Home देश भोपाल में गरजे ज्योतिरादित्य, कहा- सिंधिया परिवार को ललकार बर्दाश्त नहीं, शुक्रवार को...

भोपाल में गरजे ज्योतिरादित्य, कहा- सिंधिया परिवार को ललकार बर्दाश्त नहीं, शुक्रवार को राज्यसभा का भरेंगे पर्चा

नई दिल्ली,12मार्च2020/भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दामन थामने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार भोपाल पहुंचे. भोपाल पहुंचकर उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शिवराज सिंह चौहन की भी तारीफ की है. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि शिवराज कभी न थकने वाले सीएम रहे हैं.

ज्योतिरादित्य सिंह ने कहा, ‘मेरे लिए आज भावुक दिन है. जिस संगठन और जिस परिवार में मैंने 20 साल बिताए, मेरी मेहनत लगन, मेरे संकल्प जिनके लिए खर्च किया, उन सबको छोड़कर मैं अपने आपको आपके हवाले करता हूं.’

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कुछ लोगों का मकसद राजनीति होती है, माध्यम जनसेवा होती है. लेकिन यह मैं दावे से कह सकता हूं कि अटल बिहारी वाजपेयी हों, नरेंद्र मोदी हों, राजमाता रही हों, या सिंधिया परिवार का वर्तमान मुखिया होने के नाते मैं, हमारा मकसद हमेशा जनसेवा रही है.’

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि पक्ष और विपक्ष में कभी मतभेद नहीं होना चाहिए. शिवराज सिंह हमेशा जनता के समर्पित और जनता के प्रति सब कुछ न्योछावर करने वाला कार्यकर्ता शायद बिरला ही रहा हो. कई लोग कहेंगे कि सिंधिया जी आज ही क्यों कह रहे हैं, मैंने खुले में भी यह बात कही है. मैं संकोच करने वाला शख्स नहीं हूं.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया अब एक हैं. इसलिए अब दो नहीं होना चाहिए. मेरा लक्ष्य अब प्रदेश की जनता का साथ पाना है.

सिंधिया परिवार को ललकार बर्दाश्त नहीं

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, ‘जो सही है, वह सिंधिया परिवार का मुखिया सदैव बोलता है. यह मैं बोल दूं कि सिंधिया की मुखिया को ललकारा था 1967 में, मेरी दादी को, संविद सरकार में क्या हुआ? 1990 में मेरे पूज्य पिता के ऊपर झूठा हवाला कांड किया, उस समय क्या हुआ? और आज जब मैंने अतिथि विद्वानों और किसानों की बात उठाई और मंदसौर में किसानों के ऊपर केस लगी, जो आवाज मैंने उठाई, और मैंने कहा कि जो वचनपत्र में है, उसे पूरा नहीं किया गया तो उसके लिए सड़क पर उतरना होगा. सिंधिया परिवार सत्य के पथ पर चलता है, मूल्य पर चलता है, सिंधिया परिवार को जब ललकारा जाता है तो सिंधिया परिवार जग से भी लड़ सकता है.’|

मेहनत लेकर आया हूं साथ

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, ‘आज मेरा सौभाग्य है कि जिस दल को अपने पसीने और पूंजी के साथ मेरी दादी ने स्थापित किया. जिस दल में 26 साल की उम्र में पहली बार जनसेवा का पथ अपनाकर मेरे पूज्य पिता जी चले आज उसी दल में ज्योतिरादित्य सिंधिया प्यार लेकर उसी दल में आया है. विश्वास रखना मैं केवल एक चीज अपने साथ लेकर आया हूं वो चीज है मेरी मेहनत. मेरा लक्ष्य आपके दिल में स्थान पाना है. मैं विश्वास दिलाता हूं कि जहां आपका एक बूंद पसीना टपकेगा, वहां ज्योतिरादित्य का 100 बूंद पसीना टपकाएंगे.’

एयर पोर्ट पर हुआ भव्य स्वागत

एयरपोर्ट पर उनके स्वागत के लिए हजारों कार्यकर्ता पहले से मौजूद थे. ज्योतिरादित्य सिंधिया का एयरपोर्ट पर जोरदार स्वागत किया गया. उनके साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी एयरपोर्ट पहुंचे थे. यहां से निकलकर सिंधिया रोडशो करते हुए भोपाल स्थित बीजेपी दफ्तर पहुंचे. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने एक बार फिर से उनका जोरदार स्वागत किया.

इससे पहले सिंधिया कार की छत पर बैठकर रोड शो में हिस्सा लेते नजर आए. वो प्रशंसकों का अभिवादन स्वीकार कर रहे थे.

(साभार-आज तक)