Home रतलाम रतलाम पुलिस को मिली सफलता,लूट की वारदात का मास्टर माइंड और दो...

रतलाम पुलिस को मिली सफलता,लूट की वारदात का मास्टर माइंड और दो अन्य फरार आरोपी गिरफ्तार,आरोपियों ने लूट की दो और वारदातें कबूली

रतलाम,12 जनवरी(खबरबाबा.काम)। फाइनेंशियल कंपनी के कर्मचारियों से लूट के मामले में करीब 1 महीने की मशक्कत के बाद पुलिस ने मास्टर माइंड और 2 अन्य फरार आरोपियों को धरदबोचा है। मास्टर माइंड ने साथियों के साथ मिलकर मलेनी नदी के पास 4 अगस्त को और बड़ायलामाताजी रोड पर 3 अक्टूबर को वारदात करने की बात भी कबूल की है। आरोपियों ने पहली लूट की घटना के बाद नई बाइक भी खरीदी थी जिसे दूसरी लूट में इस्तेमाल भी किया। पुलिस ने बाइक को भी जप्त कर लिया है। 
शुक्रवार दोपहर पुलिस कंट्रोल रूप पर पत्रकार वार्ता में एसपी अमित सिंह ,एएसपी राजेश सहाय और एएसपी प्रदीप शर्मा ने बताया कि 11 दिसंबर को ग्राम बड़ौदा फंटा व मेवासा गांव के नाले के पास शाम को महेंद्र फाइनेंस के हाकिमवाड़ा निवासी हेमेंद्रसिंह सिसोदिया और जावरा निवासी स्वदेश पंवार बाइक पर 4 लाख 18 हजार रुपए कलेक्शन कर रतलाम लौट रहे थे। फंटे पर बाइक पर सवार दो बदमाश रोंग साईड से आए और कर्मचारियों को लात मारकर गिरा दिया एवं बैग छीनकर भाग निकले। बैग में 4 लाख 18 हजार रुपए रखे हुए थे। इस मामले में पुलिस ने पहले 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद एएसपी प्रदीप शर्मा, एएसपी डॉ. राजेश सहाय, एसडीओपी ग्रामीण संजीव मूले, एसडीओपी डीआर माले के निर्देशन में थाना प्रभारी नामली पुलिस और पिपलौदा थाना प्रभारी आरसी भाटी की टीम गठित की गई थी। पूछताछ में हुए खुलासे और लगातार सर्चिंग के बाद गुरुवार को 3 अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। इसमें परमानंद पिता समरथ निवासी चौरासीबड़ायला जो गैंग का मुख्य सरगना है। राजकुमार पिता बंसीलाल पाटीदार निवासी मावता और सुखदेव पिता मांगीलाल गायरी निवासी मावता हैं। 
ये वारदात भी कबूली 
परमानंद से पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि 11 दिसंबर की वारदात के पहले भी इसी गैंग ने मिलकर जिले में दो अन्य वारदात को भी अन्जाम दिया था। इसमें 4 अगस्त 17 को मलेनी नदी के पुलिया के पास कार पंचर होने पर कार चालक व उसमें बैठी महिला के साथ मारपीट कर सोने-चांदी के जेवर और 28 हजार रुपए लूट लिए थे। घटना में फरियादी हाजी रमजान पठान ने नामली थाने पर शिकायत दर्ज करवाई थी। इसके अलावा 3 अक्टूबर 17 को पिपलौदा थाना अन्तर्गत बड़ायलामाताजी और नांदलेटा के बीच तीन बदमाशों ने मोटर साइकल खड़ी करके मुंह पर कपड़ा बांधकर माइक्रो फाइनेंस कर्मचारी कमल को लात मारकर गिराया था और फिर उससे मारपीट की। कमल का बैग छीनकर भाग निकले थे। पिपलौदा थाने पर कमल करण मालवीय ने प्रकरण दर्ज करवाया था। 

ये आरोपी पहले से थे गिरफ्त में 

पुलिस ने राधेश्याम पिता शंकरलाल मकवाना ग्राम बछोडिय़ा, संतोष उर्फ रामसिंह पिता दुलेसिंह तंवर निवासी हल्दूनी, संतोष पिता बद्रीलाल राठौर निवासी रणायरा, अशोक पिता भगवतीलाल कुमावत निवासी ग्राम मावता को पहले गिरफ्तार कर लिया था। इसी गैंग के राधे उर्फ राधेश्याम पिता गोवर्धन निवासी मावता और कान्हा उर्फ कन्हैयालाल निवासी मावता अब भी फरार हैं।