Home रतलाम लाकडाउन: किराना सामान के होम डिलीवरी आर्डर का दुकानदार उत्तर तत्काल दें,नगर...

लाकडाउन: किराना सामान के होम डिलीवरी आर्डर का दुकानदार उत्तर तत्काल दें,नगर में किराना सामग्री की सुचारू आपूर्ति हेतु कलेक्टर ने बैठक ली

रतलाम 16 अप्रैल 2020/ लॉक डाउन के दौरान किराना सामग्री की होम डिलीवरी ऑर्डर उपभोक्ता द्वारा दिए जाने पर दुकानदार तत्काल व्हाट्सएप पर उत्तर देवें। उपभोक्ता को यह मालूम पड़ जाए कि उसका आर्डर दुकानदार द्वारा देख लिया गया है। इसके साथ ही 24 घंटे में सामान की होम डिलीवरी सुनिश्चित की जाए। यह निर्देश कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान द्वारा एक बैठक में दिए गए पुराने पुलिस कंट्रोल रूम पर आयोजित इस बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, थोक व्यापारी एसोसिएशन अध्यक्ष श्री मनोज झालानी तथा विभिन्न विभागों के अधिकारियों सहित अन्य व्यापारी भी उपस्थित थे।

बैठक में उपभोक्ताओं से भी आग्रह किया गया कि वह दुकानदार को सामग्री आर्डर व्हाट्सएप पर भेजते समय अनावश्यक सामग्री आदेश नहीं करें जो घर के लिए आवश्यक सामग्री है वही आर्डर करें। इसके साथ ही अपने घर के समीपस्थ दुकानदार को ही किराना सामग्री आर्डर करें ताकि व्यापारी को आपका सामान आपके घर पहुंचाने में कम से कम समय लगे, असुविधा नहीं हो। बैठक में तय किया गया कि दुकानदारों का होम डिलीवरी क्षेत्र भी निर्धारित किया जाएगा। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने निर्देशित किया कि सोशल डिस्टेंसिंग का दुकानदार पालन सुनिश्चित करें। मंडी सचिव द्वारा मंडी में कार्य करने वाले ऑपरेटर्स तथा सिक्योरिटी गार्ड की आवागमन के संबंध में जानकारी देने पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि गांव से आने वाले ऑपरेटर और सिक्योरिटी गार्ड का आवागमन बगैर बाधा के सुनिश्चित किया जाएगा।

कलेक्टर द्वारा बैठक में कृषि सेवा दुकानों को खोले जाने संबंधी अनुमति पर चर्चा करते हुए कहा गया कि दुकानों का रोस्टर बनाकर बारी-बारी से खुलने की अनुमति दी जाएगी। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि खाद्य एवं औषधि प्रशासन तथा अन्य विभागों का संयुक्त दल पूर्व की तरह मेडिकल स्टोर्स तथा अन्य दुकानों के निरीक्षण करते रहें। कलेक्टर ने जिला उद्योग विभाग को भी निर्देशित किया कि जिन उद्योगों में मजदूर, कर्मचारी तथा अन्य व्यक्तियों का बाहर आवागमन नहीं होता है, उन उद्योग यूनिट को चालू करने की संभावना की जानकारी देवें। विभिन्न औद्योगिक संस्थानों को पास दिए जाने के संबंध में कलेक्टर द्वारा महाप्रबंधक उद्योग तथा एसडीएम को अधिकृत करते हुए निर्देशित किया कि पास का प्रारूप पुलिस विभाग को उपलब्ध कराया जाए।

(फाइल फोटो)