Home रतलाम रतलाम: नवागत कलेक्टर ने संभाला काम, आते ही एक्शन मोड में ली...

रतलाम: नवागत कलेक्टर ने संभाला काम, आते ही एक्शन मोड में ली अधिकारियों की बैठक, कहा- रतलाम को कोरोना की इस स्थिति से हर हाल में बाहर लाना है,इसके लिए कितनी भी सख्ती करना पड़े, जानिए नए कलेक्टर ने साफ-साफ शब्दो में और क्या कहा

रतलाम,9मई(खबरबाबा.काम)/ जिले के नवागत कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने रविवार को रतलाम पहुंचकर काम संभाल लिया। इसके बाद उन्होने कोरोना को लेकर रतलाम शहर और जिले की स्थिति के बारे में जानकारी ली और अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना नियंत्रण के लिए आवश्यक निर्देश भी दिए।

नवागत कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम कुमार रविवार दोपहर करीब 1:30 बजे कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां एसपी गौरव तिवारी, एडीएम जमुना भीड़ एवं अन्य अधिकारी भी मौजूद थे। पहले नवागत कलेक्टर ने एसपी गौरव तिवारी के साथ चर्चा की। उसके बाद कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक ली।

हर हाल में संक्रमण कम करना है

नवागत कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने बैठक में साफ कहा कि मेरा काम आज से शुरू होता है। इसके पहले किस ने क्या किया ,अच्छा किया, बुरा किया इसमें मुझे कोई रुचि नहीं है।

नवागत कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि मैं साफ बोलता हू। यदि मैंने कुछ कहा है तो वो मेरी जिम्मेदारी है, आप भी बेझिझक बोल सकते है कि कलेक्टर ने बोला है। इसमें कोई संकोच की बात नहीं है।आपकों काम करना हैभलाई-बुराई मेरे जिम्मे रहेगी।कलेक्टर ने कहा कि मैं यह इसलिए बोल रहा हूं कि यह टफ टाइम है। रतलाम जैसे जिले में कम जमसंख्या के बावजूद रोज 400 प्रकरण आ रहे है तो इसका मतलब है कि लोग दायित्वों को पूरा करने में संकोच कर रहे है।संकोच के क्या कारण है, मुझे नहीं पता।तीन-चार दिन काम करने पर मुझे पता चलेगा।

नवागत कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने बैठक में कहा कि रतलाम को कोरोना की वर्तमान परिस्थिति से हमें बाहर निकालना है।इसके लिए हर आदमी का सुझाव और सहयोग जरूरी है।मुझे यह काम हर हाल में करना है।उन्होंने कहावत का उदाहरण देते हुए कहा कि फिर चाहे तुम्हारे साथ, तुम्हारे बिना, या तुम्हारे बावजूद।लेकिन हमें रतलाम को इस स्थिति से बाहर लाना है। और इन स्थितियों में आप सभी के सहयोग से यह काम करना है।

नवागत कलेक्टर ने कहा कि सब लोग मेहनत से काम कर रहे हैं. लेकिन हमें देखना है कि हमें किस क्षेत्र में और कहां पर ज्यादा काम करने की जरूरत है।उन्होंने गुना का उदाहरण देते हुए कहा कि गुना में उन्होंने टीकाकरण पर विशेष ध्यान दिया।जिसका असर यह रहा कि आज गुना में 45 प्लस उम्र के 80 परसेंट लोग वैक्सीनेट हो चुके हैं और वहां स्थिति काफी नियंत्रण में आई है।

नलागत कलेक्टर ने अधिकारियों और कोरोनाकाल में काम कर रहे लोगों का उत्साह वर्धन करते हुए यह भी कहा कि सब दिन रात काम में लगे हुए हैं। ऐसी आपदा 100-200 साल में एक बार आती है।ऐसे में हमारी जनरेशन को काम करने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि महत्वपूर्ण पदों पर बैठने के बाद आप यह सोचकर अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकते कि आप भी संक्रमित हो सकते है।काम करते हुए आप संक्रमित हो सकते हैं आप का इलाज भी होगा ,लेकिन आपको अपनी जिम्मेदारी भी निभानी है।नवागत कलेक्टर ने कहा कि रतलाम में कोरोना संक्रमण कम करने के लिए जितनी सख्ती करना पड़े,करें। यदि 10-15 दिन की सख्ती से भविष्य सुधरता है तो सभी मान्य है।

खबर लिखे जाने तक नवागत कलेक्टर बैठक ले रहे थे और मौजुद अधिकारियों से जानकारी लेकर आवश्यक निर्देश भी दे रहे थे।समाचार में अपडेट जारी रहेगा।