Home रतलाम रतलाम: पूर्व गृह मंत्री हिम्मत कोठारी ने अत्यन्त गरीब परिवारों को अपनी...

रतलाम: पूर्व गृह मंत्री हिम्मत कोठारी ने अत्यन्त गरीब परिवारों को अपनी और से पांच लाख रुपए की किराना खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने के लिए जिला प्रशासन के समक्ष रखा प्रस्ताव, कोठारी ने कहा- ऐसे परिवारों के यहां क्या छोटी-छोटी वस्तुओं की होम डिलेवरी हो रही?, सम्पन्न वर्ग से गरीब परिवारों की मदद के लिए आगे आने की अपील

रतलाम,7मई (खबरबाबा.काम)/ पूर्व गृह मंत्री हिम्मत कोठारी ने शहर के अत्यन्त गरीब परिवारों की चिंता करते हुए इन परिवारों को अपनी और से पांच लाख रुपए मूल्य की खाद्य किराना सामग्री उपलब्ध कराने का प्रस्ताव जिला प्रशासन के समक्ष रखा है। श्री कोठारी के अनुसार यहां ऐसे परिवार हैं जिनकी छोटी-छोटी जरूरत है और कम सामग्री के कारण क्या किराने की होम डिलीवरी भी इनके यहां हो पा रही है? श्री कोठारी ने समाज के संपन्न वर्ग के लोगों से भी ऐसे परिवारों की मदद के लिए आगे आने की अपील की है।

पूर्व ग्रह मंत्री श्री हिम्मत कोठारी ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में बताया कि रतलाम शहर में लॉकडाउन का एक महीना हों चुका है । रतलाम शहर में एक बहुत बड़ा वर्ग सीमित आय कमाने वाले है ,जो प्रतिदिन काम करके कमाता है और रोज खाता है । अनेक परिवार अपनी बहुत कम मासिक आय से ही अपने परिवार का भरण पोषण कर गुजारा कर रहा है। किन्तु लाकडाउन में सब कार्य बन्द है । रतलाम नगर में लगभग 2200 परिवार अत्यंत गरीब की श्रैणी में आते है । प्रदेश सरकार द्वारा इन्हें राशन कार्ड से कुछ खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाई जाती है, परन्तु इसके पश्चात भी वे अपने परिवार की आवश्यकताओं की पूर्ति नही कर पा रहे । लॉक डाउन के इस लम्बे समय मे अब गरिब वर्ग के पास न तो राशन बचा है और न धनराशि। ऐसे में निर्धन परिवार अपना भरण पोषण कैसे करेगा ?

श्री कोठारी ने कहा कि जिला प्रशासन ने कोरोना गाइड लाइन के तहत जो नियम बनाया है कि किराना व्यापारी घर-घर पर राशन की आपूर्ति करेगा, ऐसे में यह भी गौरतलब है कि क्या वह उस निर्धन तबके की सीमित खाद्य सामग्री की मांग की पूर्ति करेगा? क्योकि गरिब वर्ग बहुत कम मात्रा में किराना सामग्री खरीद पाता है , किराना व्यवसायीयो को भी इन परिवारों के यहाॅ होम डिलेवरी कर पाना संभव नही हो पा रहा है।

पूर्व मंत्री श्री कोठारी ने विज्ञप्ति में बताया कि कोठारी परिवार की और से इन बातों को ध्यान रखते हुए ऐसे परिवार ( अंत्योदय कार्डधारी के लगभग 2200 परिवार) उनके लिये खाद्य सामग्री के वितरण के लिए, जिला प्रशासन के समक्ष रुपयें पाचॅ लाख की किराना सामग्री देने का प्रस्ताव रखा गया था , जिससे वे इन परिवारों को खाद्य सामग्री वितरित कर सक।े परंतु जिला प्रशासन द्वारा खाद्वय सामग्री के वितरण के सबंध में अपनी व्यवहारिक परेशानिया बतायी गई है ।

श्री कोठारी ने कहा कि अंत्योदय कार्डधारी , गरीबी रेखा के कार्डधारी , एवं निर्धन पर्ची के परिवारों को दो समय का भोजन सामग्री मिल सके, इसके लिए हर समाज को आगे आना चाहिए । जिला प्रशासन द्वारा कोई योजना अगर बनाई जाती है तो कोठारी परिवार की ओर से रुपयें पाचॅ लाख की खाद्वय सामग्री उपलब्ध कराने को तैयार है एवं अगर जिला प्रसाशन पूरे जिले के लिये कोई योजना बनाते है तो यह राशि ओर बढ़ायी जा सकती है ।

साथ ही जिला प्रशासन से भी अनुरोध है कि वह समाज के संपन्न वर्ग से इस दिशा में सहयोग का आह्वान करे और धनराशि या खाद्य सामग्री का सहयोग लेकर, इन परिवारों को अपने विभाग के माध्यम से आवश्यक खाद्य सामग्री वितरण करवाए, ताकि निर्धन परिवारों की दो वक्त के भोजन की पूर्ति हो सके और कोरोना की इस महामारी से लड़ने में वह सक्षम बन सके।