Home रतलाम रतलाम में टू व्हीलर और फोर व्हीलर वाहनों के लिए बनेंगे यलो...

रतलाम में टू व्हीलर और फोर व्हीलर वाहनों के लिए बनेंगे यलो कार्ड, इसके बाद साथ में नहीं रखने होंगे वाहन के दस्तावेज। वाहन चलाने वाले नाबालिग बच्चो के पालको के खिलाफ पुलिस करेगी कार्रवाई। बैठक में कलेक्टर और एसपी ने दिए निर्देश

रतलाम 29 जनवरी(खबरबाबा.काम)। राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह आगामी 4 फरवरी से 10फरवरी तक मनाया जाएगा। इस सप्ताह के आयोजन के लिए आज एक बैठक में रूपरेखा तैयार की गई। कलेक्टर श्रीमती रूचिका चौहान की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में बताया गया कि सप्ताह के दौरान रतलाम शहर तथा इससे लगे हाईवे पर सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए पुख्ता प्रबंध किए जाएंगे।

बैठक में निगम आयुक्त श्री एस.के. सिंह, कार्यपालन यंत्री पीडब्ल्यूडी श्री जावेद शकील, सीएसपी श्री विवेक सिंह चौहान, सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर नानावरे, ट्रैफिक डीएसपी श्री विलास वाघमारे तथा अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए  पुलिस पीडब्ल्यूडी तथा एमपीआरडीसी विभागों द्वारा ठोस योजना तैयार की जाए। बताया गया कि सड़क सुरक्षा सप्ताह की थीम इस बार’’सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा’’ रखी गई है। इसके तहत हाईवे पर दुर्घटनाओं को रोकने के लिए आवश्यक स्थानों पर संकेतक की स्थापना सुनिश्चित की जाएगी। हाईवे पर दुर्घटना की स्थिति में हताहत व्यक्ति को फौरन चिकित्सा सुविधा मिले। इसके लिए नजदीकी प्राइवेट अस्पतालों एंबुलेंस तथा डॉक्टर को सूचीबद्ध किया जाएगा। पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी ने कहा कि दुर्घटना के तत्काल 1 घंटे में हताहत व्यक्ति को यदि चिकित्सा सुविधा मिल जाती है तो उसकी जान बचने की संभावना अधिक रहती है इसलिए इस प्रकार की सूची पुलिस कंट्रोल रूम पर रखी जाएगी ताकि नजदीक में चिकित्सा सुविधा मिल सके।

यलो कार्ड बनेगें

पुलिस अधीक्षक ने यह भी बताया कि रतलाम शहर में टू व्हीलर, फोर व्हीलर वाहनों के लिए ट्रैफिक थाने पर येलो कार्ड भी यातायात सप्ताह के दौरान बनाए जाएंगे। इसके लिए वाहन मालिक को अपने फोटो तथा आईडी एवं वाहन संबंधी दस्तावेज लाना होंगे। इनके आधार पर यातायात विभाग द्वारा येलो कार्ड बना कर दिया जाएगा। इसके बाद वाहन के साथ दस्तावेज रखने की आवश्यकता नहीं रहेगी। येलो कार्ड वाहन की बीमा अवधि तक मान्य रहेगा।

सप्ताह के दौरान यातायात विभाग द्वारा क्विज प्रतियोगिता भी शहर में विभिन्न स्थानों पर आयोजित की जाएगी। इसमें भाग लेने वालों को विभाग द्वारा सरप्राईज रूप से फ्री हेलमेट दिया जाएगा। इसके साथ ही एक और महत्वपूर्ण पहल की जा रही है, सप्ताह के दौरान वाहनों पर दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए थाना, चौकी परिसरों तथा मंडी परिसरों में वाहनों पर रेडियम पट्टी लगाई जाएगी जिससे अंधेरे में वाहन के साथ कोई दुर्घटना नहीं हो।

बैठक में कलेक्टर श्रीमती चौहान ने मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम के अधिकारी को निर्देश दिए कि जिले में सड़कों पर शार्प टर्न वाले अथवा ब्लैक स्पॉट चिन्हित जगहों पर दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए आवश्यक प्रबंध किए जाएं। वाहनों की विजिबिलिटी के लिए सड़कों के आस-पास दुर्घटना का अंदेशा करने वाले झाड़ पेड़ों की कटाई छटाई की जाए। कलेक्टर ने एमपीआरडीसी को ऐसे स्थानों के पूर्व छायाचित्र तथा कार्य के पश्चात के छायाचित्र भी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

पुलिस अधीक्षक द्वारा रतलाम शहर के संदर्भ में भी बताया गया कि स्टेशन रोड, दो बत्ती, सैलाना बस स्टैंड, मेहंदीपुर बालाजी मंदिर के सामने के उतार तथा अन्य स्थानों पर दुर्घटनाओं को रोकने के लिए आवश्यक योजना बनाई जाएगी। कलेक्टर द्वारा बैठक में उपस्थित जिला परिवहन अधिकारी को निर्देशित किया गया कि वाहनों में खासतौर पर स्कूल वाहनों में आवश्यक सुरक्षा प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं। स्कूल बस ऑन ड्यूटी, सीसीटीवी,बालिकाओं के लिए लेडी अटेंडेंट, रैश ड्राइविंग की स्थिति में शिकायत का नंबर आदि चस्पा हो। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शहर में स्कूलों के बच्चों को लाने ले जाने वाले मैजिक तथा ऑटो रिक्शा में बच्चों के बैठने की संख्या सख्ती से निर्धारित की जाएगी दुर्घटना को रोकने के लिए ऐसे ऑटो रिक्शाओं में ड्राइवर तथा पीछे सीटिंग हिस्से के राइट साइड में वेल्डिंग जाली लगवाई जाएगी। शहर में वाहन चलाने वाले नाबालिग बच्चों के पालकों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। साथ ही स्कूलों के प्राचार्य को भी इस संबंध में ताकीद की जाएगी कि उनके स्कूल का नाबालिक बच्चा वाहन नहीं चलाएं।

जिला परिवहन अधिकारी को भी निर्देशित किया गया कि वाहन लाइसेंस देने से पूर्व चालन टेस्ट अनिवार्य रूप से लिया जाए। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ट्रॉफिक नियमों के पालन, साइबर क्राइम आदि के संबंध में स्कूलों में वर्कशॉप भी आयोजित की जाएगी। बैठक में सड़क सुरक्षा सप्ताह के सातों दिवस विभाग द्वारा किए जाने वाले आयोजनों की बिंदुवार जानकारी भी दी गई।