Home रतलाम रतलाम: सभी एसडीएम अपने क्षेत्र के होम आइसोलेट कोविड-मरीजों से वीडियो...

रतलाम: सभी एसडीएम अपने क्षेत्र के होम आइसोलेट कोविड-मरीजों से वीडियो कॉल द्वारा बात करेंगे,कलेक्टर श्री डाड ने समय सीमा पत्रों की बैठक में दिए निर्देश

रतलाम 29 सितम्बर 2020/ जिले के सभी एसडीएम उनके क्षेत्र में होम आइसोलेट कोविड-मरीजों से वीडियो कॉल द्वारा बात करें। इससे मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति और उनकी चिकित्सकीय देखभाल के संबंध में प्रशासन को जानकारी मिल सकेगी। एसडीएम अपने कॉविड कमांड कंट्रोल सेंटर पर जाकर मरीजों की सूची से रेंडम ले, किसी भी मरीज से चर्चा करें। यह निर्देश कलेक्टर श्री गोपालचंद्र डाड ने समय सीमा पत्रों की समीक्षा बैठक में दिए।

कलेक्टर ने जिले के आलोट, ताल, बाजना में कोविड-केयर सेंटर बनाने के लिए सभी एसडीएम से चर्चा की। आलोट एसडीएम ने बताया कि ताल में 25 बेड तैयार है। आलोट में 30 बेड का कोविड केयर सेंटर तैयार किए जा रहा है। जावरा एसडीएम ने बताया कि जावरा में पूर्व से तैयार कोविड-केयर सेंटर को अन्यत्र शिफ्ट किया जा रहा है। जावरा में 50 बेड का सेंटर रहेगा, अभी जावरा में 12 पेशेंट भर्ती हैं। कलेक्टर ने विगत अतिवृष्टि के दौरान जिले में जिन व्यक्तियों के मकान नष्ट हुए उनको मकान बनवाकर देने के निर्देश सभी एसडीएम को दिए। कलेक्टर ने कहा कि आरबीसी तथा शासन के अन्य मदों से संबंधित व्यक्तियों को सहायता दी जाकर उनके मकान तैयार करवाए जाएं।

कलेक्टर ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पात्रता पर्ची वितरण की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि विगत 6 माह  में जिन व्यक्तियों द्वारा राशन नहीं लिया गया है, उनका सत्यापन आगामी 7 अक्टूबर तक अनिवार्य रूप से किया जाए। सत्यापन पश्चात ऐसे व्यक्तियों को सूची से हटाया जाएगा। साथ ही आधार सीडिंग कार्य पूर्ण करने के निर्देश भी दिए। जिले में फसल कटाई प्रयोग के बारे में कलेक्टर द्वारा निर्देशित किया गया कि प्रयोगों के दौरान कृषि विभाग कर्मचारी तथा राजस्व विभाग के पटवारी गांव के व्यक्तियों को भी साथ रखें। मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि में जिन किसानों को पात्र पाया गया उनकी सूची का वाचन गांव की चौपाल पर करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिए गए।

बैठक में कलेक्टर द्वारा सीएम हेल्पलाइन में लंबित शिकायतों के निराकरण की समीक्षा की गई। कृषि विभाग की 116 शिकायतें बीमा राशि नहीं मिलने की पाई गई। अधिकारी ने बताया कि एक सप्ताह में बीमा राशि खातों में पहुंच जाएगी। समीक्षा में पाया गया कि नगर निगम की शिकायतों में कमी आई है। लोक स्वास्थ्य विभाग द्वारा भी बेहतर कार्य किया जा रहा है। स्कूल शिक्षा विभाग की शिकायतों में वृद्धि हुई है। ट्राइबल डिपार्टमेंट की भी 44 शिकायतें लंबित हैं। श्रम विभाग की शिकायतें कम नहीं हुई है। राजस्व विभाग की एल 1 स्तर पर 239 शिकायतें हैं। सभी एसडीएम को हर एक शिकायत चेक करने के निर्देश दिए गए।

कलेक्टर ने सभी कार्यालय प्रमुखों को निर्देशित किया कि अपने विभाग की राज्य स्तरीय रैंकिंग चेक करें। खाद्य विभाग को निर्देश दिए कि पात्रता पर्ची संबंधित व्यक्ति को घर जाकर सौपी जाएं, उसके बाद व्यक्ति से 181 पर कॉल करवाएं इससे संतुष्टिपूर्वक निराकरण होगा। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप केरकेट्टा, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, एसडीएम श्री अभिषेक गहलोत, श्री एम.एल. आर्य, डिप्टी कलेक्टर सुश्री शिरौली जैन, सुश्री कृतिका भीमावद, निगमायुक्त श्री सोमनाथ झारिया तथा जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।