Home रतलाम रतलाम: युवक की हत्या के मामले का पुलिस ने किया खुलासा, मां,...

रतलाम: युवक की हत्या के मामले का पुलिस ने किया खुलासा, मां, भाई, बहन और जीजा ही निकले आरोपी, जानिए अपनों ने ही क्यों ले ली जान

रतलाम,11जून2021/गुलाबशाह दरगाह के पास मथुरी रोड पर मंगलवार रात को हुई युवक की हत्या के मामले में मृतक का भाई, बहन, मां और जीजा ही आरोपी निकले। पुलिस ने मामले में संदेह होने पर सभी को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो पुरे मामले का खुलासा हो गया।

शुक्रवार को एसपी गौरव तिवारी ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि गुड्डु पिता अम्बाराम सिंगाड उम्र 32 साल निवासी ईश्वर नगर रतलाम जो गुलाब शाह दरगाह के आगे मथुरी रोड पर झोपडी बनाकर रहता था जिसकी मध्य रात्रि में किसी अज्ञात बदमाशों द्वारा धारदार हथियार व लाठी डण्डों से चोट पहुंचाकर उसकी हत्या कर दी ।

एसपी ने बताया कि उक्त मामले प्रथम दृष्ट्या घटना स्थल पर मृतक के शरीर के अवलोकन से हत्या के उद्देश्य का सही कारण पता लगाने में मुश्किल हो रही थी । टीम द्वारा सरगर्मी से आरोपीयों की तलाश करना प्रारम्भ किया एवं मुखबीर द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि मृतक गुड्डू का अपने भाई राजेन्द्र सिंगाड और अपने जीजा जितेन्द्र गरवाल, बहन संगीता गरवाल तथा मां अम्बूबाई सिंगाड से मथुरी रोड पर स्थित सरकारी कब्जे वाली जमीन को लेकर विवाद चल रहा था ।

उक्त जमीन को मृतक गुड्डु 08 लाख रुपये में बेचना चाह रहा था । जिसका आरोपीगण विरोध कर रहे थे । उक्त सूचना की तस्दीक करते मृतक के भाई, बहन, जीजा और मां से पुछताछ करते कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया एवं पुलिस को गुमराह करने का प्रयास कर रहे थे । जिसके बाद पुलिस द्वारा आरोपीयों से वैज्ञानिक साक्ष्यो के आधार पर सख्ती से पुछताछ करने पर आरोपीयों द्वारा आक्रामक कथन देने पर पुलिस की शंका और गहरी हो गयी बाद मे सख्ती से पूछताछ पर आरोपीओ द्वारा जुर्म करना स्वीकार किया गया ।

पुलिस द्वारा पुछताछ में आरोपियों ने बताया कि मृतक गुड्डु अपनी मां अम्बूबाई के कब्जे वाली सरकारी जमीन को बेचना चाह रहा था, जिसका उसके परिजन विरोध कर रहे थे । घटना की रात्रि में मृतक के छोटे भाई राजेन्द्र सिंगाड और उसके जीजा जितेन्द्र गरवाल के बीच जमीन बेचने की बात को लेकर बहस चल रही थी । जिस बहस ने झगडे का रुप लेकर चारों आरोपियों ने मिलकर मृतक गुड्डु की हत्या कर दी । जिसमें राजेन्द्र सिंगाड द्वारा कुल्हाडी के उल्टे सिरे और जितेन्द्र गरवाल ने पास पडे लोहे के सब्बल से पीटना शुरु कर दिया । उसके जमीन पर गिरने पर मृतक की बहन संगीता ने उसका गला दबाया जिससे उसकी मृत्यु हो गई और घटना में मृतक की मां के द्वारा साक्ष्य छिपाने की कोशिश करते हुए घटना में प्रयुक्त कुल्हाडी को नाले में छिपाया दिया । वही मामले में आरोपी जितेन्द्र गरवाल व अन्य आरोपी परिजनों के द्वारा पुलिस थाने में रिपोर्ट लिखाकर पुलिस को भ्रमित करने का पुर्ण रुप से प्रयास किया गया । जिसपर प्रकरण मे धारा 182,211,201 IPC का इजाफा किया गया है ।