Home मध्यप्रदेश रायशुमारी के दौरान हिम्मत कोठारी और चेतन्य काश्यप की गुप्त मंत्रणा...

रायशुमारी के दौरान हिम्मत कोठारी और चेतन्य काश्यप की गुप्त मंत्रणा ने शहर की राजनीति में मचाई खलबली, रतलाम की राजनीति में नए समीकरणों के उभरने के लगाए जाने लगे कयास,चर्चा को लेकर दोनों नेताओं के समर्थकों में भी कोतुहल

रतलाम,16अक्टूबर(खबरबाबा.काम)। मंगलवार को जिले की पांचों विधानसभा के लिए भाजपा द्वारा की गई रायशुमारी के अंतिम दौर में उस समय रतलाम की राजनीति में खलबली पैदा करने वाला नजारा देखने को मिला जब पार्टी के वरिष्ठ नेता हिम्मत कोठारी अंत समय पर रूद्र पैलेस पर आए और शहर विधायक चेतन्य कश्यप को एक कोने में ले जाकर दोनों ने आपस में गुप्त मंत्रणा की। दोनों नेताओं को इस तरह आपस में रायशुमारी करता देख पार्टी के नेता भी चकित रह गए। दोनों नेताओं की आपस में क्या चर्चा हुई यह तो सस्पेंस है, लेकिन राजनीतिक गलियारों में इस चर्चा के सभी अपने-अपने हिसाब से कयास लगा रहे हैं।

जिले की पांचों विधानसभा पर उम्मीदवारों के चयन के लिए रूद्र पैलेस में रायशुमारी की गई ।जिसमें दोपहर 3:15 से 4:15 बजे तक रतलाम शहर विधानसभा को लेकर पार्टी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं से रायशुमारी ली गई। शहर विधानसभा की रायशुमारी जब शुरू हुई तब पूर्व मंत्री एवं वित्त आयोग अध्यक्ष हिम्मत कोठारी एवं शहर विधायक और राज्य योजना आयोग उपाध्यक्ष चेतन्य काश्यप दोनों ही रूद्र पैलेस पर नहीं पहुंचे थे। दोनों नेता रायशुमारी के अंतिम दौर में दोपहर करीब 4 बजे 5 मिनट के अंतराल में रायशुमारी स्थल पर आए। सबसे पहले शहर विधायक चेतन्य कश्यप ने आकर पार्टी द्वारा भेजे गए नेताओं को बंद लिफाफे में अपनी ओर से तीन नाम दिए। इसके बाद हिम्मत कोठारी वहां पहुंचे और उन्होंने भी अपनी ओर से तीन नाम बंद लिफाफे में दिए।

हिम्मतजी ने अचानक चौकाया

दोनों नेताओं द्वारा बंद लिफाफे में नाम देने के बाद सभी उस समय चौक गए जब सभी के सामने हिम्मत कोठारी, शहर विधायक चेतन्य काश्यप को कक्ष के एक कोने में ले गए और उनसे चर्चा करना शुरू कर दी। दोनों नेताओं की आपस में लगभग 5 मिनट तक चर्चा हुई ।दोनों नेताओं को इस तरह चर्चा करते देख वहां मौजूद पार्टी के नेता भी चकित रह गए और मोबाइल में उन दोनों के फोटो लेने लगे। दोनों नेताओं के बीच आपस में क्या चर्चा हुई ,यह सभी के लिए सस्पेंस बना हुआ है। हिम्मत जी ने इस संबंध में पूछने पर सिर्फ इतना कहा कि हमारी व्यक्तिगत चर्चा हुई है और इतना जरूर कह सकता हूं कि जो भी होगा हमारी रायशुमारी के अनुसार ही होगा। वहीं शहर विधायक चेतन्य काश्यप ने मीडिया के सवाल के जवाब में सिर्फ इतना कहा कि हिम्मतजी हमारे वरिष्ठ है और हमारी चर्चा होती रहती है।

रतलाम की राजनीति में नए समीकरण के संकेत

बुधवार दिन भर हुई रायशुमारी में जहां सामान्य तौर पर सभी कुछ संपन्न हो गया, वहीं रायशुमारी के अंतिम समय में दोनों वरिष्ठ नेताओं की इस तरह गुप्त मंत्रणा ने रतलाम की राजनीति में खलबली मचा दी है । दोनों वरिष्ठ नेताओं की इस रायशुमारी के बाद रतलाम की राजनीति में नए समीकरणों के पैदा होने के कयास लगाए जाने लगे हैं। पार्टी के कार्यकर्ताओं एवं दोनों नेताओं के समर्थकों में भी इस गुप्त मंत्रणा को लेकर कोतुहल बना हुआ है। दोनों नेताओं की यह चर्चा रतलाम की राजनीति में क्या असर डालती है ,यहआने वाले समय में ही पता चल पाएगा।