Home रतलाम मतदान समाप्ति के 48 घंटे पहले से शराब की बिक्री रहेगी प्रतिबंधित,...

मतदान समाप्ति के 48 घंटे पहले से शराब की बिक्री रहेगी प्रतिबंधित, मतगणना का दिन भी “ड्राय डे” रहेगा

रतलाम 21 नवम्बर 2018 भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय द्वारा राज्य शासन को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान तथा मतगणना के दिन शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए गए हैं। शासन को आयोग के निर्देशों से अवगत कराते हुए बताया गया है कि 28 नवंबर को मतदान एवं 11 दिसंबर को मतगणना होगी। मतदान समाप्ति के 48 घण्टे पूर्व अर्थात 26 नवंबर की सायं 5 बजे से 28नवंबर की सायं 5 बजे तक शुष्क दिवस (ड्राय-डे) घोषित करने के संबंध में आदेश जारी किया गया है। विधानसभा चुनाव की मतगणना 11दिसंबर के दिन भी शुष्क दिवस घोषित करने के निर्देश दिए गए हैं। शुष्क दिवस घोषित करने संबंधी आदेशों से समस्त जिलों को अवगत कराने को भी कहा गया है।

आयोग ने लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम1951 के तहत मतदान के दिन शराब के विक्रय,वितरण को प्रतिबंधित करते हुए संबंधित विधिक प्रावधानों का सख्ती से पालन कराने को कहा है। किसी निर्वाचन क्षेत्र में मतदान समाप्त होने के लिए नियत समय के साथ समाप्त होने वाली 48घंटे की अवधि के दौरान उस मतदान क्षेत्र के भीतरहोटलभोजनालयपाठशालादुकान में अथवा किसी अन्य पब्लिक या प्रायवेट स्थल पर कोई भी स्पिरिटयुक्तकिण्वित या मादक लिकर अथवा वैसी ही प्रकृति का अन्य पदार्थ न तो विक्रय और न ही वितरित किया जाएगा। इसका उल्लंघन करने वाले व्यक्ति को 6 माह के कारावास की सजा अथवा दो हजार रुपये के जुर्माने से या दोनों से दण्डित किया जा सकेगा।

 लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत शराब की बिक्री और वितरण पर रोक लगाये जाने के साथ ही मतदान समाप्त होने के नियत समय के साथ समाप्त होने वाले 48 घंटे की अवधि के दौरान शुष्क दिवस घोषित किए जाने की अधिसूचना भी जारी होगी। यह व्यवस्था पुर्नमतदानों के दिनों में भी लागू होगी। मतगणना के दिन भी राज्य के संबंधित कानूनों के अंतर्गत शुष्क दिवस घोषित होगा। उपरोक्त अवधि में मदिरा की दुकानेंवाईन शापशासकीय देशी मद्यभण्डागारहोटलरेस्टोरेंटक्लब एण्ड अन्य सैलिंग पाइंटसर्विस पाइंट आदि में शराब की बिक्री-सेवा की अनुमति नहीं होगी।

 गैर मालिकाना क्लबस्टार होटल,रेस्टोरेंट आदि ऐसे होटल जिनके पास विभिन्न श्रेणियों की मदिरा प्राप्त तथा प्रदाय करने के लायसेंस हैंउन्हें भी उपरोक्त दिवसों में शराब बेचने आदि की अनुमति नहीं होगी। उक्त अवधि के दौरान शराब के भण्डारण में कटौती के निर्देश दिए गए हैं। बिना लायसेंस परिसर में शराब के भण्डारण पर आबकारी कानून के प्रतिबंध को सख्ती से लागू कराने को कहा गया है। सभी जिला कलेक्टर को आयोग के निर्देशों का प्रभावी ढंग से पालन कराने के निर्देश दिए गए हैताकि स्वतंत्रनिष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन संपन्न हो सके। प्रर्वतन एजेंसी को इसके लिए उचित एवं कानूनी तौर पर प्रभावी कदम उठाने के लिए भी निर्देशित करने को कहा गया है।