Home Uncategorized रतलाम पुलिस को मिली सफलता-अवैध हथियारों के सौदागर गिरफ्तार ,तीन आरोपियों...

रतलाम पुलिस को मिली सफलता-अवैध हथियारों के सौदागर गिरफ्तार ,तीन आरोपियों से 5 पिस्टल जब्त, एक आरोपी की तलाश जारी,स्टेन गन की भी हुई थी खरीदी, जानिए क्या है पुरा मामला-

रतलाम, 15जुलाई(खबरबाबा.काम)। रतलाम पुलिस को अवैध हथियारों के सौदागरो को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है ।पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे 5 अवैध पिस्टले जब्त की है। एक आरोपी की पुलिस तलाश कर रही है।

रविवार को एसपी गौरव तिवारी ने पुलिस कंट्रोल रूम पर पुलिस को मिली सफलता के बारे में जानकारी दी। जिले में अवैध हथियारों की खरीद फरोख्त होने की जानकारी मिलने पर एसपी गौरव तिवारी द्वारा अवैध हथियारों के तस्करों को पकड़ने के निर्देश दिए गए थे ।एसपी के निर्देश पर एएसपी डॉ. राजेश सहाय और जावरा सीएसपी आशुतोष बागरी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया।

मुखबिर से सूचना पर पकड़ा

एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि अवैध हथियारों का तस्कर सिकंदर खान अवैध रूप से पिस्टल लिए अजमेरी गेट के पास घूम रहा है। मुखबिर सुचना के आधार पर पुलिस ने अजमेरी गेट जावरा से सिकंदर को हिरासत में लिया और उसके कब्जे से 32 बोर का एक देसी पिस्टल मय मैगजीन के जप्त किया ।जिसकी कीमत दस हजार रुपए के लगभग है ।पुलिस ने सिकंदर के खिलाफ आर्म्स एक्ट का प्रकरण पंजीबद्ध कर उसे रिमांड पर लिया।

पूछताछ में हुआ खुलासा

एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि आरोपी सिकंदर से पूछताछ करने पर उसने बताया कि करीब 1 वर्ष पूर्व बाबू मस्तान निवासी उज्जैन के साथ ग्राम सिंघान के जालिम सिंह से तीस हजार में एक स्टेन गन और पांच पिस्टले खरीदी थी, जिसमें से स्टेन गन बाबू मस्तान ने अपने पास रखी थी। इसके अलावा दो पिस्टल आजाद उर्फ बबलू पठान निवासी हतुनिया जिला प्रतापगढ़ को 15 हजार रुपए में बेची थी ।एक पिस्टल गफ्फार खान निवासी जावरा को 15 हजार रुपए में बेची थी ।दो पिस्टल आरोपी सिकंदर ने अपने पास रखी थी। आरोपी से पूछताछ के आधार पर पुलिस ने सिकंदर के घर से एक और पिस्टल जब्त की। पुलिस ने गफ्फार पिता आसिफ खान को भी गिरफ्तार कर उसके पास से 32 बोर की पिस्टल जप्त की ,वही आजाद उर्फ भय्यू पठान से भी 32 बोर की पिस्टल जप्त की गई ।एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि आरोपी बाबू मस्तान को उज्जैन स्थित घर पर तलाश किया गया ,जहां वह नहीं मिला। उसकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं ।पुलिस के अनुसार आरोपी सिकंदर के खिलाफ जावरा और रिंगनोद थाने में चोरी और अवैध हथियार के प्रकरण पूर्व में भी पंजीबद्ध है।

इनकी रही भूमिका

अवैध हथियारों की खरीद फरोख्त करने वाली गैंग का पर्दाफाश करने में जावरा सीएसपी आशुतोष बागरी ,जावरा थाना प्रभारी श्याम चंद शर्मा ,एएसआई एम एल बड़ोदिया ,प्रधान आरक्षक दिनेश भदौरिया, आरक्षक हर्षवर्धन सिंह, ओमप्रकाश जाट, विष्णु लाल सिंह, नरेंद्र हाडा और चालक कैलाश मालवीय की महत्वपूर्ण भूमिका रही।