Home रतलाम बाजना में हुए महिला के अंधे कत्ल का पर्दाफाश, आरोपी गिरफ्तार

बाजना में हुए महिला के अंधे कत्ल का पर्दाफाश, आरोपी गिरफ्तार

रतलाम,7मई (खबरबाबा.काम)। करीब एक सप्ताह पूर्व बाजना में हुए अंधे कत्ल के मामले में पुलिस ने खुलासा करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।पुलिस के अनुसार आरोपी प्रेम प्रसंग में युवती से मिलने गया था। महिला ने उसे देख लिया था, जिसके चलते उसने कुल्हाड़ी से उसकी नृशंस हत्या कर दी।

मामले का खुलासा करते हुए सोमवार को एसपी अमित सिंह ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 29 अप्रैल को रात में बाजना निवासी एतरीबाई की हत्या हुई थी। उसके बेटे ने बताया था कि वह पड़ोसी की छत पर सो रहा था, जबकि मां घर के बाहर खाट पर सोई थी। पिता मजदूरी के लिए राजस्थान में थे। सुबह शोर से जागा तो मां का शव पड़ा था। गले पर धारदार हथियार के दो निशान थे और हाथ का पंजा भी कटा हुआ था। मामले में एसपी अमित सिंह, एएसपी डॉ. राजेश सहाय, एसडीओपी मानसिहं चौहान के निर्देशन में निरीक्षक आनन्द भाबौर के नेतृत्व में टीम गठित की गई। अंधा कत्ल होने से शुरुआत में टीम को दिशा नहीं मिली। मृतिका के पति मांगीलाल व लड़के ओमप्रकाश से पुछताछ करने पर बताया कि आरोपी बहादुर पिता सुखराम 23 वर्ष अधिकांशत: रातो में उनके घर आया करता था। कभी कभी बहाने से यहीं सो भी जाया करता था।

बहादुर पर पुलिस को संदेह होने पर उससे पूछताछ की गई। इस दौरान उसने बताया कि मृतिका के एक रिश्तेदार की बेटी के साथ उसका प्रेम प्रसंग है। लड़की से मिलने के वह उनके घर आया करता था। हत्या वाली रात भी वह उसी लड़की से मिलने चुपचाप आया था, लेकिन एतरीबाई की नींद खुल गई। एतरीबाई को लगा कि घर में चोर घुस आया है और वह शोर मचाने लगी। इस पर गुस्से में बहादुर ने उसे धक्का दिया जिससे वह खाट पर गिर पड़ी। बहादुर ने हाथ में पकड़ी कुल्हाड़ी से गर्दन पर दो वार कर दिए और इसी दौरान वार रोकने में हाथ आगे बढाने पर हाथ का पंजा भी काट दिया। घटना के बाद बहादुर अपने घर गया और वहां खून से सनी कुल्हाड़ी छुपा दी।

टीम को मिलेगा ईनाम- 

अंधे कत्ल की विवेचना में निरीक्षक आनन्द भाबोर, प्रआर प्रभुलाल निनामा, आर नरेन्द्र सिंह, आर सिंह, महेश भंडारी का महत्व पूर्ण योगदान रहा। एसपी ने अच्छा कार्य करने पर नगद पुरस्कार देने की घोषणा की।