Home Uncategorized रतलाम की स्वच्छता को लेकर जनता से लिया जाएगा फीडबैक ,कलेक्टर ने...

रतलाम की स्वच्छता को लेकर जनता से लिया जाएगा फीडबैक ,कलेक्टर ने ली स्वास्थ्य अमले की बैठक

रतलाम(खबरबाबा.काम)। कलेक्टर श्रीमति तन्वी सुद्रियाल ने गुरुवार को रतलाम शहर को स्वच्छ बनाने के सभी आयामों पर विस्तार से चर्चा कर शहर के दारोगा की बैठक लेकर निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि रतलाम की स्वच्छता को लेकर जनता से फीडबैक लिया जाएगा। नागरिकों की फीडबैक तय करेगा कि रतलाम शहर स्वच्छ है या नहीं।
बैठक में निगमायुक्त एस.के.सिंह ने बताया कि रतलाम शहर के 49 वार्डो में चार जोन है जिनमें हर जोन में वार्डो का वितरण किया गया है। हर वार्ड में लगभग 17 सफाई कर्मचारी है जिनके काम की निगरानी का जिम्मा दारोगा का है। सफाई कर्मचारियों की बायोमेट्रिक आधार पर उपस्थिति दिन में 4 बार ली जाती है। कलेक्टर ने कहा कि सफाई कर्मचारियों का मानदेय हर हाल में बायोमेट्रिक अटेंन्डेस के आधार पर ही प्रदान किया जाए अटेंन्डेंस लिए जाने की व्यवस्था के जिला स्तरीय अधिकारी निगरानी करें।
अटेण्डर कचरा ले और फिर आगे बढे
निगमायुक्त ने बताया कि शहर में हर वार्ड के लिए कचरा वाहनों की व्यवस्था है इसके साथ-साथ 4 डम्पर, 4 ट्रेक्टर आदि उपलब्ध है जिनके द्वारा कचरा संग्रहण का कार्य किया जा रहा है । कलेक्टर ने निर्देशित किया कि कचरा इक_ा करने वाले वाहनों में बैठा अटेन्डर कचरा फैकने वालों के घरों की घंटी बजाए तथा वाहन कचरा लेने के बाद ही वाहन आगे बढ़ाए, अटेन्डर को सौंपे गए कार्य न करने पर सेवा से पृथक किया जाए और उनके स्थान पर काम करने वालें लोगों की नियुक्ती की जाए ा जान बुझकर कचरा इधर-उधर फैकने वाले लोगों से जुर्माना वसूला जाए। शहर के दारोगा ने बताया कि जुर्माना वसूलने की स्थिति में लोगों द्वारा राजनैताओं से बात कराकर दबाव बनाया जाता है कलेक्टर ने स्पष्ट किया कि कर्मचारी अपना कार्य ईमानदारी से करें आवश्यकतानुसार संरक्षण दिया जाएगा। जानबूझकर शहर में गंदगी करने वाले लोगों से जुर्माना वसूलने के साथ उनका फोटो खीचा जाए तथा ऐसे लोगों का फोटो नाम सहित समाचार पत्र में प्रकाशित किया जाए ताकि स्वच्छता के लिए अनुकूल वातावरण बन सकें।
कचरा संग्रहण वाहनों में लगेगें जीपीएस सिस्टम
कर्मचारियों ने बताया कि शहर के माणक चौक क्षेत्र में एक अतिरिक्त वाहन की आवश्यकता है । कलेक्टर ने अतिरिक्त वाहन की स्वीकृति देते हुए सभी कचरा वाहनों में जीपीएस लगाने के निर्देश दिए । मुख्य रूप से कचरें का संग्रहण और उसका परिवहन कचरा निष्पादन की प्रक्रिया नालियों की स्वच्छता, जनसामान्य का स्वच्छता के प्रति योगदान आदि मानकों के आधार पर शहर के स्वच्छ होने का प्रमाणन हो सकेंगा।
कलेक्टर ने मुख्य रूप से झुग्गी बस्ती क्षैत्र नियोजित अनियोजित कॉलोनी, औद्योगिक क्षैत्र, वाणीज्यक क्षैत्र मुख्य बाजार, मण्डी स्थलों धार्मिक स्थानों, बस स्टेण्ड, रेल्वे स्टेशन होटल, शादी हाल, सामुदायिक शौचालयों जेसी जगहों पर स्वच्छता के पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए। निगमायुक्त ने बताया कि रतलाम शहर में 24 ऐसे स्थानों का चिन्हांकन किया गया है, जहा पर लोग नियमित रूप से खुलें में शौच कर रहें है। कलेक्टर ने मुख्य रूप से जवाहर नगर से अलकापुरी के मार्ग पर 80 फीट रोड़ के क्षेत्र तथा अन्य सभी क्षेत्रों में सामुदायिक शौचालय बनाने को कहा है, कलेक्टर ने स्पष्ट किया कि जिन घरों में अब तक शौचालय नहीं है उनके आवेदन लेकर शौचालय निर्माण का कार्य करा लिया जाए। स्वच्छता के लिए शहर के धार्मिक संघो, स्वयं सेवी संस्?थाओं, स्कूल संचालकों अस्पताल संचालकों, पेट्रोल पंप संचालकों आदि की बैठक कर स्वच्छता का कार्य अध्ययन के रूप में सम्पन्न किया जाए निकलने वाले कचरें का कम्पोस्ट बनाकर उसका उपयोग कराया जाए
कर्मचारियेां ने बताया कि शहर के नागरिक नालियों की सफाई के लिए, नाली पर ढ़के पत्थरों को नही हटाने देते है कलेक्टर ने कहा कि इस कार्य में आवश्यकतानुसार एसडीएम तथा पुलिस की सहायता उपलब्ध कराई जाएगी, सफाई के कार्य में सहयोग न करने वालों पर जुर्माना आरोपित किया जाए तथा नाली की सफाई के बाद उस पर जाली लगा दी जाए ताकि नियमित रूप से सफाई की जा सकें। कर्मचारियों द्वारा हाथ ठेलागाड़ी की कमी बताई गई इस पर कलेक्टर ने निगमायुक्त को उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने शहर में घूम रहें आवारा मवेशीयों को पकड़कर हटाने के निर्देश दिए।