Home रतलाम रतलाम: वीसी में सीएम ने कहा-रतलाम जिले में कोरोना नियंत्रण के लिए...

रतलाम: वीसी में सीएम ने कहा-रतलाम जिले में कोरोना नियंत्रण के लिए विशेष रणनीति बनाई जाएगी, जावरा विधायक डॉ. पांडे के आग्रह पर सीएम ने शीघ्र रतलाम आकर स्थिति की समीक्षा की बात कही,सीएम ने कलेक्टर और एसपी से भी चर्चा की, पढिए पूरी खबर

रतलाम,11मई(खबरबाबा.काम)/ कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण को लेकर रतलाम के लिए अलग से कार्य योजना बनाई जाएगी।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  स्वयं रतलाम आकर यहां की स्थिति की समीक्षा करेंगे। यह बात मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज वीसी के माध्यम से जिले में कोरोना की स्थिति की समीक्षा और जिला संकट प्रबंधन समूह से संवाद करते हुए कही।

मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की वीडियो कांफ्रेंसिंग बैठक में जिले के एकमात्र विधायक डॉ राजेन्द्र पांडेय पहुचे। उन्होंने मुख्यमंत्री को सुझाव दिए कि यहां रतलाम जिले के अलावा मंदसौर नीमच सहित आसपास के अन्य जिले के मरीजो का दबाव अधिक होने से कोरोना उपचार को लेकर विकट परिस्थिति निर्मित हुई है,जिसे कार्ययोजना बना कर नियंत्रण किया जाना आवश्यक है।आपने कहा कि ऐसी परिस्थितियों में आपका रतलाम आना उचित होगा,आपके आने से यहां सकारात्मक स्थिति बन सकती है,इस आग्रह को मुख्यमंत्री ने तुरंत स्वीकार करते हुए कहा कि वे आगामी दिन में शीघ्र ही रतलाम आकर स्वंय स्थिति को देखेंगे। विधायक डॉ पांडेय ने कहा कि जावरा सिविल हॉस्पिटल में 10 मरीजो से कोविड़ केयर सेंटर की शुरुआत की गई थी,जनसहयोग व विधायक निधि से संसाधन उपलब्ध कराए गए जिसके फलस्वरूप वर्तमान में 80 से अधिक मरीजो का उपचार किया जा रहा है।इसी तर्ज पर जिले के आलोट ,सैलाना ,बाजना, नामली आदि स्थानों पर कोविड़ केयर सेंटर बनाये जाए,जहां आक्सीजन बेड हो।ताकि मेडिकल कालेज का दबाव कम हो।आपने कहा कि मेडिकल कालेज में चिकित्सक -नर्स को मोटीवेशन की जरूरत है।  मुख्यमंत्री ने कहा कि चिकित्साकर्मियों को मोटिवेट करने के लिये भोपाल से चिकित्सको की टीम को भेजा जाएगा।डॉ पांडेय ने आग्रह किया कि रतलाम में विकट स्थिति के लिए अलग से रणनीति बनाई जाए, जिस पर मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि रतलाम के लिए अलग से कार्ययोजना बनाई जाए।

विधायक डॉक्टर पांडे ने मुख्यमंत्री से अधिक संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनों की मांग की। मुख्यमंत्री ने डॉ पांडेय के सुझाव को तुरंत स्वीकार करते हुए रतलाम जिले में 40 आक्सीजन कन्संट्रेटर भेजने के निर्देश दिए।जो दो दिन में रतलाम पहुच जायेगे।इसके अलावा रतलाम के लिए एक अलग रणनीति बनाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार शाम वीसी लेकर रतलाम जिले में कोरोना नियंत्रण की विशेष रूप से समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि रतलाम जिले में कोरोना नियंत्रण के लिए विशेष रणनीति के तहत कार्य किया जाएगा।इस संबंध में उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे शीघ्र ही रतलाम आ कर कोरोना की स्थिति की समीक्षा करेंगे।रतलाम एनआईसी कक्ष में इस अवसर पर जावरा विधायक डॉ राजेंद्र पांडे, राजेन्द्र सिंह लुनेरा,  मनोहर पोरवाल,  महेंद्र कटारिया ,कलेक्टर  कुमार पुरुषोत्तम, पुलिस अधीक्षक  गौरव तिवारी, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती मीनाक्षी सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े मेडिकल कॉलेज डीन डॉ जितेंद्र गुप्ता तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

वीसी में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि कोरोना नियंत्रण के लिए जनता का सहयोग लेते हुए परिश्रम के साथ अधिकारी कार्य कर स्थिति को नियंत्रण में लाएं ।इस दौरान मुख्यमंत्री ने विधायक डॉ राजेंद्र पांडे से चर्चा की ।

मुख्यमंत्री को कलेक्टर श्री कुमार पुरुषोत्तम द्वारा रतलाम जिले की वर्तमान कोरोना स्थिति से अवगत कराया गया। कलेक्टर ने बताया कि कोरोना नियंत्रण के लिए जिले में सख्ती से कदम उठाए जा रहे हैं ।जिसके परिणाम अति शीघ्र सकारात्मक रूप से सामने आएंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना का प्रसार रोकने के लिए कर्फ्यू जैसी सख्ती की गई है ।ग्रामीणों में अब जागरूकता भी आई है ।

जिले में ऑक्सीजन उपलब्धता भी अच्छी स्थिति में हैं। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि मेडिकल कॉलेज में बेड क्षमता बढ़ाई जाएं। जिससे वहां भर्ती के लिए आने वाले मरीज निराश होकर नहीं लौटे ।उन्हें वहां भर्ती होकर अच्छा उपचार मिले।कलेक्टर ने मुख्यमंत्री को बताया कि आगामी दो-तीन दिनों में मेडिकल कॉलेज में बेड क्षमता और बढ़ा दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिए कि आवश्यकता अनुसार जिले में छोटे कोविड केयर सेंटर भी विभिन्न स्थानों पर चालू किए जाएं।जिससे मरीजों को अतिरिक्त रूप से भर्ती होने की सुविधा मिल सके मुख्यमंत्री द्वारा पुलिस अधीक्षक  गौरव तिवारी से भी चर्चा की गई।