Home रतलाम रतलाम:जिला संकट प्रबंधन समूह की बैठक संपन्न,विस्तार से पढिए-अनलाक को लेकर ...

रतलाम:जिला संकट प्रबंधन समूह की बैठक संपन्न,विस्तार से पढिए-अनलाक को लेकर लिए गए कौन से निर्णय

News by-Sourabh kothari

रतलाम 6 जून 2021/ जिला संकट प्रबंधन समूह की बैठक प्रदेश के वित्त मंत्री तथा जिले के कोविड प्रभारी मंत्री श्री जगदीश देवड़ा के अध्यक्षता में संपन्न हुई।

 

बैठक में  कलेक्टर श्री कुमार पुरुषोत्तम द्वारा कोरोना संक्रमण नियंत्रण की अद्यतन स्थिति से अवगत कराया गया। वर्षा ऋतु आगमन तथा मजदूरों के रोजगार के दृष्टिगत निर्णय लिया गया कि 7 जून से निजी निर्माण कार्यों को चालू करने की अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा जिले की मंडियों में सभी जींस के व्यापार  हेतु भी सहमति बनी। इस संबंध में आदेश शीघ्र जारी किया जाएगा।

रतलाम जिले में लगभग पौने दो प्रतिशत संक्रमण दर तथा प्रदेश में तीसरे स्थान के दृष्टिगत बाकी पुरानी बैठक के निर्णय यथावत रखने पर सहमति बनी। बताया गया कि जिले में कोरोना की स्थिति की सतत समीक्षा की जाएगी और अनुकूल पाए जाने पर लगभग 1 सप्ताह में अन्य सभी प्रतिबंध में छूट देने का निर्णय आगामी बैठक में लिया जाएगा। इसके लिए सभी नागरिकों से आग्रह किया गया है कि वे कोविड-19 टीका अवश्य लगवा ले। इस स्थिति में प्रतिबंधों को हटाने में कोई बाधा नहीं रहेगी।

प्रभारी मंत्री श्री जगदीश देवड़ा ने बैठक में कहा कि जिले में संक्रमण पर नियंत्रण के लिए मास्क उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अत्यंत आवश्यक है। यदि एक भी नया केस आता है तो वह चिंताजनक होता है। कोरोना कर्फ्यू में रतलाम जिले की जनता ने भरपूर सहयोग दिया है। प्रभारी मंत्री ने निर्देश दिए कि जिले में ब्लैक फंगस के उपचार की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। बताया गया कि ब्लैक फंगस के मरीजों को उपचार के लिए आगे जहां भी रेफर करना होगा इसकी व्यवस्था रहेगी।

बच्चों के उपचार के लिए बताया गया कि मेडिकल कॉलेज में 20 बेड तथा जिला चिकित्सालय में 20 बेड की व्यवस्था है, इनमें वेंटिलेटर व्यवस्था सम्मिलित है। प्रभारी मंत्री श्री देवड़ा ने कोरोना मरीज उपचार तथा ब्लैक फंगस उपचार के लिए पूरे जिले हेतु आगामी कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए।

सांसद श्री सुधीर गुप्ता ने कहा कि मंदसौर-जावरा संसदीय क्षेत्र में ऑक्सीजन की समुचित व्यवस्था हेतु 9 या 10 ऑक्सीजन प्लांट उपलब्धता सुनिश्चित हो रही है। हमारा प्रयास है कि हर एक प्लांट के साथ कम से कम 50 बेड की व्यवस्था हो। प्रभारी मंत्री द्वारा ऑक्सीजन प्लांट के साथ-साथ सिलेंडर की समुचित व्यवस्था के भी निर्देश दिए गए। बैठक में विधायक श्री चैतन्य काश्यप तथा डॉ. राजेंद्र पांडे द्वारा ऑक्सीजन एवं बेड प्रबंधन कोरोना तथा ब्लैक फंगस के मरीजों के उपचार एवं कोरोना कर्फ्यू प्रतिबंध खोलने के संबंध में तर्कसंगत उपयोगी सुझाव दिए गए। विधायक श्री दिलीप मकवाना ने ग्रामीण क्षेत्र में संस्थागत चिकित्सा के समुचित प्रबंधन पर अपनी बात कही व सुझाव दिया। श्री राजेंद्रसिंह लूनेरा तथा श्री गोविंद काकानी द्वारा भी उपयोगी सुझाव दिए गए।

बैठक के प्रारंभ में प्रभारी मंत्री श्री देवड़ा ने जिले में कोरोना संक्रमण नियंत्रण तथा संबंधित बिंदुओं की  जानकारी प्राप्त की। स्वास्थ्य विभाग की ओर से डॉ. प्रमोद प्रजापति द्वारा पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन दिया गया।

बैठक में सांसद श्री सुधीर गुप्ता, विधायक श्री चैतन्य काश्यप, डॉ. राजेंद्र पांडे, श्री दिलीप मकवाना, श्री राजेंद्रसिंह लुनेरा, श्री गोविंद काकानी, कलेक्टर श्री कुमार पुरुषोत्तम, पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती मीनाक्षीसिंह तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।