Home मध्यप्रदेश प्रगति आनलाइन में मुख्यमंत्री ने की रतलाम के सीवरेज परियोजना की भी...

प्रगति आनलाइन में मुख्यमंत्री ने की रतलाम के सीवरेज परियोजना की भी समीक्षा, सीएम ने कहा नगरीय निकाय रिस्टोरेशन कार्य पर ध्यान दें और कार्यों की व्यक्तिगत स्तर पर समीक्षा करें कलेक्टर।

भोपाल,20 जनवरी(खबरबाबा.काम)। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि विकास कार्यों के दौरान प्रभावित सड़क, पाईप लाईन आदि के पुन-र्निर्माण कार्य भी साथ-साथ होते रहें। नगरीय निकाय रिस्टोरेशन कार्य भी पूरी गंभीरता के साथ करें। कार्य में किसी प्रकार का विलंब नहीं हो। कार्य गुणवत्तापूर्ण हों। कार्यों की व्यक्तिगत स्तर पर कलेक्टर द्वारा समीक्षा की जाये।
श्री चौहान आज मंत्रालय में प्रगति ऑनलाईन में विकास कार्यों के निर्माण की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होने रतलाम में चल रहे सीवरेज परियोजना की भी समीक्षा की। इस अवसर पर मुख्य सचिव बी.पी. सिंह भी मौजूद थे। श्री चौहान ने नगरीय विकास एवं आवास विभाग अंतर्गत प्रगतिरत योजनाओं, एकीकृत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन ग्वालियर, सीवरेज परियोजना रतलाम, बुरहानपुर, जल आपूर्ति परियोजना होशंगाबाद, जल संसाधनविभाग अंतर्गत गरोठ सूक्ष्म सिंचाई परियोजना मंदसौर और मुरकी मध्यम परियोजना डिण्डौरी, चिकित्सा शिक्षा विभाग अंतर्गत सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक, टीबी- चेस्ट बिल्डिंग और न्यूरो सर्जरी बिल्डिंग जबलपुर और लोक निर्माण विभाग अंतर्गत फंदा-तुमडा-झरखड़ा रोड एवं खजूरी सड़क धामनिया-बकानिया-परवलिया रोड और मंदसौर-संजीत रोड के निर्माण की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि नर्मदा तट के निकट सीवेज ट्रीटमेंट प्लांटों के निर्माण का कार्य इस माह में प्रारंभ हो जाये। नर्मदा जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में समाज की सक्रिय सहभागिता हो। नर्मदा सेवा यात्रा के संकल्पों को दोहराया जाये। नर्मदा सेवा मिशन पर्यावरण चेतना प्रसार का उपक्रम है। नर्मदा सेवा समितियाँ सक्रिय रहें, निरंतर इसकी मॉनीटरिंग की जाये। नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान निर्धारित कार्यों की समीक्षा की जाये। पूजन सामग्री विसर्जन आदि के कार्य नर्मदा जल से हों। इसके लिये पूजन कुण्ड, विसर्जन कुण्ड, घाटों, चेजिंग रूम आदि संधारण के कार्य की समीक्षा की जाये। यह भी देखा जाये कि नर्मदा से पाँच किलोमीटर की परिधि में नशे का कारोबार अवैध रूप से शुरू नहीं होने पाये। उन्होंने महावृक्षारोपण के पौधों की जीवितता का 92 प्रतिशत होने के लिये संबंधितों को बधाई दी। कहा कि ग्रीष्म ऋतु में पौधों के संरक्षण की चुनौती के लिये प्रभावी तैयारियाँ की जायें। उन्होंने एकात्म यात्रा के आयोजन व्यवस्थाओं और नर्मदा जयंती से संबंधित कार्यक्रमों के संबंध में कलेक्टरों से जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव जल संसाधन एवं चिकित्सा शिक्षा श्री राधेश्याम जुलानियश्री मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव लोक निर्माण मोहम्मद सुलेमान और आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास विवेक अग्रवाल एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे।