Home रतलाम रतलाम: तेंदुआ पकड़ने के दौरान नष्ट हुई खेत में खड़ी फसल,नहीं मिला...

रतलाम: तेंदुआ पकड़ने के दौरान नष्ट हुई खेत में खड़ी फसल,नहीं मिला मुआवजा,जनसुनवाई में आए 70 आवेदन

रतलाम 11 फरवरी 2020/ जिला स्तरीय जनसुनवाई मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संपन्न हुई। जनसुनवाई में संयुक्त कलेक्टर श्री एम.एल. आर्य, डिप्टी कलेक्टर सुश्री शिराली जैन ने 70 आवेदनों की सुनवाई करते हुए निराकरण के निर्देश संबंधित विभागों को जारी किए।

जनसुनवाई में होमगार्ड कालोनी निवासी बिस्मिल्ला बी ने आवेदन देते हुए बताया कि उनका पुत्र अनवर खान मैकेनिकल वर्कशाप में कार्य करता था जिसकी कार्य के दौरान करंट लगने से मौत हो गई थी। उसके परिवार में लालन-पालन करने वाला कोई नहीं बचा है, अतः आर्थिक सहायता प्रदान की जाए। प्रकरण निराकरण हेतु एसडीएम शहर को भेजा है। ग्राम बडायला निवासी शंकरलाल कुलम्बी ने आवेदन दिया कि गत दिनों ग्राम बडायला माताजी में वन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा तेंदुआ पकडने के दौरान उसके खेत में खडी गेहूं की फसल नष्ट हो गई थी। पटवारी को शिकायत करने पर पटवारी द्वारा मौके का पंचनामा भी बनाया गया था परन्तु आज दिनांक तक उसे मुआवजा राशि प्राप्त नहीं हुई है। प्रकरण निराकरण हेतु तहसीलदार पिपलौदा को भेजा गया है।

टाटा नगर निवासी श्रीमती बबीता पति प्रमोद  ने आवेदन में कहा कि प्रार्थिया की दो पुत्रियां हैं जिसमें से एक पुत्री कक्षा 8 वीं पास है तथा दूसरी पुत्री का केन्द्रीय विद्यालय में एडमिशन कराना चाहते हैं परन्तु मेरे पति प्रायवेट नौकरी करते हैं तथा केन्द्रीय विद्यालय द्वारा मेरी पुत्री को एडमिशन नहीं दिया जा रहा है। प्रकरण निराकरण हेतु प्रिंसीपल केन्द्रीय विद्यालय को भेजा गया है। जावरा रोड काजीखान मस्जिद निवासी रजिया सिद्दिकी ने अपने आवेदन में बताया कि उनके क्षेत्र में कुछ लोगों द्वारा सार्वजनिक सडक पर अनाधिकृत रुप से कब्जा करते हुए पक्के बाथरुम का निर्माण कर लिया है जिससे रोड पर तथा उनके घर के बाहर गंदगी हो जाती है। मेरे द्वारा विरोध करने पर मुझे धमकी दी जाती है। मैं अपनी पुत्री के साथ इस क्षेत्र में निवास करती हूं। प्रकरण निराकरण हेतु नगर निगम को भेजा गया है।

रामदेवजी की घाटी निवासी गौरी सिसौदिया ने जनसुनवाई में आवेदन देते हुए बताया कि प्रार्थी ने सहारा बैंक में दिनांक 25.5.2012 को एक एफडी करवाई थी तथा उसे तुडवाने हेतु बैंक जाने पर बैंक द्वारा रुपए देने से मना कर दिया गया और कहा जाता है कि एफडी आगे बढवा लो। प्रकरण निराकरण हेतु लीड बैंक अधिकारी को भेजा गया है। जनसुनवाई में रावटी तहसील के ग्राम भीमपुरा निवासी शैतान, राजेश ममता, सीता ने आवेदन देते हुए बताया कि हम सभी मजदूरों द्वारा नगर निगम अन्तर्गत नाली कार्य किया गया था परन्तु ठेकेदार द्वारा हमें 30 दिनों की मजदूरी लगभग 30 हजार रुपए नहीं दी जा रही है और आज-कल करते हुए एक वर्ष बिता दिया है। हमारी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, कृपया ठेकेदार से राशि दिलवाई जाए। प्रकरण निराकरण हेतु श्रम विभाग को भेजा गया है।