Home रतलाम माणकचौक क्षैत्र में दिनदहाड़े 75 वर्षीय वृध्द से ठगी, धोखे से सोने...

माणकचौक क्षैत्र में दिनदहाड़े 75 वर्षीय वृध्द से ठगी, धोखे से सोने की चेन और दो अंगुठी ले गए बदमाश, दोस्त की दुकान पर बैठे वृध्द को बाहर बुलाया और वारदात होने का डर दिखाकर आभूषण उतरवाए, सीसीटीवी कैमरे में केद हुए संदिग्ध।

 

रतलाम,4 फरवरी(खबरबाबा.काम)। माणकचौक थाना क्षैत्र अंतर्गत रविवार को माणकचौक मेन रोड पर दो अज्ञात बदमाशों ने एक 75 वर्षीय वृध्द के साथ ठगी की वारदात की। बदमाश वृध्द से एक पेंडल वाली सोने की चेन और दो अंगुठी, जिसमें पन्ना औ पुखराज का नग था, धोखे से ले गए। पुलिस ने वृध्द की शिकायत पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ धारा 420 के तहत धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया है। शहर में इस तरह की यह पहली वारदात नहीं है, इसके पूर्व भी इस तरह की वारदातें हो चुकी है। हाल ही में 8 दिसम्बर को बदमाशों ने इसी तरह से एक वृध्दा के साथ भी ठगी की थी, जिसके आरोपी भी अभी तक पकड़ में नहीं आए है।

जानकारी के अनुसार ठगी की वारदात रविवार सुबह करीब 11:20 बजे नागरवास निवासी सूर्यप्रकाश पिता उत्तमनारायण तंवर 75 वर्ष के साथ हुई। आप लोक निर्माण विभाग से सेवानिवृत है। श्री तंवर ने पुलिस को की गई शिकायत में जो बताया उसके अनुसार रविवार सुबह वे अपने दोस्तों ने मिलने घर से माणकचौक गए थे। माणकचौक में वह फकरी बुट हाउस पर अपने दोस्त फखरुद्दीन के पास बैठकर बात कर रहे थे।  इसी दौरान एक व्यक्ति फरियादी के पास आया और बोला कि आपकों शर्माजी बुला रहे है। वृध्द उस व्यक्ति के साथ दुकान के बाहर आए। दुकान से कुछ दुरी पर ही मोटर साइकल लेकर एक व्यक्ति खड़ा था। वृध्द के अनुसार उस व्यक्ति ने उनसे कहा कि पता नहीं शहर में कितनी वारदातों हो रही है और आप इतना सोना पहनकर घुम रहे है। उक्त व्यक्ति ने सोने के आभूषण उतारकर रुमाल में रखने को कहा। जब फरियादी ने रुमाल होने से इंकार किया तो बदमाश ने स्ंवय के पास से रुमाल निकाला और कहा कि इसमें जो कोई किमती वस्तु हो वह रख दो। बदमाशों की बातों में आकर वृध्द ने सोने की चेन जिसमें नवरत्न नग का पेंडल था और पुखराज और पन्ने के नग वाली दो सोने की अंगुठी, मोबाइल और दो हजार रुपए नगद रख दिए। इसके बाद बदमाशों ने रुमाल बांधकर वृध्द को दे दिया और डालुमोदी बाजार की और चले गए। फरियादी वापस आकर अपने दोस्त की दुकान पर बैठ गया और वहां रुमाल खोलकर देखा तो मोबाइल और रुपए तो उसमें रखे थे, लेकिन चेन और अंगुठी गायब थी। इसके बाद फरियादी को ठगी का अहसास हुआ और उन्होने माणकचौक थाने जाकर मामले की शिकायत की। पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ धारा 420 के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

सीसीटीवी कैमरे में हुए कैद

वृध्द  के अनुसार बदमाशों की उम्र 30 से 40 वर्ष के लगभग थी। एक आरोपी हष्ट-पुष्ट था। पुलिस ने क्षैत्र में लगे सीसीटीवी कैमरे भी चैक किए, जिसमें संदिग्ध नजर आ रहे है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

 पूर्व में भी हो चुकी है वारदातें

शहर में इस तरह की यह पहली वारदात नहीं है। पूर्व में भी नकली पुलिस अफसर बनकर ठगी की वारदाते हो चुकी है। हाल ही में 8 दिसम्बर को भी दो बदमाशों ने दिनदयाल नगर निवासी एक वृध्दा को ठगी का शिकार बनाया था और उसे एक लाख रुपए बताकर कोरे कागज की गड्डी थमाकर सोने के आभूषण ले गए थे। इस मामले में भी पुलिस आरोपियों का पता नहीं लगा पाई है।