Home मध्यप्रदेश मध्यप्रदेश: राज्यसभा चुनाव के बाद मंत्रिमंडल विस्तार की कवायद फिर शुरू,...

मध्यप्रदेश: राज्यसभा चुनाव के बाद मंत्रिमंडल विस्तार की कवायद फिर शुरू, 25-26 नामों पर चर्चा

भोपाल, 23 जून2020/राज्यसभा चुनाव के बाद अब मध्यप्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर एक बार फिर कवायद शुरू हो गई है। एक-दो दिन के भीतर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत के बीच 25-26 नामों को अंतिम रूम देने के लिए एक बार फिर चर्चा होगी।

नामों को अंतिम रूप प्रदान करने से पहले प्रदेश संगठन दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा व राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष से चर्चा करेगा। सीएम चौहान भी इस संबंध में दिल्ली जा सकते हैं।

दूसरी तरफ सूबे में चर्चा है कि राज्यपाल के अस्वस्थ होने से मंत्रिमंडल का विस्तार कैसे किया जाएगा। बताया गया है कि राज्यसभा चुनाव से दो सप्ताह पहले पार्टी और सीएम ने जातिगत और क्षेत्रीय समीकरण का ख्याल रखते हुए नाम चिन्हित किए हैं।

इसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों का नाम भी शामिल है। इसलिए नामों पर आखिरी निर्णय के लिए सूची को दिल्ली भेजा जाएगा, जहां पार्टी आलाकमान इस पर मुहर लगाएगा। प्रदेश संगठन प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे से चर्चा कर ली गई है। अब नड्डा और संतोष से बातचीत बाकी है।

राज्यपाल की अनुमति से बाधित हो रहे कार्यों को राज्य सरकार करेगी
वहींं, कांग्रेस नेता व सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता विवेक तन्खा ने कहा है कि राज्यपाल लालजी टंडन के अस्वस्थ होने से प्रदेश में वैधानिक कार्य प्रभावित हो रहे हैं। ऐसे हालात में संविधान के अनुच्छेद 153 के अनुसार, राज्यपाल की अनुमति से बाधित हो रहे कार्यों को राज्य सरकार करेगी। अनुच्छेद 160 में प्रावधान है कि राज्यपाल अस्वस्थ हैं तो राष्ट्रपति उनका प्रभार कार्यवाहक राज्यपाल के तौर पर हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को सौंप सकते हैं। दूसरे राज्य के राज्यपाल को भी अतिरिक्त प्रभार सौंपा जा सकता है।

राज्यपाल के ओएसडी एमएल दुबे ने बताया कि मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर सरकार की तरफ से कोई सूचना नहीं दी गई है। अगर ऐसा कोई भी प्रस्ताव आता है तो उस पर विचार किया जाएगा। फिलहाल जुलाई में होने वाले विधानसभा सत्र के लिए राज्यपाल की अनुमति से ही अधिसूचना जारी की गई है।

राज्यपाल की हालत में हुआ थोड़ा सुधार
वहीं, मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की हालत में शनिवार को भी मामूली सुधार हुआ। हालांकि अब भी उन्हें वेंटिलेटर पर ही रखा गया है। लखनऊ स्थित मेदांता हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. राकेश कपूर ने बताया कि टंडन के ब्लड और यूरिन संबंधी जांच रिपोर्ट के पैरामीटर में शनिवार को सुधार नजर आया।

चिकित्सा विशेषज्ञों की टीम उनकी पल-पल की निगरानी कर रही है। टंडन 11 जून से मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती हैं।

(साभार-अमर उजाला)