Home मध्यप्रदेश बैंक के पूर्व कर्मचारी ने रतलाम के खाताधारक का मोबाइल नम्बर बदलवाया...

बैंक के पूर्व कर्मचारी ने रतलाम के खाताधारक का मोबाइल नम्बर बदलवाया और ओटीपी लेकर गुना ब्रांच से 8 लाख से अधिक रुपए निकाल लिए। रतलाम पुलिस ने राजगढ से मुख्य आरोपी को किया गिरफ्तार, एक की तलाश

रतलाम,16मई(खबरबाबा.काम)। रतलाम जिले के निवासी एक व्यक्ति के बैंक खाते से धोखाधड़ी पूर्वक 8 लाख से अधिक की राशि निकालने के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है।पुलिस ने इस मामले में बैंक के एक पूर्व कर्मचारी को गिरफ्तार किया है,जबकि उसके साथी की तलाश की जा रही है। आरोपियों ने फरियादी के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर को बदलकर ओटीपी हासिल किया और इस पूरे मामले को अंजाम दिया। पुलिस अब इस बात की तह तक पहुंचने की भी कोशिश कर रही है कि आखिरकार खाताधारक का मोबाइल नंबर कैसे चेंज हुआ और इसमें और कौन-कौन लोग शामिल है।

गुरुवार को पुलिस कंट्रोल रूम पर एसपी गौरव तिवारी ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया कि 11 मई को जिले के ग्राम दंतोडा निवासी अविनाश भूरिया ने स्टेशन रोड थाने में 8 लाख 37 हजार रुपए उसके खाते से धोखाधड़ी पूर्व निकालने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। फरियादी के अनुसार उसका फिनो पेमेंट बैंक स्टेशन रोड शाखा पर मर्चेंट खाता है।10 मई को उसके खाते से किसी अज्ञात व्यक्ति ने 8 लाख 37 हजार रूपए निकाल लिए थे । इस मामले में पुलिस ने फरियादी की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया था। एसपी गौरव तिवारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए एएसपी डॉ इंद्रजीत बाकलवार को जांच के निर्देश दिए थे। पुलिस टीम और साइबर सेल ने मामले में जानकारी एकत्रित करना शुरू की एवं फिनो पेमेंट बैंक मुंबई के टेक्निकल अधिकारी का भी सहयोग लिया । जिसके बाद टीम को इस मामले में राजगढ़ ब्यावरा निवासी महेश जाटव और सतीश जाटव द्वारा धोखाधड़ी पूर्वक रुपए निकालने की जानकारी मिली।

मोबाइल नम्बर बदलकर किया पूरा खेल

एसपी गौरव तिवारी ने बताया की जानकारी मिलने पर पुलिस टीम राजगढ़ पहुंची और आरोपी महेश जाटव को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की । पूछताछ में पता चला कि महेश फिनो बैंक का पूर्व कर्मचारी था, इस कारण उससे बैंक की ममहत्वपूर्ण जानकारियां पता थी।जिसका फायदा उठाकर उसने अपने साथी सतीश के साथ मिलकर रतलाम बैंक शाखा में फरियादी के खाता नंबर, आधार कार्ड और मोबाइल नंबर की जानकारी प्राप्त की और किसी तरह फरियादी के मोबाइल नंबर के स्थान पर दूसरा नंबर रजिस्टर कराया और उसका ओटीपी लेकर आरोन ब्रांच गुना से 8,37000 हजार रूपए निकाल लिए । पुलिस ने आरोपी से 7लाख 91 हजार रुपए जप्त कर लिए हैं ।जबकि दूसरों की सतीश की तलाश की जा रही है।