किया बरामद

एएसपी डॉ. राजेश सहाय ने बताया कि मौके से 9 आरो के पानी की केन बरामद की जिसमें 107 लीटर नकली अवैध शराब भरी हुई थी। इसके अलावा चार सफेद प्लास्टिक की केन में 120 लीटर सफेद तरल पदार्थ भरा हुआ था ,जिसमें से शराब जैसी गंध आ रही थी ।मौके से पुलिस ने एक मशीन बरामद की जो ढक्कन को सील करने के काम आती है ।10 प्लास्टिक के सफेद बोरों में प्लास्टिक के बिना ढक्कन के खाली पाव भी बरामद किए गए, जिनकी संख्या 5000 के लगभग है ।मौके से पुलिस ने दो प्लास्टिक की कलर वाली खाली बाल्टी ,एक खाली ड्रम ,एक सफेद बोरे में भरे हुए 152 क्वार्टर देशी शराब, एक प्लास्टिक थैली में पाव पर लगने वाले ढक्कन, रेपर और सील भी जप्त की। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ आबकारी एक्ट का प्रकरण पंजीबद्ध किया है ।एएसपी डॉ राजेश सहाय ने बताया कि आरोपियों से इस काम में शामिल अन्य व्यक्ति के बारे में पूछताछ की जा रही है।

इनकी रही भूमिका
अवैध शराब कारखाना के पर्दाफाश में बड़ावदा थाना प्रभारी SI राजेन्द्र कुमार पवार, अनुराग यादव ,एएसआई गलसिंह भावेल, प्रधान आरक्षक दशरथ पाटीदार, राजेश ,आरक्षक सांवरिया पाटीदार ,कृष्णपाल सिंह ,रवि पाटीदार ,योगेश ,प्रेम ,एलेग्जेंडर आदि का योगदान रहा।