Home रतलाम रतलाम मेडिकल कॉलेज में हेल्प डेस्क के माध्यम से मरीजों के...

रतलाम मेडिकल कॉलेज में हेल्प डेस्क के माध्यम से मरीजों के परिजनों को मरीजों की स्थिति की जानकारी दी जाएगी,कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सहयोग से ’सुरक्षा अभियान’ पर मीडिया के साथ वेबीनार आयोजित किया गया

रतलाम 14 अगस्त 2020/ कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सहयोग से सुरक्षा अभियान पर रतलाम में मीडिया के साथ वेबीनार आयोजित किया गया। कलेक्ट्रेट एनआईसी कक्ष से कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान द्वारा जूम एप के माध्यम से आयोजित वेबीनार में जिले के मीडियाजनों के साथ कोरोना संक्रमण से बचाव पर चर्चा करते हुए सहयोग से सुरक्षा अभियान की जानकारी मीडिया को दी गई। साथ ही कोरोना से बचाव के संबंध में जनजागरूकता एवं शासन के निर्देशों का पालन करने में सहयोग तथा अभियान में सहयोग के लिए मीडियाजनों से अपील की गई। एनआईसी कक्ष में इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप केरकेट्टा तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

वेबीनार में कलेक्टर श्रीमती चौहान ने मीडियाजनों से कहा कि आमजन के कोरोना संक्रमण से बचाव में आपकी सबसे महत्वपूर्ण भूमिका है। सुरक्षा और सावधानियां बरतने संबंधी जागरूकता के प्रसार में मीडिया अपनी अग्रगामी भूमिका का निर्वाह करें। उच्च जोखिम समूह तक जानकारियों को पहुंचाने में मदद करें, इसमें समाज के वरिष्ठजनों तक सावधानियों की बात पहुंचाए। समाज कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु मास्क का उपयोग करें और सोशल डिस्टेंसिंग रखें, अन्य सावधानियां बरतें। कलेक्टर ने कहा कि हमें आने वाले कम से कम 1 वर्ष तक अपनी आदतों में बदलाव को कायम रखना होगा। संक्रमण से बचाव के लिए समाज अपनी आदतों में बदलाव के साथ जिए, इस संबंध में मीडिया निरंतर लोगों को जागरूक करता रहे।

कलेक्टर ने मीडियाजनों से कहा कि मीडिया सबसे सशक्त माध्यम है इसलिए कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में शासन-प्रशासन को मीडियाजन सबसे ज्यादा सहयोग कर सकते हैं। इस लड़ाई में प्रशासन की भूमिका को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए भी मीडियाजन अपने सुझाव देवें। संक्रमित मरीजों की शीघ्र पहचान में भी अपना सहयोग प्रदान करें। वेबीनार में कलेक्टर ने कहा कि रतलाम मेडिकल कॉलेज में एक हेल्प डेस्क भी स्थापित की जा रही है जो मरीजों के परिजनों को मरीजों की स्थिति की जानकारी देने में सहायता करेगी। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना मरीजों के उपचार में प्लाज्मा थेरेपी का इस्तेमाल करने की योजना बनाई गई है। इस संबंध में स्वस्थ हो चुके, इच्छुक  व्यक्ति अपना प्लाज्मा देने के लिए संपर्क कर सकते हैं। उनका रतलाम में एंटीबॉडी टेस्ट किया जाकर इंदौर में प्लाज्मा सेपरेट कराया जाएगा।

वेबीनार में कलेक्टर ने सहयोग से सुरक्षा अभियान के मुख्य मुद्दों, समर्थक तत्वों एवं बाधाओं लक्षित समूह अभियान के उद्देश्य संबंधित विभागों एवं प्लेटफार्म की जानकारी दी। वेबीनार में मीडिया जनों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का समाधान भी कलेक्टर द्वारा किया गया।